श्रीलंका ने SA को हराकर रचा इतिहास, जीत दर्ज करने वाली पहली एशियाई टीम बनी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 23 2019 5:08PM
श्रीलंका ने SA को हराकर रचा इतिहास, जीत दर्ज करने वाली पहली एशियाई टीम बनी
Image Source: Google

दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर टेस्ट श्रृंखला जीतने वाली पहली एशियाई टीम बन गयी है श्रीलंका। डरबन में पहले टेस्ट मैच में एक विकेट की रोमांचक जीत से इतर श्रीलंका को दूसरा मैच जीतने में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई।

पोर्ट एलिजाबेथ। ओशादा फर्नांडो और कुसाल मेंडिस की नाबाद अर्धशतकीय पारियों से श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन शनिवार को यहां आठ विकेट से करारी शिकस्त देकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल करके नया इतिहास रचा। श्रीलंका इस जीत से दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर टेस्ट श्रृंखला जीतने वाली पहली एशियाई टीम बन गयी है। डरबन में पहले टेस्ट मैच में एक विकेट की रोमांचक जीत से इतर श्रीलंका को दूसरा मैच जीतने में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। उसके सामने 197 रन का लक्ष्य था। ऐसे में फर्नांडो और मेंडिस ने तीसरे विकेट के लिये 163 रन की साझेदारी करके टीम को आसान जीत दिलायी। 

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका क्रिकेट के चुनाव में अर्जुन रणतुंगा को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा

फर्नांडो ने 106 गेंदों पर नाबाद 75 और मेंडिस ने 110 गेंदों पर नाबाद 84 रन बनाये जिससे श्रीलंका ने तीसरे दिन लंच तक ही लक्ष्य हासिल कर दिया। दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 222 रन बनाकर श्रीलंका को 154 रन पर आउट कर दिया था। श्रीलंका ने हालांकि दक्षिण अफ्रीका को दूसरी पारी में 128 रन पर आउट करके शानदार वापसी की थी। श्रीलंका ने सुबह दो विकेट पर 60 रन से पारी आगे बढ़ायी। फर्नांडो और मेंडिस ने सकारात्मक बल्लेबाजी की। उन्होंने कैगिसो रबादा के दिन के दूसरे ओवर में ही नौ रन बटोरे। इसके बाद भी दक्षिण अफ्रीका का कोई गेंदबाज उनकी लय नहीं बिगाड़ पाया। 

दिन के पहले आठ ओवरों में 36 रन बनने के बाद डेल स्टेन को आक्रमण पर लगाया गया। मेंडिस ने दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज के पहले ओवर में ही तीन चौके जड़े। बायें हाथ के स्पिनर केशव महाराज को थोड़ा टर्न मिल रहा लेकिन बल्लेबाजों ने उनके खिलाफ कदमों का अच्छा इस्तेमाल किया। उनके पहले चार ओवर में 23 रन बने जिनमें फर्नाडो का छक्का भी शामिल है। मेंडिस को 70 रन के निजी योग पर जीवनदान मिला जब हाशिम अमला उनका कैच नहीं ले पाये लेकिन तब टीम को जीत के लिये केवल 31 रन चाहिए थे। 



इसे भी पढ़ें: परेरा की पारी से श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को एक विकेट से हराया

श्रीलंका की श्रृंखला में जीत हाल में क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा उलटफेर है। दक्षिण अफ्रीका ने घरेलू सरजमीं पर अपनी पिछली सात श्रृंखलाएं जीती थी और डरबन में हारने से पहले उसने अपनी धरती पर पिछले 19 मैचों में से 16 में जीत दर्ज की थी। दूसरी तरफ श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका आने से पहले सात में से छह टेस्ट मैच गंवाय थे और एक मैच ड्रा कराया था।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप