त्रिपुरा-बांग्लादेश जलमार्ग पर सितंबर में परीक्षण के तौर पर होगा पहला परिचालन: बिप्लब कुमार देब

Biplab Kumar Deb
मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कहा कि परीक्षण के तौर पर इस मार्ग पर सितंबर, 2020 के पहले सप्ताह में परिचालन किया जाएगा। इस दौरान मालवाहक नौकाओं से 50 एम टी सीमेंट ढाका से सोनामुरा लाया जाएगा।

अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कहा कि त्रिपुरा को बांग्लादेश से जोड़ने वाले सोनामुरा-दाउदकांडी जलमार्ग पर सितंबर में परीक्षण के तौर पर पहला परिचालन किया जाएगा। इस साल मई में भारत-बांग्लादेश प्रोटोकॉल (आईबीपी) मार्गों की सूची में 93 किलोमीटर लंबे सोनामुरा-दाउदकांडी जलमार्ग को शामिल किया गया था। देब ने फेसबुक पर एक पोस्ट में बताया, ‘‘परीक्षण के तौर पर इस मार्ग पर सितंबर, 2020 के पहले सप्ताह में परिचालन किया जाएगा। इस दौरान मालवाहक नौकाओं से 50 एम टी सीमेंट ढाका से सोनामुरा लाया जाएगा। ऐसा इतिहास में पहली बार होगा जब किसी भी तरह का माल त्रिपुरा में जहाज से पहुंचेगा।’’ 

इसे भी पढ़ें: जीवन में एक बार जरूर देखें नॉर्थ ईस्ट की यह रोमांचक जगह! 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बांग्लादेश जलमार्ग यातायात प्राधिकरण ने बांग्लादेश में कोमिला जिले के दाउदकांडी से त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले के सोनामुरा तक परीक्षण आवाजाही की मंजूरी दे दी है। गोमती नदी के रास्ते यह स्थान अगरतला से 60 किलोमीटर की दूरी पर है। त्रिपुरा ने भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय जलमार्ग संपर्क परियोजना के तहत चार जुलाई को गोमती नदी में एक तैरने वाली जेट्टी को उतारा था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़