फायरिंग में 13 लोगों की मौत से नागालैंड में बवाल, भड़के लोगों ने की आगजनी और तोड़फोड़, SIT जांच के आदेश

फायरिंग में 13 लोगों की मौत से नागालैंड में बवाल, भड़के लोगों ने की आगजनी और तोड़फोड़, SIT जांच के आदेश

बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि उस जगह पर उग्रवादी संगठन के लोग हो सकते हैं और किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। इसी के मद्देनजर सुरक्षा बल ऑपरेशन प्लान कर रहे थे।

नागालैंड से एक बड़ी घटना सामने आ रही है। शनिवार शाम यहां फायरिंग की हैरतअंगेज घटना हुई। बताया जा रहा है कि इस फायरिंग की घटना में 13 नागरिकों की जान चली गई है। हालांकि मृतकों का आंकड़ा बढ़ भी सकता है और घट भी सकता है। इस घटना के बाद पूर्वोत्तर राज्य में बवाल मच गया है। लोग भड़क गए हैं। लोगों ने इस घटना के बाद आगजनी और तोड़फोड़ की है। यह घटना नागालैंड के मोन जिले के ओटिंग की है। गुस्साए लोगों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों में भी आग लगा दी है। आपको बता दें कि नागालैंड का ओटिंग म्यांमार से सटे बॉर्डर पर पड़ता है।

घटना के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है। सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गई है। घटना के बाद मुख्यमंत्री ने नेफियू रियो ने शांति की अपील की है। घटना को मुख्यमंत्री ने दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इसकी उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी और देश के कानून के अनुसार न्याय होगा। जानकारी यह भी है कि इस घटना में एक जवान की भी मौत हो गई है। दूसरी और गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर संवेदना व्यक्त की है। अमित शाह ने कहा कि नागालैंड के ओटिंग में दुर्भाग्यपूर्ण घटना से व्यथित हूं। घटना में जिन्होंने अपनी जान गंवाई मैं उनके परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय SIT शोक संतप्त परिवारों को न्याय सुनिश्चित करने के लिए इस घटना की गहन जांच करेगी। बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि उस जगह पर उग्रवादी संगठन के लोग हो सकते हैं और किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। इसी के मद्देनजर सुरक्षा बल ऑपरेशन प्लान कर रहे थे। इसी दौरान एक गाड़ी वहां से गुजरी। सुरक्षाबलों ने उस गाड़ी को रुकवाने की कोशिश की। लेकिन वह गाड़ी नहीं रुकी जिसके बाद सुरक्षाबलों ने फायरिंग कर दी। बाद में पता चला कि यह कोई उग्रवादी नहीं बल्कि वहां के आम नागरिक है। इस घटना के बाद वहां बवाल मच गया। ग्रामीण गुस्सा से भड़क गए हैं। स्थिति को नियंत्रित करने की लगातार कोशिश की जा रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।