सुरक्षा के प्रबंधों को कारगर बनाने के लिए सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल

सुरक्षा के प्रबंधों को कारगर बनाने के लिए सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल

संजय कुंडू ने परमार को बताया कि सुरक्षा के प्रबंधों को कारगर बनाने के लिए सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल किया जाएगा तथा इसके लिए एक विशेष कंट्रोल रूम की स्थापना की जाएगी ताकि से इसके द्वारा मॉनिटर कर ठीक से निगरानी की जा सके। कुंडू ने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर वी0 आई0 पी0 गेट नंबर 1, 2 व 3 पर दो-दो विशेष कमांडो को ड्यूटी पर तैनात किए गया है

शिमला।  हिमाचल प्रदेश पुलिस विभाग ने विधानसभा सचिवालय में बजट सत्र के दृष्टिगत विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार को उनके कार्यालय कक्ष में  सुरक्षा से संबंधित किए जा रहे प्रबंधों बारे एक वीडियो प्रस्तुति के माध्यम से जानकारी दी। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रमुख (डी0जी0पी0) श्री संजय कुंडू, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक(सी0आई0डी0) वेणुगोपाल, पुलिस महा निरीक्षक दक्षिण रेंज हिमांशु मिश्रा, पुलिस महानिरीक्षक सतर्कता(सी0आई0डी0) दलजीत सिंह ठाकुर, पुलिस अधीक्षक बद्दी मोहित चावला तथा पुलिस अधीक्षक शिमला जिला शिमला, श्रीमती मोनिका भटूंगरु मौजूद थे।

 

सुरक्षा प्रबंधों के बारे परमार को अवगत कराते हुए संजय कुंडू ने कहा कि पुलिस विभाग सुरक्षा प्रबंधों को पुख्ता बनाने के लिए उच्च स्तरीय  तकनीक का इस्तेमाल करने जा रही है। उन्होंने इस अवसर पर सिलसिलेवार किए जा रहे प्रबंधों की विधान सभा अध्यक्ष को जानकारी दी।

 

इसे भी पढ़ें: विधानसभा परिसर में सभी को सामाजिक दूरी अपनानी होगी तथा फेस मास्क पहनना जरूरी --परमार

 

संजय कुंडू ने परमार को बताया कि सुरक्षा के प्रबंधों को कारगर बनाने के लिए सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरा का इस्तेमाल किया जाएगा तथा इसके लिए एक विशेष कंट्रोल रूम की स्थापना की जाएगी ताकि से इसके द्वारा मॉनिटर कर ठीक से निगरानी की जा सके।  कुंडू ने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर  वी0 आई0 पी0 गेट नंबर 1, 2 व 3 पर दो-दो विशेष कमांडो को ड्यूटी पर तैनात किए गया है ताकि सुरक्षा में कोई चूक न हो। कुंडु ने परमार को अवगत कराते हुए कहा कि बिना पास तथा स्क्रीनिंग के कोई भी विधान सभा परिसर में प्रवेश नहीं पा सकेगा।    





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।