भारतीय जूनियर टीम ने चिली को 2-2 से ड्रॉ पर रोका, शनिवार को होंगे दो और मुकाबले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   12:53
  • Like
भारतीय जूनियर टीम ने चिली को 2-2 से ड्रॉ पर रोका, शनिवार को होंगे दो और मुकाबले

भारत की जूनियर महिला हॉकी टीम ने चिली की सीनियर टीम को 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया है।भारत ने वापसी करते हुए मैच पर नियंत्रण बनाने का प्रयास किया लेकिन मेजबान टीम ने अपने मजबूत डिफेंस की बदौलत मध्यांतर तक 1-0 की बढ़त को बरकरार रखा।

Tसेंटियागो। भारत की जूनियर महिला हॉकी टीम ने दो बार पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए यहां दौरे के अपने चौथे मैच में चिली की सीनियर टीम को 2-2 से बराबरी पर रोक दिया। चिली ने मारियाना डेल जीसस लागोस (21वें मिनट) और फर्नांडा विलाग्रेन (51वें मिनट) के गोल की बदौलत प्रिंस आफ वेल्स कंट्री क्लब में दो बार बढ़त बनाई लेकिन दीपिका (40वें मिनट) और गगनदीप कौर (55वें मिनट) ने भारत को वापसी दिलाते हुए मैच ड्रॉ करा दिया। दौरे के शुरुआती तीन मैचों में तीन जीत के साथ आत्मविश्वास के साथ भरी भारतीय टीम ने मैच में तेज शुरुआत की लेकिन पहले 15 मिनट में चिली के डिफेंस को भेदकर कोई बड़ा मौका बनाने में विफल रही। दूसरी तरफ चिली ने पलटवार की रणनीति अपनाई और उसे इसका फायदा दूसरे क्वार्टर में मिला।

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

चिली की मारियाना को भारत के गोल के सामने करार शॉट खेलने का पर्याप्त समय मिला जिससे उन्होंने अपनी टीम को बढ़त दिला दी। भारत ने वापसी करते हुए मैच पर नियंत्रण बनाने का प्रयास किया लेकिन मेजबान टीम ने अपने मजबूत डिफेंस की बदौलत मध्यांतर तक 1-0 की बढ़त को बरकरार रखा। तीसरे क्वार्टर में भारतीय टीम ने कई मौके बनाए। पेनल्टी कॉर्नर पर कई मौके गंवाने के बाद भारत ने 40वें मिनट में दीपिका के मैदानी गोल की बदौलत बराबरी हासिल की। चिली को 51वें मिनट में पेनल्टी स्ट्रोक मिला जब भारतीय टीम ने फाउल किया। विलाग्रेन ने इसे गोल में बदलकर चिली को 2-1 से आगे किया। भारत ने हालांकि चार मिनट के भीतर की बराबरी हासिल कर ली जब उसे पेनल्टी स्ट्रोक मिला और गगनदीप ने चिली की गोलकीपर को छकाते हुए स्कोर 2-2 कर दिया। दोनों टीमों ने इसके बाद गोल करने में प्रयास किए लेकिन सफलता नहीं मिली। भारतीय टीम शनिवार और रविवार को चिली की सीनियर टीम के खिलाफ दो मुकाबले और खेलेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




स्विस ओपन सेमीफाइनल में आमने सामने हो सकती हैं सिंधू और साइना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 1, 2021   16:30
  • Like
स्विस ओपन सेमीफाइनल में आमने सामने हो सकती हैं सिंधू और साइना

सिंधू और साइना सेमीफाइनल में आमने सामने हो सकती हैं।इस टूर्नामेंट से ओलंपिक क्वालीफाईंग प्रतियोगिताओं की बहाली भी होगी। यहां के सेंट जैकबशेल स्थल पर ही ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ने 2019 में विश्व चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक जीता था।

बासेल (स्विट्जरलैंड)। मौजूदा विश्व चैंपियन पी वी सिंधू मंगलवार से यहां शुरू होने वाले स्विस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में पोडियम पर पहुंचने और पूर्व चैंपियन साइना नेहवाल लय हासिल करके दमदार वापसी करने पर ध्यान देंगी। भारत के पुरुष एकल खिलाड़ियों समीर वर्मा, एचएस प्रणय और किदाम्बी श्रीकांत ने भी क्रमश: 2018, 2016 और 2015 में यहां खिताब जीता था जबकि बी साई प्रणीत पिछले सत्र में उप विजेता रहे थे। ये चारों खिलाड़ी 140,000 डालर इनामी प्रतियोगिता में अपने पुराने प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेंगे। इस टूर्नामेंट से ओलंपिक क्वालीफाईंग प्रतियोगिताओं की बहाली भी होगी। यहां के सेंट जैकबशेल स्थल पर ही ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ने 2019 में विश्व चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक जीता था।

