गिरिजा देवी के नाम पर होगा सांस्कृतिक संकुल : योगी

Yogi says Girija Devi will be named after cultural package
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि सांस्कृतिक संकुल को अब ठुमरी गायिका गिरिजा देवी के नाम से जाना जायेगा।

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  कहा कि सांस्कृतिक संकुल को अब ठुमरी गायिका गिरिजा देवी के नाम से जाना जायेगा। मुख्यमंत्री ने यहां सांस्कृतिक संकुल में शहर के विकास, स्कूलों में बुनियादी सुविधाएं एवं किसानों की जनकल्याणकारी योजनाओं का शुभारंभ किया। उन्होंने प्रख्यात गायिका गिरिजा देवी के निधन पर शोक जताया और सांस्कृतिक संकुल का नाम ठुमरी गायिका के नाम पर करने की घोषणा की। जिला प्रशासन से सभी औपचारिकतायें पूरा कर जल्द प्रस्ताव भेजने को कहा है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय क्षेत्र के विकास के लिए कई योजनायें चलायी है।

प्रधानमंत्री चाहते हैं कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर काशी की पहचान सबसे प्राचीनतम और आधुनिक नगरी के रुप में हो।शहर की पहचान बनाये रखने के साथ ही आधुनिक बनाने के लिए काम हो रहा है। अगले पांच महीने में काशी का स्वरूप बदल जायेगा।योगी ने काशी विद्यापीठ ब्लाक को खुले में शौच से मुक्त घोषित करते हुए कहा कि दिसम्बर तक यह जिला खुले शौच से मुक्त हो जायेगा। संकुल में उपस्थिति प्रधानाचार्यों से उन्होंने कहा किस्कूल के बच्चों एवं उनके अभिभावकों के अंदर स्वच्छता की अलख जगाये। सभी जागरूक हो जायेंगे तो प्रदेश से गंदगी खत्म हो जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता में आने के बाद बनारस के विकास में तेजी आयी। पिछली सरकारों ने जान बुझकर प्रधानमंत्री की योजनाओं को पूरा नहीं होने दे रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने काशी के विकास का जो सपना देखा है उसे उत्तर प्रदेश सरकार पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि पिछले दौरे पर उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर समेत आसपास के क्षेत्र को पावन पथ बनाने का जो वादा किया था उस पर कार्य शुरू कर दिया गया है। हेरिटेज स्थलों के अलावा प्रमुख मंदिरों के आसपास के क्षेत्र का विकास करने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से कार्य कराए जा रहे हैं, जो काम बच जाएगा उसे उत्तर प्रदेश सरकार कराएगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़