• कच्छ के एक गांव में महिलाओं के मुद्दों के लिए होगी बालिका पंचायत, कराए जा रहे चुनाव

अंकित सिंह Jul 19, 2021 15:44

मुकाबला अब 4 लोगों के बीच में है। पहली हैं भारती गरवा जो कि 20 वर्ष की है दूसरी रुबीना नोड है। इनकी उम्र 19 साल है। रूशाली सुथार 20 की हैं जबकि अफसाना सुमरा 17 वर्ष की है।

लोकप्रिय टेली सोप 'बालिका वधू' से प्रेरणा लेते हुए, कच्छ की एक गांव बालिका पंचायत करने का फैसला लिया गया है। इस कदम का उदेश्य गांव की महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में काम करना है। इसके तहत महिलाओं के मुद्दों का समाधान किया जाएगा वह भी लड़कियों के लिए, लड़कियों द्वारा, लड़कियों का शासन! भुज में जिला मुख्यालय से लगभग 18 किमी दूर कुनरिया गांव है जिसकी आबादी लगभग 4,000 के आसपास है। गांव की 10 से 21 साल की युवा महिलाएं चुनाव लड़ेंगी। 

इसे भी पढ़ें: दुनियाभर में प्रसिद्ध होने के बावजूद आखिर क्यों होता है ओलम्पिक खेलों का विरोध ?

 

यह केवल लड़कियों का भी परिषद होगा जो कि सामान्य परिषद की ही तरह चलेगा। लेकिन लड़कियों का परिषद केवल लड़कियों और महिलाओं से संबंधित मुद्दों का ही समाधान करेगी। इसके लिए चुनाव भी हो रहे हैं जिसमें सरपंच पद के लिए चुनावी मैदान में 8 उम्मीदवार थे जिनमें से चार ने अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तरकाशी में बादल फटने से एक परिवार के तीन लोगों की मौत, लापता व्यक्ति को ढूंढने में जुटी SDRF

मुकाबला अब 4 लोगों के बीच में है। पहली हैं भारती गरवा जो कि 20 वर्ष की है दूसरी रुबीना नोड है। इनकी उम्र 19 साल है। रूशाली सुथार 20 की हैं जबकि अफसाना सुमरा 17 वर्ष की है। यह सभी गांव के लोगों को अपने पक्ष में वोट देने के लिए प्रेरित कर रही हैं। गांव के सरपंच सुरेश छंगा ने कहा कि चुनी हुई लड़कियां उन योजनाओं को लागू करेंगी जो गांव में लड़कियों और महिलाओं के मुद्दों को संबोधित करेंगी। उन्होंने कहा कि इसका उदेश्य भविष्य में महिला नेताओं को तैयार करना भी है।