शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने हिमुडा लैंड पूलिंग नीति की समीक्षा की

शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुरेश भारद्वाज   ने हिमुडा लैंड पूलिंग नीति की समीक्षा की

हिमुडा के अधिकारियों ने उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा के नेतृत्व में शहरी एवं आवास मंत्री को सिफारिशों वाली एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की और इस पर गहनता से विचार-विमर्श किया गया। शहरी विकास मंत्री के निर्देशों पर प्राधिकरण की स्थिति में सुधार के तरीके सुझाने के लिए हिमुडा के अधिकारियों की एक समिति बनाई गई थी।

 शिमला    शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज यहां हिमुडा के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्राधिकरण के कार्य और वित्तीय स्थिति में सुधार की समीक्षा की।

उन्होंने अधिकारियों को सभी सम्बन्धित कार्यों को समयबद्ध पूरा करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास में हिमुडा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और प्रदेश सरकार इसके कार्यों को गति प्रदान के लिए प्रयासरत है। हिमुडा के अधिकारियों ने उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा के नेतृत्व में शहरी एवं आवास मंत्री को सिफारिशों वाली एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की और इस पर गहनता से विचार-विमर्श किया गया। शहरी विकास मंत्री के निर्देशों पर प्राधिकरण की स्थिति में सुधार के तरीके सुझाने के लिए हिमुडा के अधिकारियों की एक समिति बनाई गई थी।

 

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल ने प्राकृतिक खेती के उत्पादों की सर्टिफिकेशन कर अलग पहचान दिलाने पर बल दिया

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि हिमुडा लैंड पूलिंग नीति अपनाने पर विचार कर रहा है। हिमुडा ने राज्य में विभिन्न स्थानों पर 156 करोड़ रुपये से 1731 बीघा भूमि खरीदी है और अब अधिक भूमि खरीदने के बजाय, राजस्व जुटाने की दिशा में कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित नीति के अनुसार हिमुडा, इच्छुक निजी भूमि मालिकों की भूमि का अधिग्रहण किए बिना उनकी भूमि को विकसित कर उसका विपणन करेगी। उन्होंने कहा कि शिमला, सोलन, धर्मशाला जैसे निकटतम प्रसिद्ध स्थानों की ब्रांड वैल्यू को बढ़ाने के लिए हिमुडा द्वारा विभिन्न स्थानों पर काॅलोनियां प्रस्तावित की हैं। उन्होंने अधिकारियों से और अधिक दक्षता के साथ कार्य करने का भी आग्रह किया।

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल ने 31वीं सब जूनियर खो-खो प्रतियोगिता का किया शुभारंभ --खेल को खेल भावना के साथ खेलें खिलाड़ीः राज्यपाल

उन्होंने कहा कि हिमुडा को विशेष रूप से शिमला से सम्बन्धित विभिन्न कार्य सौंपे गये हैं और इन्हें समयबद्ध पूर्ण करने के लिए एक उचित कार्य प्रणाली विकसित करनी होगी। उन्होंने कहा कि भविष्य में हिमुडा द्वारा भूमि खरीद के दौरान कुछ अन्य औपचारिकताएं भी पूरी की जाएंगी। हिमुडा राज्य में विभिन्न स्थानों पर अपनी भूमि के बड़े हिस्से को लीज पर देने के लिए उद्योग, बागवानी विभाग से सम्पर्क कर रहा है। उन्होंने हिमुडा को आवंटियों और अन्य हितधारकों को वन स्टाॅप सिस्टम प्रदान करने और इसके लिए एक समर्पित नम्बर और व्हाट्स ऐप नम्बर आरम्भ करने की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए। हिमुडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय वर्मा सहित अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।   





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।