केरल के मुख्यमंत्री से कन्नड़ नामों को नहीं बदलने का अनुरोध करेंगे येदियुरप्पा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 28, 2021   17:03
केरल के मुख्यमंत्री से कन्नड़ नामों को नहीं बदलने का अनुरोध करेंगे येदियुरप्पा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सोमवार को कहा कि वह केरल के अपने समकक्ष पिनराई विजयन को पत्र लिखकर उसने राज्य की सीमा से लगे केरल केकासरगोड़ जिले में कुछ स्थानों का कन्नड़ नाम बदलकर मलयाली नहीं करने का अनुरोध करेंगे।

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सोमवार को कहा कि वह केरल के अपने समकक्ष पिनराई विजयन को पत्र लिखकर उसने राज्य की सीमा से लगे केरल केकासरगोड़ जिले में कुछ स्थानों का कन्नड़ नाम बदलकर मलयाली नहीं करने का अनुरोध करेंगे। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि कर्नाटक सीमावर्ती क्षेत्र प्राधिकरण (केबीएडीए) के अध्यक्ष डॉक्टर सी सोमशेखर ने सोमवार को मुख्यमंत्री का ध्यान इस ओर दिलाया। उन्होंने कहा कि केरल सरकार राज्य के कुछ गांवों के कन्नड़नामों को बदलकर मलयाली करने पर विचार कर रही है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर: आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का शीर्ष कमांडर नदीम अबरार गिरफ्तार

विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने इसपर तत्काल प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मामला अभी उनके संज्ञान में लाया गया है। वह केरल के मुख्यमंत्री का ध्यान इस ओर दिलाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कासरगोड और मंजेश्वर में मलयाली और कन्नड़ लोग सौहार्द के साथ रह रहे हैं, इसलिए कन्नड़ के नामों को मलयालम में बदलना उचित नहीं है।

इसे भी पढ़ें: योगी पर अखिलेश ने साधा निशाना, कहा- अगले विधानसभा चुनाव में 350 सीट जीतेगी सपा

उन्होंने कहा कि वह केरल के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस प्रक्रिया को तुरंत रोकने का अनुरोध करेंगे। सोमशेखर ने कहा कि हो सकता है कि गांवों के कन्नड़ नाम बदलने का निर्णय स्थानीय स्तर पर लिया गया हो और मुख्यमंत्री विजयन को इसकी जानकारी न हो।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।