ओलंपिक की तैयारी मेरे जीवन का सबसे अहम चरण, फाइनल्स में सुधार करने की जरूरत: निशानेबाज संजीव राजपूत

निशानेबाज संजीव राजपूत
अनुभवी निशानेबाज संजीव राजपूत ने कहा, ओलंपिक की तैयारी मेरे जीवन का सबसे अहम चरण पर है। उन्होंने कहा फाइनल्स में सुधार करने की जरूरत है।मौसम की स्थिति (व्यक्तिगत योग्यता में) को देखते हुए मिश्रित टीम क्वालीफिकेशन के नीलिंग और प्रोन मेंमैंने अच्छा किया।

नयी दिल्ली।अपनी शैली और तकनीक के साथ प्रयोग कर रहे अनुभवी निशानेबाज संजीव राजपूत ने इस साल के तोक्यो ओलंपिक की तैयारियों को अपने जीवन का ‘सबसे महत्वपूर्ण’ चरण करार देते हुए कहा कि वह फाइनल्स में अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए काम करना चाहते हैं। राजपूत और तेजस्विनी सावंत ने आईएसएसएफ विश्व कप में शुक्रवार को 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस मिश्रित टीम स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।भारतीय जोड़ी ने फाइनल में उक्रेन के सेरही कुलीश और अन्ना इलिना को 31 -29 से हराया। उन्होंने कहा, ‘‘ फाइनल्स में मुझे कुछ बदलाव के साथ थोड़ी और मेहनत करने की जरूरत है, मुझे सुधार करने पर ध्यान देना होगा। मौसम की स्थिति (व्यक्तिगत योग्यता में) को देखते हुए मिश्रित टीम क्वालीफिकेशन के नीलिंग और प्रोन मेंमैंने अच्छा किया।

इसे भी पढ़ें: भारत के खिलाफ बेन स्टोक्स ने गेंद पर लगाई लार, अंपायर ने दी चेतावनी

उन्होंने कहा, ‘‘फाइनल में एक अलग तरह का दबाव होता है, सीमित निशाने लगाने होते हैं और बहुत सारे लोग, मीडिया देख रहा है। इसलिए कई बार छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर दिया जाता है।’’ ‘‘ क्वालीफिकेशन के प्रदर्शन से मैं काफी खुश हूं, मैने स्टैंडिंग में98, 98 और 95 का स्कोर किया। मैंने आज फाइनल में अच्छा नहीं किया क्योंकि मैं कुछ प्रयोग कर रहा था। इस 40 साल के निशानेबाज ने 2019 रियो डि जेनेरियो विश्व कप के दौरान 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंन में ओलंपिक कोटा हासिल किया था।ओलंपिक की तैयारियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘ यह मेरे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण चरण है, मैं 2008 और 2012 मेंओलंपिक में भाग ले चुका हूं। नौ साल बाद यह एक बहुत ही अलग ओलंपिक होगा,यह सभी के लिए अलग होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़