अमनप्रीत ने जीता कांस्य, जीतू सातवें स्थान पर रहे

Amanpreet won bronze, Jitu remained seventh
भारत के अमनप्रीत सिंह ने आईएसएसफ विश्व कप फाइनल में अपने पदार्पण वर्ष में ही कांस्य पदक जीता लेकिन स्टार निशानेबाज जीतू राय ने प्रतियोगिता के चौथे दिन निराश किया और सातवें स्थान पर रहे।

नयी दिल्ली। भारत के अमनप्रीत सिंह ने आईएसएसफ विश्व कप फाइनल में अपने पदार्पण वर्ष में ही कांस्य पदक जीता लेकिन स्टार निशानेबाज जीतू राय ने प्रतियोगिता के चौथे दिन निराश किया और सातवें स्थान पर रहे। विश्व कप के रजत पदक विजेता अमनप्रीत ने कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर पुरूषों की 50 मीटर पिस्टल में 202–2 अंक बनाकर कांस्य पदक हासिल किया। राय 123–2 अंक ही बना पाये और सात निशानेबाजों के फाइनल में अंतिम स्थान पर रहे। इससे पहले दोनों ने बिना किसी परेशानी के क्वालीफिकेशन की बाधा पार की थी।

सर्बिया के दामिर मिकेच ने इस कम स्कोर वाले लेकिन रोमांचक फाइनल में 229–3 अंक बनाकर स्वर्ण जबकि उक्रेन के ओलेह ओमेलचक ने 228–0 अंक के साथ रजत पदक जीता।अमनप्रीत ने कांस्य पदक की दौड़ में तुर्की के यूसुफ डिकेच और सर्बिया के दिमित्री गिरगिच को पीछे छोड़ा। इसके अलावा ईरान के वाहिद गोलखानदान से भी उनका प्रदर्शन बेहतर रहा।इस साल के शुरू में आईएसएसएफ विश्व कप के पहले चरण में अमनप्रीत ने इसी स्पर्धा में रजत पदक जीता था। तब जीतू राय स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहे थे।

अमनप्रीत ने कहा, ‘‘यह सोचकर यह विश्व कप फाइनल है और इसमें सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज भाग ले रहे हैं, आप इसे मेरा निशानेबाजी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कह सकते हैं। मैं खुश हूं लेकिन स्कोर के लिहाज से यह बहुत अच्छा नहीं है। मुझे सुधार करने की जरूरत है।’’ इस निशानेबाज ने हालांकि जरूरत के समय अच्छा स्कोर बनाया। भाग्य भी उनके साथ था। उन्होंने 22वें शाट में 8–1 अंक बनाये जो कांस्य पदक जीतने के लिये महत्वपूर्ण साबित हुए। कुल मिलाकर फाइनल में उन्होंने पांच बार दस या इससे अधिक का स्कोर बनाया।यह वर्तमान टूर्नामेंट में भारत के लिये पहला व्यक्तिगत पदक है। कुल मिलाकर मेजबान देश का यह दूसरा पदक है। इससे पहले जीतू राय और हीना सिद्धू ने पहले दिन दस मीटर एयर पिस्टल मिश्रित स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़