इंग्लैंड के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए उतरेगी भारतीय महिला टीम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 21, 2019   14:55
इंग्लैंड के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए उतरेगी भारतीय महिला टीम

मेहमान टीम के पास इसके अलावा सोफी एकलेस्टोन जैसी आलराउंडर और अनुभवी तेज गेंदबाज आन्या स्रुबसोल और नैट शिवर की मौजूदगी में ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो भारत को परेशान कर सकता है।

मुंबई। चोट के कारण हरमनप्रीत कौर की गौरमौजूदगी के बावजूद भारतीय महिला क्रिकेट टीम शुक्रवार से यहां इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में दबदबा बनाने के इरादे से उतरेगी। न्यूजीलैंड के खिलाफ उसकी सरजमीं पर एकदिवसीय श्रृंखला 2-1 से जीतने के बाद भारतीय टीम आत्मविश्वास से भरी है। टीम को हालांकि टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला में 0-3 से हार का सामना करना पड़ा था। भारत को अगर 2021 विश्व कप के लिए सीधे क्वालीफाई करना है तो 2020 तक विश्व रैंकिंग के शीर्ष चार में अपनी जगह बरकरार रखनी होगी। यह श्रृंखला आईसीसी चैंपियनशिप का हिस्सा है और इसके सभी मैच वानखेड़े स्टेडियम में खेले जाएंगे। इंग्लैंड की टीम जब पिछली बार यहां आई थी तो मिताली राज की अगुआई वाली भारतीय टीम ने 2-1 से जीत दर्ज की थी।

मेजबान टीम हालांकि इंग्लैंड की टीम को हल्के में लेने की गलती नहीं कर सकती क्योंकि मेहमान टीम में महिला क्रिकेट के कुछ बड़े नाम शामिल हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला में शतक और 90 रन की मदद से 196 रन जोड़ने वाली सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना से भारत को बल्लेबाजी में काफी उम्मीदें होंगी। अनुभवी कप्तान मिताली पर भी काफी दारोमदार होगा जो 200 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं। टीम को हालांकि उप कप्तान हरमनप्रीत कौर की कमी खलेगी जो टखने की चोट के कारण पूरी श्रृंखला से बाहर हो गई हैं। उनके विकल्प के तौर पर युवा हरलीन देओल को टीम में शामिल किया गया है। मेजबान टीम की बल्लेबाजी को मजबूत करने के लिए जेमिमा रोड्रिग्ज भी मौजूद हैं। यह देखना होगा कि जेमिमा और पूनम राउत में से किसे अंतिम एकादश में जगह मिलती है। पूनम ने अपना पिछला मैच सितंबर 2018 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। 

इसे भी पढ़े: रहीम स्टर्लिंग के गोल से मैनचेस्टर सिटी ने शाल्के को 3-2 से हराया

मिताली की अगुआई वाली भारतीय टीम को अतीत में अपने मध्यक्रम की परेशानी का सामना करना पड़ा है और नव नियुक्त कोच डब्ल्यूवी रामन जितना जल्दी संभव हो इसमें सुधार की कोशिश करेंगे।भारत के गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई एक बार फिर अनुभवी झूलन गोस्वामी करेंगी। इसके अलावा तेज गेंदबाजी में उनका साथ निभाने के लिए शिखा पांडे और मानसी जोशी जैसी गेंदबाज भी मौजूद हैं।मैच में स्पिन की भूमिका अहम हो सकती है और ऐसे में धीमी गेंदबाजों दीप्ति शर्मा, एकता बिष्ट और पूनम यादव पर काफी दारोमदार होगा। दूसरी तरफ 50 ओवर के प्रारूप में इंग्लैंड की टीम काफी मजबूत है। टीम के पास शीर्ष में डेनी वाट (61 मैच में 746 रन) और हीथर नाइट (86 मैच में 2331 रन) जैसी अनुभवी खिलाड़ी हैं। मेहमान टीम के पास इसके अलावा सोफी एकलेस्टोन जैसी आलराउंडर और अनुभवी तेज गेंदबाज आन्या स्रुबसोल और नैट शिवर की मौजूदगी में ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो भारत को परेशान कर सकता है।

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत: मिताली राज (कप्तान), झूलन गोस्वामी, स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्ज, दीप्ति शर्मा, तान्या भाटिया,आर कल्पना, मोना मेशराम, एकता बिष्ट, राजेश्वरी गायकवाड़, पूनम यादव, शिख पांडे, मानसी जोशी, पूनम राउत और हरलीन देओल।

इंग्लैंड: टैमी ब्युमोंट, कैथरीन ब्रंट, केट क्रास, सोफिया डंक्ले, सोफी एकलेस्टोन, जार्जिया एल्विस, एलेक्स हार्टले, एमी जोन्स, हीथर नाइट, लारा मार्श, नैट शिवर, आन्या स्रुबसोल, सारा टेलर, लारेन विनफील्ड और डेनी वाट।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।