उत्तर प्रदेश के पहले हाईटेक थाने गोरखनाथ का एसएसपी ने रखी आधारशिला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 24, 2021   18:44
उत्तर प्रदेश के पहले हाईटेक थाने गोरखनाथ का एसएसपी ने रखी आधारशिला

मीडिया से बात करते हुए एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने कहा कि यह थाना काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि मुख्यमंत्री आवास के करीब का थाना है जो जर्जर अवस्था में हो गया था इससे तोड़कर बहु मंजिला भवन का निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया है।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के पास ही स्थित गोरखनाथ थाना जर्जर हो गया था। जिसे तोड़ कर नए बहुमंजिला भवन निर्माण के लिए आज एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने पूरे विधि विधान के साथ भूमि पूजन किये और नए थाने की आधारशिला रखी। मीडिया से बात करते हुए एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने कहा कि यह थाना काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि मुख्यमंत्री आवास के करीब का थाना है जो जर्जर अवस्था में हो गया था इससे तोड़कर बहु मंजिला भवन का निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया है। यह भवन 5 मंजिला बनाया जाएगा जो पूरी जो सभी सुख सुविधाओं से लैस रहेगा।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष ने सभी जिला अध्यक्षों के साथ की बैठक

इस भवन में लिफ्ट भी लगाई जाएगी उप निरीक्षको के लिए आवास की व्यवस्था रहेगी फिलहाल अभी फैमिली कोर्ट में थाने को शिफ्ट कराया गया है। जल्दी ही नया भवन बनकर तैयार हो जाएगा। भूमि पूजन के दौरान गोरखनाथ मंदिर के महंत कमलनाथ कालीबाड़ी के महंत रविंद्र दास गोरखनाथ मंदिर के द्वारिका तिवारी एसपी सिटी सोनम कुमार क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ रत्नेश सिंह क्षेत्राधिकारी कैंट राहुल भाटी गोरखनाथ थाना प्रभारी रामाज्ञा सिंह अजय सिंह समेत अन्य लोग उपस्थित रहे। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश का यह पहला बहुमंजिला थाना होगा जो पूरी तरीके से एयर कंडीशन होगा पांच मंजिलें भवन में लिफ्ट की सुविधा उपलब्ध रहेगी पुलिस के जवानों व उप निरीक्षक  के रहने की भी उचित व्यवस्था होगी जो तकरीबन 21 करोड़ की लागत से बनकर तैयार होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।