योगी सरकार उठाएगी कोरोना संक्रमितों के इलाज का खर्च, कोई भी अस्पताल मरीज को नहीं कर सकता वापस

योगी सरकार उठाएगी कोरोना संक्रमितों के इलाज का खर्च, कोई भी अस्पताल मरीज को नहीं कर सकता वापस

डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि कल से प्रदेश में 2,500 मामले कम आए हैं और टेस्ट की संख्या भी बढ़ी है। अब तक 97,79,846 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ लग गई है। इनमे से 19,97,363 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगी है।

उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामले के बीच  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी अस्पताल मरीज को वापस नहीं करेगा। अगर सरकारी अस्पताल में बेड नहीं है तो निजी अस्पताल में मरीज को भेजा जाएगा और पूरा खर्च राज्य सरकार करेगी। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि फिलहाल प्रदेश में इस वक्त सैनिटाइजेशन का काम चल रहा है।

डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि कल से प्रदेश में 2,500 मामले कम आए हैं और टेस्ट की संख्या भी बढ़ी है। अब तक 97,79,846 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ लग गई है। इनमे से 19,97,363 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगी है। रेमडेसिविर दवा भी हमें पर्याप्त मात्रा में मिलने लगी है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में #COVID19 के 35,614 नए मामले सामने आए हैं। 25,633 लोग डिस्चार्ज हुए। सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,97,616 है। अब तक कुल 11,165 लोगों की मृत्यु हुई है। कल प्रदेश में 2,29,578 सैंपल की जांच की गई। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।