सिद्धरमैया का दावा, भाजपा नहीं चाहती थी कि पुडुचेरी में कांग्रेस सरकार रहे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 22, 2021   18:46
सिद्धरमैया का दावा, भाजपा नहीं चाहती थी कि पुडुचेरी में कांग्रेस सरकार रहे

अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले नारायणसामी ने उपराज्यपाल तमिलीसाई सुंदरराजन से मुलाकात की और अपनी चार सदस्यीय कैबिनेट का इस्तीफा सौंप दिया।

बेंगलुरू। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने सोमवार को आरोप लगाया कि भाजपा नहीं चाहती थी कि पुडुचेरी में जब विधानसभा चुनाव होने वाले हैं तो ऐसे में वहां कांग्रेस नीत वी नारायणसामी की सरकार रहे। वह केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा में विश्वास मत से पहले आज नारायणसामी की सरकार गिरने पर प्रतिक्रिया जता रहे थे। पुडुचेरी में कांग्रेस विधायकों और द्रमुक के एक विधायक द्वारा हाल में दिए गए इस्तीफों के कारण गठबंधन की सरकार अल्पमत में आ गई थी। 

इसे भी पढ़ें: अशोक गहलोत का भाजपा पर निशाना, कहा- सत्ता के लिये किसी भी हद तक जा सकती है पार्टी

मेंगलुरू में संवाददाताओं से बात करते हुए सिद्धरमैया ने आरोप लगाए कि कांग्रेसविधायकों को खरीदा गया और चुनाव का सामना करने के बजाए उनसे इस्तीफा दिलवाया गया। सिद्धरमैया ने कहा, ‘‘अब नारायणसामी मुख्यमंत्री हैं। लक्ष्य उनको हटाने का है ताकि उनके सत्ता में रहते चुनाव नहीं हो सके। यह चीजों को करने का अलोकतांत्रिक तरीका है।’’ अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले नारायणसामी ने उपराज्यपाल तमिलीसाई सुंदरराजन से मुलाकात की और अपनी चार सदस्यीय कैबिनेट का इस्तीफा सौंप दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।