ओडिशा ओपन बैडमिंटन : मालविका बंसोड़ को हराकर उन्नति हुड्डा ने फाइनल में किया प्रवेश

Unnati Hooda
प्रियांशु ने जहां कौशल धर्मामेर पर महज 36 मिनट में 21-17 21-14 से सीधे गेम में जीत हासिल की तो वहीं किरण को थोड़ी मशक्कत करनी पड़ी जिन्होंने हमवतन अंसल यादव के खिलाफ एक गेम से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए 19-21 21-12 21-14 से जीत हासिल की।

कटक,  युवा उन्नति हुड्डा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फॉर्म में चल रही मालविका बंसोड़ को हराकर शनिवार को यहां ओडिशा ओपन बैडमिंटन महिला एकल वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया। उन्नति (14 वर्ष) ने खिताब की प्रबल दावेदार मालविका पर 50 मिनट तक चले रोमांचक सेमीफाइनल में 24 . 22, 24 . 22 से जीत दर्ज की। मालविका ने हाल ही में इंडिया ओपन में साइना नेहवाल को हराया और सैयद मोदी इंटरनेशनल टूर्नामेंट में फाइनल तक पहुंची जिसमें पी वी सिंधू ने उसे मात दी। उसने जूनियर विश्व रैंकिंग में नंबर एक तसनीम मीर को भी यहां प्री क्वार्टर फाइनल में हराया था। दूसरे सेमीफाइनल में दुनिया की 163वीं रैंकिंग वाली स्मिट तोशनीवाल ने ऊंची रैंकिंग वाली अश्मिता चालिहा को 21 . 19, 10 . 21, 21 . 17 से हराया। प्रियांशु राजावत और किरण जॉर्ज ने अलग अलग तरीकों से जीत दर्ज करते हुए पुरूष एकल स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश किया।

प्रियांशु ने जहां कौशल धर्मामेर पर महज 36 मिनट में 21-17 21-14 से सीधे गेम में जीत हासिल की तो वहीं किरण को थोड़ी मशक्कत करनी पड़ी जिन्होंने हमवतन अंसल यादव के खिलाफ एक गेम से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए 19-21 21-12 21-14 से जीत हासिल की। रविकृष्णा पीएस और शंकर प्रसाद उदयकुमार की पुरूष युगल जोड़ी ने हमवतन वसंत कुमार रंगनाथ और असित सूर्या पर 21-12 18-21 21-18 की जीत से फाइनल में प्रवेश किया। अब फाइनल में उनका सामना नूर मोहम्मद अयूब अजरिन और लि खिम वाह की मलेशियाई जोड़ी से होगा जिन्होंने सचिन डायस और बुवेनेका गुनेथिलेका की श्रीलंकाई जोड़ी को 15-21 21-18 21-17 से शिकस्त दी। साथ ही संयोगिता घोरपाडे और श्रुति मिश्रा की आठवीं वरीयता प्राप्त भारतीय महिला युगल जोड़ी ने भी फाइनल में प्रवेश कर लिया। संयोगिता और श्रुति की जोड़ी ने श्रीवैद्या गुराजादा और इशिका जायसवाल की भारतीय-अमेरिकी जोड़ी पर 10-21 21-18 21-17 से जीत हासिल की।

संयोगिता और श्रुति की जोड़ी का सामना त्रिसा जॉली और गायत्री गोपीचंद की पांचवीं वरीयता प्राप्त जोड़ी से होगा जिन्होंने हमवतन अरूल बाला राधाकृष्णन और निला वालुवान की जोड़ी को 21-9 21-6 से शिकस्त दी। मिश्रित युगल में एम आर अर्जुन और त्रिसा जॉली ने बालकेशरी यादव और श्वेतापर्ण पांडा को 21 . 9, 21 . 9 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।  अब उनका सामना श्रीलंका के सचिव डायस और टी हेंडावा से होगा जिन्होंने भारत के मौर्यन कार्तिरावन और कुशान बालाश्री को 21-8 21-17 से हराया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़