जम्मू-कश्मीर में आमजनों को निशाना बना रहे आतंकवादी, 2 लोगों की गोली मारकर की हत्या

जम्मू-कश्मीर में आमजनों को निशाना बना रहे आतंकवादी, 2 लोगों की गोली मारकर की हत्या

प्राप्त जानकारी के मुताबिक अरविंद कुमार शाह श्रीनगर में गोल गप्पे बेचने का काम किया करता था लेकिन शनिवार को आतंकवादियों ने सिर पर गोली मार दी। जिसमें वो बुरी तरह से जख्मी हो गया और उसे तुरंत ही उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने अरविंद कुमार साह को मृत घोषित कर दिया।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और पुलवामा से गोलीबारी की खबरें सामने आ रही हैं। आपको बता दें कि आतंकवादियों ने एक बार फिर से आम नागरिकों पर गोलीबारी की है। दरअसल, श्रीनगर के ईदगाह इलाके में आतंकवादियों ने एक व्यक्ति को गोली मार दी। मृतक का नाम अरविंद कुमार साह बताया जा रहा है और वो बिहार का रहने वाला है। 

इसे भी पढ़ें: मोहन भागवत ने कश्मीरी पंडितों की घर वापसी पर जताई चिंता और 370 का भी किया जिक्र, बोले- पहले भेदभाव होता था 

आतंकियों ने की गोल गप्पे वाले की हत्या

प्राप्त जानकारी के मुताबिक अरविंद कुमार शाह श्रीनगर में गोल गप्पे बेचने का काम किया करता था लेकिन शनिवार को आतंकवादियों ने सिर पर गोली मार दी। जिसमें वो बुरी तरह से जख्मी हो गया और उसे तुरंत ही उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने अरविंद कुमार साह को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने इलाके को घेरा

कश्मीर जोन पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक श्रीनगर के अलावा पुलवामा में भी आतंकवादियों ने एक व्यक्ति को निशाना बनाया है। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों की गोलीबारी में उत्तर प्रदेश के सगीर अहमद की मौत हो गई। जिसके बाद पुलिस ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया।

इसे भी पढ़ें: CWC में 3 प्रस्ताव हुए पारित, कांग्रेस ने चीन, मादक पदार्थ, जम्मू-कश्मीर मुद्दे को लेकर मोदी सरकार को घेरा 

पिछले दो हफ्तों में आतंकवादियों ने 9 आम नागरिकों को निशाना बनाकर उनकी हत्या की है। पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि श्रीनगर में आज आतंकी हमले में स्ट्रीट वेंडर अरविंद कुमार की हत्या की कड़ी निंदा करता हूं। यह एक नागरिक को निशाना बनाए जाने का एक और मामला है। अरविंद कुमार कमाई के अवसरों की तलाश में श्रीनगर आए थे और उनकी हत्या कर दी गई। यह घोर निंदनीय है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।