सेक्स करते समय प्राइवेट पार्ट में कंडोम फंसना हो सकता है खतरनाक, करें ये काम

सेक्स करते समय प्राइवेट पार्ट में कंडोम फंसना हो सकता है खतरनाक, करें ये काम

कंडोम का इस्तेमाल एक अच्छे गर्भनिरोधक के रूप में किया जाता है। महिलाओं को डर लगा रहता है कि कंडोम उनके प्राइवेट पार्ट में फंस जाएगा। कंडोम वजाइना में फंस जाता है, पेट में चला जाता है, गायब हो जाता है और इसे सर्जरी द्वारा ही निकाला जा सकता है। यह बाते सिर्फ महिलाओं के दिमाग का भ्रम होती है।

आज के समय में हर कोई अपनी सेक्स लाइफ को अच्छे से और लंबे समय तक इंजॉय करना चाहता है इसलिए कपल्स अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए गर्भनिरोधक तरीकों का सहारा लेते हैं। गर्भनिरोधक तरीकों की बात करते ही हर किसी के दिमाग में सबसे पहले कंडोम का नाम आता है। यह अनचाही प्रेगनेंसी से बचने का सबसे आसान और अच्छा उपाय है। बहुत से कपल्स सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करने से हिचकिचाते हैं क्योंकि उनके दिमाग में इसके इस्तेमाल को लेकर कई गलत बातें होती हैं जो गलतफहमी को बढ़ावा देती हैं। कई पुरुषों को लगता है कि कंडोम का इस्तेमाल करने की वजह से वह सेक्स के दौरान संतुष्ट नहीं हो पाते, वहीं कई महिलाओं के दिमाग में भ्रम होता है कि सेक्स के दौरान कंडोम उनके प्राइवेट पार्ट में फंस सकता है।

इसे भी पढ़ें: सेक्स के दौरान कंडोम को फटने से बचाने के लिए फॉलो करें ये आसान टिप्स

यौन रोग विशेषज्ञ डॉ. राजन भोसले ने एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए अपने इंटरव्यू में बताया कि ज्यादातर शादीशुदा लोग कंडोम का इस्तेमाल करते है क्योंकि वह शादी के शुरुआती दिनों में या बिना प्लान किए प्रेग्नेंट नहीं होना चाहते हैं। कंडोम का इस्तेमाल एक अच्छे गर्भनिरोधक के रूप में किया जाता है। यह सुरक्षित तरीका है और यह बाजार में आसानी से भी उपलब्ध है। कंडोम की ख़ास बात यह है कि इसके कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होते हैं। कपल्स सोचते हैं कि कंडोम का इस्तेमाल करना मतलब सुरक्षित सेक्स। वहीं कई महिलाओं को डर लगा रहता है कि सेक्स के दौरान कंडोम उनके प्राइवेट पार्ट में फंस जाएगा। ऐसी चीजें कहीं पढ़ने या सुनने के बाद महिलाओं को लगने लगता है कि ऐसा उनके साथ भी हो सकता है। कंडोम वजाइना में फंस जाता है, तो यह पेट में चला जाता है, गायब हो जाता है और इसे सर्जरी द्वारा ही निकाला जा सकता है। यह बाते सिर्फ महिलाओं के दिमाग का भ्रम होती है और ऐसा कुछ नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें: हर कपल को पता होनी चाहिए सेक्स से जुड़ी से खास बातें, अपने खास पलों और भी ज़्यादा खास

डॉ. राजन भोसले ने आगे बात करते हुए कहा कि महिलाओं को इस बात का पता होना चाहिए की उनके प्राइवेट पार्ट में कंडोम फंसने के चांस बहुत कम होते हैं। अगर ऐसा होता है तो तो डरने की कोई बात नहीं है। महिलाएं अपनी साफ उँगलियों की मदद से प्राइवेट पार्ट में अटके कंडोम को आसानी से हटा सकती हैं। अगर आपके प्राइवेट पार्ट में कंडोम फंस गया है तो आप टॉयलेट सीट पर जाकर बैठ सकती है ऐसा करने से अटका हुआ कंडोम कुछ हद तक बाहर आ जायेगा जिसे आप आसानी से अपने हाथों की मदद से निकाल सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: पत्नी की अजीब शर्त! साल में सिर्फ 3 बार सेक्स कर सकता है पति, अब बचे हैं बस 2 मौके

पीरियड्स के दौरान सेक्स करना कितना सही है इस बात पर अपनी राय देते हुए यौन रोग विशेषज्ञ डॉ. राजन भोसले ने कहा कि पीरियड्स के दौरान सेक्स करने को लेकर महिलाओं के दिमाग में कई भ्रम होते है जैसे शरीर से खून बह रहा हो तो सेक्स करना सही नहीं है, पीरियड्स में सेक्स करने के दौरान बेड गंदा हो सकता है। इसलिए सेक्स करने से बचना ही अच्छा है। दरअसल मेडिकल साइंस पीरियड्स में सेक्स करने की मनाही नहीं करता है। पीरियड्स में सेक्स करना गलत नहीं है। ह पुरुषों या महिलाओं को नुकसान नहीं पहुंचाता है और प्रेग्नेंट होने की संभावना कम हो जाती है। अगर कपल्स पीरियड्स के दौरान सेक्स करना चाहते हैं तो वह कर सकते हैं।