करमबीर सिंह होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, एडमिरल सुनील लांबा की जगह लेंगे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 23, 2019   17:03
करमबीर सिंह होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, एडमिरल सुनील लांबा की जगह लेंगे

करमबीर सिंह एडमिरल सुनील लांबा की जगह लेंगे जो 31 मई को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। वर्तमान में वाइस एडमिरल सिंह विशाखापट्टनम में पूर्वी नौसैन्य कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ के तौर पर कार्यरत हैं।

नयी दिल्ली। वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को नौसेना का अगला प्रमुख नियुक्त किया गया है। रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी। सिंह एडमिरल सुनील लांबा की जगह लेंगे जो मई के अंत में सेवानिवृत्त हो रहे हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सरकार ने मेरिट आधारित दृष्टिकोण अपनाते हुए यह चयन किया है और पद के लिए वरिष्ठतम अधिकारी की नियुक्ति की जाने वाली परंपरा नहीं अपनाई। उन्होंने बताया कि अंडमान तथा निकोबार कमान के कमांडर इन चीफ वाइस एडमिरल विमल वर्मा इस शीर्ष पद के दावेदारों में से एक थे। वह सिंह से वरिष्ठ हैं। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि वर्तमान में वाइस एडमिरल सिंह विशाखापट्टनम में पूर्वी नौसैना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ के तौर पर कार्यरत हैं और वह 31 मई को नौसेना प्रमुख के तौर पर प्रभार संभालेंगे। 

इसे भी पढ़ें: दुष्प्रचार करना पाक की पुरानी आदत, नौसेना ने कहा- नहीं किया सीमा का उल्लघंन

अक्टूबर 2017 में पूर्वी नौसैना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ का प्रभार संभालने से पहले उन्होंने नौसेना के उपप्रमुख के तौर पर भी सेवाएं दी हैं। सूत्रों ने बताया कि वर्मा के अलावा, नौसेना प्रमुख के पद के दावेदारों में नौसेना उपप्रमुख वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार, पश्चिमी नौसैन्य कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ वाइस एडमिरल अजीत कुमार और दक्षिणी नौसैन्य कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ अनिल कुमार चावला शामिल थे। सरकार ने 2016 में सेना प्रमुख की नियुक्ति किए जाने के वक्त वरिष्ठता के आधार पर नियुक्ति की परंपरा का पालन नहीं किया था। 

तीन नवंबर 1959 को जन्मे सिंह एक जुलाई, 1980 को नौसेना में शामिल हुए थे। उन्हें 1982 में हेलीकॉप्टर पायलट बनने का मौका मिला और उन्हें चेतक एवं कमोव हेलीकॉप्टरों में उड़ान भरने का लंबा अनुभव है। नौसेना के एक अधिकारी ने बताया कि वह संभवत: पहले हेलीकॉप्टर पायलट हैं जो नौसेना प्रमुख के पद पर पहुंचेंगे। सिंह डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन एवं कॉलेज ऑफ नेवल वारफेयर, मुबई के स्नातक हैं। वह जालंधर के रहने वाले हैं और उन्होंने परम विशिष्ट सेवा पदक एवं अति विशिष्ट सेवा पदक प्राप्त किया है। नौसेना प्रमुख तीन साल के कार्यकाल के बाद या 62 साल की उम्र, जो भी पहले हो, सेवानिवृत्त होते हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...