दक्षिण अफ्रीका से लौटी महिला ने चंडीगढ़ में पृथक-वास का नियम तोड़ा, पांच सितारा होटल गई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 4, 2021   08:45
दक्षिण अफ्रीका से लौटी महिला ने चंडीगढ़ में पृथक-वास का नियम तोड़ा, पांच सितारा होटल गई

दक्षिण अफ्रीका से दो दिन पहले चंडीगढ़ लौटी एक महिला ने कथित रूप से घर में पृथकवास में रहने का नियम तोड़ा और एक पांच सितारा होटल चली गई। इसके बाद प्रशासन ने शुक्रवार को यात्रियों, विशेष तौर पर ‘‘जोखिम वाले’’ देशों से आये लोगों के लिए कोविड प्रोटोकॉल तोड़ने के लिए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया।

चंडीगढ़। दक्षिण अफ्रीका से दो दिन पहले चंडीगढ़ लौटी एक महिला ने कथित रूप से घर में पृथकवास में रहने का नियम तोड़ा और एक पांच सितारा होटल चली गई। इसके बाद प्रशासन ने शुक्रवार को यात्रियों, विशेष तौर पर ‘‘जोखिम वाले’’ देशों से आये लोगों के लिए कोविड प्रोटोकॉल तोड़ने के लिए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया। केंद्र सरकार ने उन देशों को ‘जोखिम वाली’ सूची में रखा हैं जहां कोविड का नया स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ सामने आया है और उनके लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी किए हैं। एक आधिकारिक आदेश के मुताबिक, दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद महिला एक दिसंबर को यहां सेक्टर 48-बी स्थित एक हाउसिंग सोसाइटी पहुंची।

इसमें कहा गया है कि दो दिसंबर को उसने पृथक-वास का नियम तोड़ा और शाम को यहां के एक पांच सितारा होटल गई और देर रात होटल से घर वापस जाने के लिए निकली। यहां स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने आदेश दिया कि उसके खिलाफ पृथक-वास नियम का उल्लंघन करने के लिए कड़ी कार्रवाई की जाए। स्वास्थ्य सेवा के निदेशक से होटल के सभी कर्मचारियों की तत्काल आरटी-पीसीआर पद्धति से जांच कराने की व्यवस्था करने को कहा गया है। हालांकि आदेश में कहा गया है कि एक दिसंबर को महिला की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव थी और प्रोटोकॉल के मुताबिक, उसकी आठ दिसंबर को दोबारा जांच होनी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।