उपराष्ट्रपति नायडू ने कोनेरू रामकृष्ण राव के निधन पर शोक व्यक्त किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 10, 2021   07:30
उपराष्ट्रपति नायडू ने कोनेरू रामकृष्ण राव के निधन पर शोक व्यक्त किया
प्रतिरूप फोटो

उपराष्ट्रपति ने वर्ष 2011 में पद्मश्री से सम्मानित राव को एक बहुआयामी व्यक्तित्व का धनी बताया, जिन्होंने आंध्र विश्वविद्यालय के कुलपति, आंध्र प्रदेश राज्य उच्च शिक्षा आयुक्तालय के अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष सहित विभिन्न पदों पर कार्य किया।

नयी दिल्ली, नौ नवंबर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू नेप्रख्यात शिक्षाविद और दार्शनिक कोनेरू रामकृष्ण राव के निधन पर मंगलवार को दुख व्यक्त किया।

राव के पारिवार के सदस्यों ने बताया कि मंगलवार को आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में उम्र संबंधी बीमारी के कारण उनका निधन हो गया। राव 89 वर्ष के थे। नायडू ने एक शोक संदेश में कहा कि राव को कई दशकों से वह व्यक्तिगत रूप से जानते थे और उनकी मृत्यु उनके लिए एक व्यक्तिगत क्षति है।

इसे भी पढ़ें: बलात्कार व हत्या मामलों में पीड़ितों की कम उम्र मृत्युदंड देने के लिए पर्याप्त नहीं: न्यायालय

उपराष्ट्रपति ने वर्ष 2011 में पद्मश्री से सम्मानित राव को एक बहुआयामी व्यक्तित्व का धनी बताया, जिन्होंने आंध्र विश्वविद्यालय के कुलपति, आंध्र प्रदेश राज्य उच्च शिक्षा आयुक्तालय के अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष सहित विभिन्न पदों पर कार्य किया।

नायडू ने कहा, ‘‘शिक्षा के क्षेत्र में उनका अमूल्य योगदान और गांधीवादी विचार कई लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत है।’’ उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘‘राव का निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। मैं शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। ओम शांति।

इसे भी पढ़ें: एसकेएम ने शीतकालीन सत्र में संसद तक रोजाना ट्रैक्टर मार्च निकालने की घोषणा की





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...