जानें क्या है सर्वपितृ अमावस्या? इस दिन श्राद्ध करने से मिलता है पूरे पितृपक्ष का फल

जानें क्या है सर्वपितृ अमावस्या? इस दिन श्राद्ध करने से मिलता है पूरे पितृपक्ष का फल

सर्वपितृ अमावस्‍या पितृ पक्ष का अंतिम दिन होता है। इस बार सर्वपितृ अमावस्या 6 अक्टूबर 2021 को है। शास्त्रों के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितृ धरती लोक से विदा लेते हैं और इस दिन पिंडदान और तर्पण करने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है।

हिन्‍दू पंचांग के अनुसार अश्विन मास की कृष्‍ण पक्ष की अंतिम तिथि को सर्वपितृ अमावस्‍या कहा जाता है। इसे महालया या मोक्षदायनी अमावस्या भी कहा जाता है। यह पितृ पक्ष का अंतिम दिन होता है। इस बार सर्वपितृ अमावस्या 6 अक्टूबर 2021 को है। शास्त्रों के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितृ धरती लोक से विदा लेते हैं और इस दिन पिंडदान और तर्पण करने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। आज के इस लेख में हम आपको सर्वपितृ अमावस्या के महत्व और इस दिन श्राद्ध करने की विधि के बारे में बताएंगे-

इसे भी पढ़ें: बालू से पिंडदान क्यों किया जाता है? वाल्मीकि रामायण में मिलता है इसका उल्लेख

सर्व पितृ अमावस्‍या का महत्‍व

हिन्दू धर्म में पितृ पक्ष की अमावस्या यानी सर्व पिृत अमावस्‍या का विशेष महत्त्व है। शास्त्रों के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितरों का श्राद्ध, पिंडदान और तर्पण करने से विशेष फल प्राप्त होता है और पितृदोष से मुक्ति मिलती है। सर्वपितृ अमावस्या के बारे में यह मान्यता भी है कि यदि पितृपक्ष में श्राद्ध तिथि वाले दिन श्राद्ध ना कर पाए हों तो सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितरों का श्राद्ध-तर्पण करने से बीते 14 दिनों का पुण्य प्राप्त होता है। इसके साथ ही जिन पितरों की मृत्यु तिथि के बारे में ना पता हो उनका श्राद्ध भी सर्वपितृ अमावस्या के दिन कर सकते हैं। शास्त्रों के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितरों का श्राद्ध-तर्पण करने से वे खुशी-खुशी विदा होते हैं और आशीर्वाद देते हैं। इस दिन श्राद्ध करने से पितरों की आत्मा तृप्त होती है और उनकी आत्मा को शांति मिलती है। इस दिन पितरों का श्राद्ध और तर्पण किया जाता है और ब्राह्मणों को भोजन करवाया जाता है। मान्यताओं के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन ब्राह्मणों और गरीबों को दान-दक्षिणा देने से और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

इसे भी पढ़ें: पितृपक्ष में नहीं बरतीं ये सावधानियाँ तो उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

सर्व पितृ अमावस्‍या के दिन श्राद्ध करने की विधि 

सर्व पितृ अमावस्‍या के दिन सुबह जल्दी उठकर स्‍नान करें और स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण कर लें। श्राद्ध करते समय सफेद वस्त्र ही धारण करें। 

अब गायत्री मंत्र का जाप करते हुए सूर्य देव को जल अर्पित करें। 

पितृपक्ष में हर दिन पितरों का तर्पण करना चाहिए। इसके लिए पानी में दूध, काले तिल, शहद और जौ मिला मिला कर तर्पण करें। 

सर्वपितृ अमावस्या के दिन श्राद्ध और पिंडदान करने के लिए किसी पंडित-पुरोहित को बुला सकते हैं। 

श्राद्ध के दिन पितरों की पसंद का सात्त्विक भोजन बनाएं और उनका स्मरण करें ताकि वे भोजन प्राप्त करके तृप्त हो सकें। श्राद्ध करने के बाद पितरों की आत्मा की शांति की कामना करें।

पिंड दान और तर्पण करने के बाद पंडित या किसी ब्राह्मण को भोजन कराएं और दक्षिणा दें।

श्राद्ध के दिन गाय, कौए, कुत्ते या चींटी को भोजन कराने से पुण्य मिलता है।

इस दिन किसी ब्राह्मण या जरूरतमंद को चावल, दाल, चीनी, नमक, मसाले, कच्ची सब्जियां, तेल और मौसमी फल आदि दान करना चाहिए। 

ब्राह्मण को भोजन करवाने के बाद पितरों के प्रति आभार प्रकट करें और जाने-अनजाने में हुई गलती के लिए क्षमा याचना करें। इसके बाद अपने पूरे परिवार के साथ बैठ कर भोजन करें। 

सर्वपितृ अमावस्या को शाम के समय 2, 5 या 16 दीप भी जलाएं।

- प्रिया मिश्रा





Related Topics
hindu dharm pitrupaksha 2021 sarvapitru amavasya sarvapitru amavasya 2021 date sarvapitru amavasya importance sarvapitru amavasya kab hai हिंदू धर्म सर्वपितृ अमावस्या सर्वपितृ अमावस्या कब है सर्वपितृ अमावस्या का महत्व सर्वपितृ अमावस्या पर श्राद्ध करने का तरीका pitrupaksh ke niyam pitrupaksh rules pitrupaksh me kya karna chahiye हिंदू धर्म पितृपक्ष 2021 पितृपक्ष के नियम पितृपक्ष में क्या करना चाहिए shradh 2021 shradh 2021 kab se hai mahalaya 2021 pitrapaksh start date pitrapaksh date in hindi pitrapaksh kab se hain pitrapaksh date 2021 shradh 2021 start date pitru paksha pitru paksha 2021 dates shradh pitru paksha 2021 pitru paksha Shradh Start Dete pind daan pitru paksha amavasya 2021 shradh kab se shuru hai 2021 shradh and navratri 2021 sharad kab hai 2021 shradh dates in 2021 श्राद्ध 2021 कब है पितृ पक्ष 2021 कब है पितृपक्ष कब से आरंभ हो रहा है जानें कब से हैं श्राद्ध पक्ष श्राद्ध पक्ष 2021 डेट्स कब है पितृ पक्ष श्राद्ध श्राद्ध कब है 2021 श्राद्ध कब है 2021 2021 में श्राद्ध कब से शुरू है 2021 में श्राद्ध कब है 2021 में श्राद्ध कब है श्राद्ध पक्ष 2021 पितृ विसर्जन कब है 2021 पितृ पक्ष 2021 डेट श्राद्ध पक्ष 2021 पितृ पक्ष डेट 2021 पितृ विसर्जन कब है 2021 पितृ श्राद्ध 2021 पितृ विसर्जन 2021 2021 में श्राद्ध कब है पूर्णिमा आश्विन मास की अमावस्या श्राद्ध पितृपक्ष कैसे करें श्राद्ध religion पितृपक्ष में पिंड दान पितृपक्ष में बालू से पिंड दान क्यों किया जाता है pitrupaksh me pind daan pitrupaksh me baloo se pind daan kyon kiya jata hai