एशिया कप हॉकी: भारत ने दक्षिण कोरिया को 1-1 से ड्रॉ पर रोका

Asia cup hockey india draw 1-1 with south korea
स्ट्राइकर गुरजंत सिंह ने अंतिम हूटर बजने से 58 सेकेंड पहले गोल दागा जिससे भारत दसवें पुरूष एशिया कप हाकी टूर्नामेंट के सुपर चार चरण का अपना पहला मैच दक्षिण कोरिया से 1-1 से ड्रा करने में सफल रहा।

ढाका। स्ट्राइकर गुरजंत सिंह ने अंतिम हूटर बजने से 58 सेकेंड पहले गोल दागा जिससे भारत दसवें पुरूष एशिया कप हाकी टूर्नामेंट के सुपर चार चरण का अपना पहला मैच दक्षिण कोरिया से 1-1 से ड्रा करने में सफल रहा। भारतीय टीम टूर्नामेंट में अब तक सबसे बेहतर नजर आ रही थी लेकिन खतरनाक और रक्षात्मक कोरियाई टीम के खिलाफ मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली टीम पहली बार हार के कगार पर पहुंच गयी थी।

मैच में अधिकतर समय गेंद पर कब्जा रखने और गोल करने के अधिक मौके मिलने के बावजूद भारतीय टीम के स्ट्राइकरों के लिये कोरियाई रक्षापंक्ति को भेदना मुश्किल रहा। पहले दो क्वार्टर में कोई भी टीम गोल नहीं कर पायी। जुंगजुन ली (41वें मिनट) ने कोरिया को बढ़त दिलायी जिससे उनकी टीम जीत के बेहद करीब पहुंच गयी लेकिन गुरजंत ने 60वें मिनट में बराबरी का गोल दाग दिया। भारत की अग्रिम पंक्ति और कोरियाई रक्षापंक्ति के बीच मुकाबले की पहले ही उम्मीद की जा रही थी। कोरियाई रक्षकों ने इसमें बेहतर प्रदर्शन किया और कई गोल बचाये।

आकाशदीप सिंह के पास पहले क्वार्टर में गोल करने का शानदार मौका था और उन्हें केवल कोरियाई गोलकीपर को छकाना था लेकिन वह गेंद पर स्टिक नहीं अड़ा पाये। दूसरे क्वार्टर में भारतीय स्ट्राइकरों और कोरियाई रक्षकों के बीच काफी करीबी मुकाबला देखने को मिला लेकिन कोई भी टीम अपनी तरफ से किसी तरह का कसर नहीं छोड़ना चाहती थी। भारत को तीसरे क्वार्टर में तब झटका लगा जब ली ने वरूण कुमार और सुमित की गलती का फायदा उठाकर कोरिया को बढ़त दिला दी। इसके चार मिनट बाद सतबीर सिंह ने एसवी सुनील के लिये गेंद बनायी लेकिन भारतीय स्ट्राइकर इस पर गोल करने में नाकाम रहा।

एक गोल से पिछड़ने के बाद भारत ने चौथे क्वार्टर में बराबरी के लिये पूरा जोर लगा दिया लेकिन कोरियाई टीम ने भी शानदार खेल दिखाया और कई गोल बचाये। उन्होंने भारतीय स्ट्राइकरों को गोल करने का कोई मौका नहीं दिया। अंतिम हूटर बजने से चार मिनट पहले भारत ने गोलकीपर सूरज करकेरा को हटाकर अतिरिक्त खिलाड़ी को मैदान पर उतारा। इसका उसे फायदा मिला और गुरजंत आखिर में टीम को बराबरी दिलाने में सफल रहा।

गुरजंत का पहला शाट कोरियाई गोलकीपर ने बचा दिया था लेकिन उन्होंने रिबाउंड पर गोल करके भारत के नये मुख्य कोच सोर्ड मार्जिन को भारी राहत पहुंचायी। भारत सुपर चार के अपने दूसरे मैच में कल मलेशिया से भिड़ेगा। दिन के पहले मैच में मलेशिया ने पाकिस्तान को 3-2 से हराया था। भारत का सुपर चार का आखिरी मुकाबला चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा जिसे उसने पूल चरण में 3-1 से शिकस्त दी थी। टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार सुपर चार में शीर्ष पर रहने वाली दो टीमें फाइनल के लिये क्वालीफाई करेंगी जो रविवार को खेला जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़