इसे भी पढ़ें: गोवा में कैसीनो जहाज की छत पर होगा मुक्केबाज विजेंदर का अगला मुकाबला

यह कोविड-19 महामारी के व्यवधान से पहले उनका आखिरी खिताब था। दूसरी वरीयता प्राप्त सिंधू पहले दौर में तुर्की की नेस्लीहान ईगिट से भिड़ेगी। यहां उनकी क्वार्टर फाइनल तक राह आसान लग रही है लेकिन अंतिम आठ में उनका मुकाबला पांचवीं वरीयता प्राप्त थाई खिलाड़ी बुसानन ओंगबामरंगफान से हो सकता है जिसे उन्होंने जनवरी में टोयोटा थाईलैंड ओपन में हराया था। दो बार की पूर्व चैंपियन साइना भी सिंधू वाले हॉफ में ही है। सेमीफाइनल में ये दोनों भारतीय खिलाड़ी आमने-सामने हो सकती हैं। साइना को हालांकि इससे पहले कोरिया की छठी वरीयता प्राप्त सुंग जी ह्यून और डेनमार्क की चौथी वरीय मिया ब्लिचफेल्ट की चुनौती से पार पाना पड़ सकता है। लंदन ओलंपिक खेलों की कांस्य पदक विजेता साइना पहले दौर में थाईलैंड की पिटायापोर्न चाइवान से भिड़ेगी जो विश्व जूनियर चैंपियनशिप की पूर्व कांस्य पदक विजेता है। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ओर चिराग शेट्टी की विश्व में 10वें नंबर की पुरुष युगल जोड़ी पर सभी की निगाह लगी रहेगी।

इसे भी पढ़ें: BCCI की मंजूरी मिलने से पहले गैर मान्यता प्राप्त T20 लीग के लिए हुई नीलामी

युगल के नये कोच मैथियास बो की निगरानी में एक महीने तक अभ्यास करने के बाद यह दूसरी वरीयता प्राप्त भारतीय जोड़ी अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखने की कोशिश करेगी। सात्विक और चिराग टोयोटा थाईलैंड ओपन में सेमीफाइनल तक पहुंचे थे। भारतीय जोड़ी का सामना पहले दौर में स्कॉटलैंड के क्रिस्टोफर ग्रिमले और मैथ्यू ग्रिमले से होगा। सात्विक और अश्विनी पोनप्पा से भी पिछले टूर्नामेंट में अंतिम चार में पहुंचने के कारण उम्मीदें बंधी है लेकिन उन्हें पहले दौर में ही इंडोनेशिया के हाफिज फैजल और ग्लोरिया इमानुएल विजाजा की दूसरी वरीयता प्राप्त जोड़ी की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा। पुरुष एकल में शुरू में समीर और श्रीकांत आमने सामने होंगे जबकि प्रणय अपने अभियान की शुरुआत नीदरलैंड के मार्क कालिजोउ और सौरभ वर्मा स्विट्जरलैंड के क्रिस्टियन क्रिचमेयर के खिलाफ करेंगे। अजय जयराम का सामना थाईलैंड के सिटीकोम थम्मासिन से और पारुपल्लि कश्यप का स्पेन के पाब्लो एबियन से होगा।

इसे भी पढ़ें: ओमान और UAE के खिलाफ मैत्री मैच खेलने के लिए तैयार है भारतीय फुटबॉल टीम

प्रणीत पहले दौर में इस्राइल के मिशा जिल्बरमैन से भिड़ेंगे। चोट के कारण थाईलैंड की प्रतियोगिताओं में भाग नहीं ले पाने वाले लक्ष्य सेन भी इस टूर्नामेंट से वापसी करेंगे। उनका पहला मुकाबला थाईलैंड के तनोंगसाक सीनसोमबूनसुक से होगा। प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की मिश्रित युगल जोड़ी पहले दौर में इंग्लैंड के मार्कस एलिस और लॉरेन स्मिथ का सामना करेगी। एमआर अर्जुन ओर ध्रुव कपिला की जोड़ी व्लादीमीर इवानोव और इवान सुजोनोव की सातवीं वरीयता प्राप्त रूसी जोड़ी के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




गोवा में कैसीनो जहाज की छत पर होगा मुक्केबाज विजेंदर का अगला मुकाबला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 1, 2021   16:11
  • Like
गोवा में कैसीनो जहाज की छत पर होगा मुक्केबाज विजेंदर का अगला मुकाबला

भारतीय पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह का अब अगला पेशेवर मुकाबला गोवा में कैसीनो जहाज की छत पर होगा।विजेंदर के प्रमोटर आईओएस बॉक्सिंग प्रमोशंस ने बयान में कहा, ‘‘अपनी तरह का यह पहला मुकाबला मेजिस्टिक प्राइड कैसीनो जहाज की छत पर होगा।’’

