जमीनी विवाद को लेकर बढ़ा विवाद, चाचा-भतीजा को गोली मारकर की हत्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2022   16:16
जमीनी विवाद को लेकर बढ़ा विवाद, चाचा-भतीजा को गोली मारकर की हत्या
Prabhasakshi

मुजफ्फरनगर में चाचा-भतीजा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसमें तीन लोग घायल हो गए। पुलिस के अनुसार शनिवार को जानसठ थाना क्षेत्र के अहरोडा गांव में दो गुटों के बीच जमीनी विवाद में हुई झड़प में शिव शंकर (50) व उसके भतीजे नकुल (28) की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।

मुजफ्फरनगर (उप्र)। मुजफ्फरनगर जिले के जानसठ थाना क्षेत्र के अहरोडा गांव में एक विवाद के चलते शनिवार को चाचा-भतीजा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस हमले में तीन अन्य घायल हो गये हैं। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार शनिवार को जानसठ थाना क्षेत्र के अहरोडा गांव में दो गुटों के बीच जमीनी विवाद में हुई झड़प में शिव शंकर (50) व उसके भतीजे नकुल (28) की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। इस विवाद में गोली लगने से पीड़ित पक्ष के ही तीन अन्य घायल हो गये हैं जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इसे भी पढ़ें: महज 30 साल की उम्र में 47 बच्चों का पिता बन चुका है यह शख्स, लेकिन महिलाएं नहीं करती डेट

पुलिस क्षेत्राधिकारी शकील अहमद ने पीटीआई- को बताया कि इस सिलसिले में दो लोगों जगेश कुमार और उसके बेटे सोनू को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक लाइसेंसी बंदूक और एक पिस्टल बरामद की गई है। पुलिस के अनुसार खेत की मेड़ से एक पेड़ काटने को लेकर हुए विवाद में जगेश और उसके बेटे सोनू ने इस घटना को अंजाम दिया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और अपराध में प्रयुक्त हथियार बरामद किए। सीओ ने कहा कि झड़प के दौरान हथियारों और लाठियों का इस्तेमाल किया गया। अहमद ने बताया कि गांव में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और अतिरिक्त पुलिस तैनात की गई है। चार दिनों के भीतर थाना जानसठ क्षेत्र में दोहरे हत्याकांड की यह दूसरी घटना है। इसके पहले 26 अप्रैल को जानसठ थाना क्षेत्र के खलवाडा गांव में हरपाल (50) और उसकी पत्नी कोशल (48) की ई-रिक्शा से खींचकर हत्या कर दी गई थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।