घुटना तोड़ राजनीति में आया उफान, दिग्गी राजा के लिए रामेश्वर शर्मा ने किया स्वागत द्वार तैयार

घुटना तोड़ राजनीति में आया उफान, दिग्गी राजा के लिए रामेश्वर शर्मा ने किया स्वागत द्वार तैयार

रामेश्वर शर्मा ने बयान में कहा था कि कांग्रेसी आए तो घुटने तोड़ देंगे। इस पर दिग्विजय सिंह ने चैलेंज किया था मैं घर आऊंगा, मेरे घुटने तोड़ दें। जिसके बाद रामेश्वर शर्मा अचानक बैकफुट पर आते दिख रहे हैं।

भोपाल। राजधानी भोपाल में बीजेपी और कांग्रेस की 'घुटना तोड़ राजनीति' में उफान आ गया है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बीजेपी विधायक रामेश्वर के निवास पर 24 नवंबर को 1 घंटे रामधुन करने के ऐलान किया था। जिसके बाद विधायक रामेश्वर शर्मा ने मालवीय नगर स्थित अपने निवास युवा सदन पर स्वागत द्वार तैयार कराया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें:अस्पताल बना लड़ाई का अखाड़ा, वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर वायरल 

आपको बता दें कि इस पर रामधुन के साथ ही भगवान राम के चित्र के साथ जय श्री राम लिखा है। परसिर में करीब 1 हजार लोगों के बैठने के लिए टेंट लगाया जा रहा है। इसके साथ ही प्रसाद में बांटने के लिए पुड़ी, सब्जी और हलवा बांटने की तैयारी है।

दरअसल रामेश्वर शर्मा ने बयान में कहा था कि कांग्रेसी आए तो घुटने तोड़ देंगे। इस पर दिग्विजय सिंह ने चैलेंज किया था मैं घर आऊंगा, मेरे घुटने तोड़ दें। जिसके बाद रामेश्वर शर्मा अचानक बैकफुट पर आते दिख रहे हैं। उन्होंने दिग्विजय सिंह के बयान के बाद उनके आगमन पर स्वागत सत्कार की तैयारी कर ली है।

इसे भी पढ़ें:कोर्ट ले जाते वक्त हुई एक युवक की मौत, पुलिस कर रही है जांच 

बताया जा रहा है कि विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि रामधुन की तैयारी कर रहे है। भगवान राम के नाम की जय जय कार हो और रामधुन हो इससे बड़ा आनंद और खुशी का पल हमारी जिंदगी के लिए नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि जो जिंदगी भर भगवान राम का विरोध करते रहे है। भगवान राम को काल्पनिक बताते रहे। जो भगवान राम मंदिर का विरोध करते रहे। आज यदि वह रामभक्ति के लिए रामधुन करने आ रहे है। इससे बड़ा आनंद और खुशी का पल कुछ नहीं हो सकता।हम उनके स्वागत और रामधुन की व्यापक तैयारी में जुटे हुए है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...