नयी दिल्ली। भारतीय पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह का अगला मुकाबला अगले महीने गोवा में एक कैसीनो जहाज की छत पर होगा। इस मुकाबले के प्रतिद्वंद्वी की घोषणा अभी नहीं हुई है। पैंतीस साल के गत डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल और डब्ल्यूबीओ एशिया पैसीफिक सुपर मिडिलवेट चैंपियन विजेंदर ने नवंबर 2019 में घाना के पूर्व राष्ट्रमंडल चैंपियन चार्ल्स अदामु को दुबई में हराकर लगातार 12वीं जीत दर्ज की थी। इसके बाद से इस भारतीय मुक्केबाज ने किसी मुकाबले में हिस्सा नहीं लिया है। विजेंदर के प्रमोटर आईओएस बॉक्सिंग प्रमोशंस ने बयान में कहा, ‘‘अपनी तरह का यह पहला मुकाबला मेजिस्टिक प्राइड कैसीनो जहाज की छत पर होगा।’’ मैजीस्टिक प्राइड गोवा के पणजी में मांडवी नदी के किनारे खड़ा जहाज है।

इसे भी पढ़ें: BCCI की मंजूरी मिलने से पहले गैर मान्यता प्राप्त T20 लीग के लिए हुई नीलामी

आयोजकों की विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘यह मुकाबला नियमित पेशेवर मुकाबले के पारंपरिक आयोजन से अलग होगा जिसमें दर्शकों को वेगास शैली के मुक्केबाजी मुकाबले जैसी चमक-धमक और ग्लैमर देखने को मिलेगा।’’ विजेंदर ने कहा कि वह इस नए अनुभव को लेकर उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह ऐसी चीज है जो भारत में पहले कभी नहीं हुई और इस बेजोड़ पेशेवर मुकाबले का हिस्सा बनने की मुझे खुशी है। मैं उत्साह से भरा हूं और रिंग में उतरने के लिए बेताब हूं। मैं कड़ी ट्रेनिंग करके खुद को मुकाबले के लिए फिट रख रहा हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




भारत को पैरा विश्व रैंकिंग तीरंदाजी में दो स्वर्ण सहित पांच पदक, अर्जुन मुंडा ने तीरंदाजों को किया सम्मानित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 28, 2021   17:29
  • Like
भारत को पैरा विश्व रैंकिंग तीरंदाजी में दो स्वर्ण सहित पांच पदक, अर्जुन मुंडा ने तीरंदाजों को किया सम्मानित

भारतीय तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष अर्जुन मुंडा और वरिष्ठ अधिकारी वीरेंद्र सचदेवा ने रविवार को यहां एक कार्यक्रम में तीरंदाजों को सम्मानित किया। मुंडा ने उम्मीद जतायी कि भारतीय तीरंदाज इस साल तोक्यो में होने वाले पैरालंपिक में भी पदक जीतने में सफल रहेंगे।

नयी दिल्ली। भारतीय पैरा तीरंदाज राकेश कुमार ने दुबई में फाजा विश्व रैंकिंग टूर्नामेंट में कंपाउंड व्यक्तिगत जबकि हरविंदर सिंह और पूजा की जोड़ी ने रिकर्व मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता। राकेश ने फाइनल में हमवतन श्याम सुंदर को 143-135 से हराया जबकि सेमीफाइनल में उन्होंने तुर्की के अज्ञान को 143-138 से शिकस्त दी। हरविंदर और पूजा ने फाइनल में तुर्की की दुनिया की नंबर एक जोड़ी को हराया। श्याम सुंदर और ज्योति बालियान ने कंपाउंड मिश्रित टीम स्पर्धा का रजत पदक जीता। इन दोनों ने व्यक्तिगत स्पर्धाओं में भी रजत पदक जीते। 

इसे भी पढ़ें: भारतीय पैरा तीरंदाजों ने फाजा विश्व रैंकिंग टूर्नामेंट में एक स्वर्ण , दो रजत पदक जीते 

इस प्रतियोगिता के साथ एक साल बाद पैरा तीरंदाजी की वापसी हो रही है। प्रतियोगिता में 11 देशों के 70 तीरंदाज हिस्सा ले रहे हैं। भारतीय तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष अर्जुन मुंडा और वरिष्ठ अधिकारी वीरेंद्र सचदेवा ने रविवार को यहां एक कार्यक्रम में तीरंदाजों को सम्मानित किया। मुंडा ने उम्मीद जतायी कि भारतीय तीरंदाज इस साल तोक्यो में होने वाले पैरालंपिक में भी पदक जीतने में सफल रहेंगे। इस अवसर पर दिग्गज निशानेबाज लिंबा राम ने तीरंदाजों को आगे बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रेरित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept