भारत के साथ रियल टाइम खुफिया जानकारी साझा करेंगे सऊदी युवराज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 22, 2019   11:08
भारत के साथ रियल टाइम खुफिया जानकारी साझा करेंगे सऊदी युवराज

एक संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों देशों ने सभी देशों को अन्य देशों के खिलाफ आतंकवाद के इस्तेमाल को खारिज करने और आतंकवाद के आधारभूत ढांचे को नष्ट करने के साथ-साथ आतंकवादियों को किसी भी जरिये से आर्थिक मदद नहीं मिलने को सुनिश्चित करने कहा।

नयी दिल्ली। भारत के समक्ष मौजूद आतंकवाद के खतरे पर व्यापक समझ प्रदर्शित करते हुए सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वार्ता के दौरान दोनों देशों के बीच खुफिया जानकारी ‘रियल टाइम’ पर साझा करने का प्रस्ताव दिया है। सरकारी सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। दोनों नेताओं के बीच बुधवार को हुई वार्ता के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) स्तरीय व्यापक सुरक्षा संवाद स्थापित करने और आतंकवाद के खिलाफ अलग से एक संयुक्त कार्य समूह बनाने पर सहमति बनी।

इसे भी पढ़ें: मोदी सियोल में राष्ट्रीय समाधि स्थल गए, सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की

सूत्रों ने कहा कि युवराज ने खास तौर पर खुफिया और जटिल जानकारी पर अपने देश की क्षमताओं का जिक्र किया और इस बारे में बात की कि कैसे दोनों देश रियल टाइम पर खुफिया जानकारी साझा करने की दिशा में साथ मिल कर काम कर सकते हैं। बुधवार को एक संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों देशों ने सभी देशों को अन्य देशों के खिलाफ आतंकवाद के इस्तेमाल को खारिज करने और आतंकवाद के आधारभूत ढांचे को नष्ट करने के साथ-साथ आतंकवादियों को किसी भी जरिये से आर्थिक मदद नहीं मिलने को सुनिश्चित करने कहा। हालांकि, इसमें पाकिस्तान या पाकिस्तान स्थित आतंकी समूहों का कोई जिक्र नहीं था। एक सूत्र ने कहा कि युवराज ने यह माना कि आतंकवाद के साझा खतरे को ध्यान में रखते हुए यह बेहद जरूरी है कि दोनों देशों में रक्षा सहयोग बढ़ाने के लिये करीबी सहयोग हो।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।