जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत की झोली में 11 पदक, PM ने दी बधाई

जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत की झोली में 11 पदक, PM ने दी बधाई

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, प्रतिभाशाली पहलवानों को और ऊर्जा। जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप 2021 में, हमारे पुरुष और महिला दल 4 रजत पदक समेत कुल 11 पदक जीतकर वापस आए हैं।

जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत का सफर बिना किसी स्वर्ण पदक के समाप्त हो गया महिला कुश्ती टीम के हिस्से में तीन रजत और दो कास्यं पदक आएं जबकि पुरूष टीम ने कुल छह पदक अपने नाम किए। भारत की संजू देवी, भटेरी, बिपाशा और रविंदर ने रजत पदक जीते जबकि बाकी पहलवानों के हिस्से में कास्यं पक आए।  इनके अलावा महिला पहलवान सानेह इंजरी के चलते ब्रॉन्ज मेडल के प्लेऑफ मुकाबले से बाहर हो गईं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय पहलवानों को पदक जीतने पर बधाई दी है। 

पीएम मोदी बोले- ये अच्छे संकेत 

प्रधानमंत्री मोदी ने  ट्वीट करते हुए कहा, प्रतिभाशाली पहलवानों को और ऊर्जा। जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप 2021 में, हमारे पुरुष और महिला दल 4 रजत पदक समेत कुल 11 पदक जीतकर वापस आए हैं। सफलता के लिए टीम को बधाई और उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।

पुरुषों की फ़्रीस्टाइल कुश्ती

रविंदर (61 किग्रा)- फाइनल में ईरान के पहलवान से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 

यश (74 किग्रा)- रेपेशाज का पूरा फायदा उठाते हुए यश ने कांस्य पदक अपने नाम किया। 

गौरव बालियान (79 किग्रा)- पहलवान ने 79 किलोभार वर्ग में रूस के पहलवान को 10-0 अंक से पराजित कर जीत हासिल की और कांस्य जीता। 

पृथ्वीराज पाटिल- 92 किलो वर्ग में कांस्य पदक जीता। 

दीपक (97 किग्रा)- रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 

अनिरुद्ध कुमार- 125 किग्रा में कांस्य पदक जीता। 

महिलाओं ने भी दिखाया दम

भारतीय महिलाओं ने टूर्नामेंट में तीन रजत और दो कांस्य से कुल पांच पदक जीते। भारतीय महिला टीम ने 134 अंक हासिल कर तालिका में तीसरा स्थान हासिल किया। बिपाशा (76 किग्रा) ने रजत जबकि सिमरन (50 किग्रा) और सितो (55 किग्रा) ने कांस्य पदक जीते जबकि संजू देवी (62 किग्रा) और भटेरी (65 किग्रा) ने भी रजत पदक जीते।