शिवाजी महाराज पर टिप्पणी को लेकर उद्धव ने महाराष्ट्र के राज्यपाल को हटाने की मांग की

Uddhav
प्रतिरूप फोटो
ANI
ठाकरे ने यह चेतावनी भी दी कि अगर अगले कुछ दिनों में मांग पर कोई फैसला नहीं किया गया तो उनकी पार्टी राज्यव्यापी बंद की योजना बना सकती है। पिछले सप्ताह औरंगाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में कोश्यारी ने कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज पुराने दिनों के आदर्श थे।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना के एक धड़े के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने छत्रपति शिवाजी महाराज पर टिप्पणी को लेकर बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को हटाने की मांग की और राज्य के राजनीतिक दलों से उनके खिलाफ एक एकजुट होने का आग्रह किया। ठाकरे ने यह चेतावनी भी दी कि अगर अगले कुछ दिनों में मांग पर कोई फैसला नहीं किया गया तो उनकी पार्टी राज्यव्यापी बंद की योजना बना सकती है। पिछले सप्ताह औरंगाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में कोश्यारी ने कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज पुराने दिनों के आदर्श थे।

ठाकरे ने यहां पत्रकारों से कहा, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी लगातार राज्य के आदर्शों का अपमान कर रहे हैं। मैं विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों से उनके खिलाफ एकजुट होने और राज्यपाल को वापस बुलाने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाने की अपील करता हूं। शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के प्रमुख ने कहा, मैं तीन से पांच दिन तक इंतजार करूंगा। इस अवधि के दौरान, मैं उनके खिलाफ एकजुट होने के लिए राज्य के विभिन्न राजनीतिक दलों से संपर्क करूंगा। मैं कोश्यारी के खिलाफ शांतिपूर्ण राज्यव्यापी बंद करने के बारे में सोच रहा हूं।

ठाकरे की यह टिप्पणी मुद्दे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार द्वारा की गई इस टिप्पणी के बाद आई है कि राज्यपाल ने सारी हदें पार कर दी हैं। कोश्यारी को केंद्र सरकार द्वारा भेजा गया अमेज़ॅन पार्सल करार देते हुए, ठाकरे ने कहा, हम यहां महाराष्ट्र में यह पार्सल नहीं चाहते हैं। चूंकि हम इसे नहीं चाहते हैं, इसलिए आपको (केंद्र) इसे वापस लेना चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़