वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत गंभीर, बेटी मल्लिका ने लिखा भावुक पोस्ट

वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत गंभीर, बेटी मल्लिका ने लिखा भावुक पोस्ट

बेटी मल्लिका दुआ ने इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा कि मेरे पिता जी आईसीयू में हैं और उनकी हालत गंभीर है। उनका स्वास्थ्य अप्रैल से तेजी से खराब हो रहा था। वह अपने जीवन की किरण खो जाने के सदमे से अभी तक उबर नहीं पाए हैं। उन्होंने असाधारण जीवन जिया है और हमें भी ऐसा ही जीवन दिया है।

नयी दिल्ली। देश के जाने माने वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत अत्यंत गंभीर बताई जा रही है। विनोद दुआ की बेटी मल्लिका दुआ ने बताया कि पिता जी आईसीयू में भर्ती हैं और उनकी हालत अत्यंत गंभीर है। आपको बता दें कि विनोद दुआ के निधन की अफवाह के बीच बेटी मल्लिका दुआ का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने निधन के बारे में अफवाह नहीं फैलाने की अपील की है। 

इसे भी पढ़ें: भारत में अभी तक कोरोनावायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन का कोई मामला नहीं: अधिकारी 

कोरोना से संक्रमित हुए थे दुआ

विनोद दुआ को कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद उनकी हालत काफी नाजुक बनी हुई है। वहीं उनकी पत्नी पद्मावती चिन्ना दुआ का निधन जून में कोरोना के चलते हो गया था।

खराब हो रहा विनोद दुआ का स्वास्थ्य

बेटी मल्लिका दुआ ने इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा कि मेरे पिता जी आईसीयू में हैं और उनकी हालत गंभीर है। उनका स्वास्थ्य अप्रैल से तेजी से खराब हो रहा था। वह अपने जीवन की किरण खो जाने के सदमे से अभी तक उबर नहीं पाए हैं। उन्होंने असाधारण जीवन जिया है और हमें भी ऐसा ही जीवन दिया है। वह किसी तकलीफ के हकदार नहीं हैं। वह बहुत प्रिय और श्रद्धेय हैं। मैं आप सबसे यह प्रार्थना करने का अनुरोध करती हूं कि उन्हें कम से कम तकलीफ हो। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के नये वैरिएंट का कई देशों में कहर, भारत और दक्षिण अफ्रीका का टेस्ट मैच नहीं हुआ रद्द 

67 साल के विनोद दुआ टीवी मीडिया का जाना माना नाम है। उन्हें पत्रकारिता के लिए 'पद्मश्री' से भी सम्मानित किया जा चुका है। दूरदर्शन से लेकर एनडीटीवी जैसे प्रमुख टीवी न्यूज चैनलों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने 'द वायर' में 'जन की बात' कार्यक्रम की शुरुआत की थी। कोरोना की दूसरी लहर में विनोद दुआ और उनकी पत्नी पद्मावती चिन्ना दुआ संक्रमित हो गई थीं। जिसके बाद उन्हें गुरुग्राम के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।