मुश्किल में अक्षय कुमार और फिल्म राम सेतु की टीम, सुब्रमण्यम स्वामी ने भेजा कानूनी नोटिस

Akshay Kumar
ANI
रेनू तिवारी । Aug 30, 2022 12:22PM
सुब्रमण्यम स्वामी ने 28 अगस्त को कानूनी नोटिस भेजा और हिंदी सिनेमा पर तथ्यों को गलत तरीके से पेश करने की आदत का आरोप लगाया। राजनेता ने ट्वीट किया, "मुंबई सिनेमा तथ्यों को गलत तरीके से इस्तेमाल करने की बुरी आदत है।

अक्षय कुमार-स्टारर फिल्म राम सेतु एक बार फिर से चर्चा में हैं। पिछले काफी समय से बॉलीवुड की फिल्में लगातार बायकॉट का सामना कर रही हैं लेकिन रामसेतु को लेकर कोई सोशल मीडिया ट्रेंड नहीं बल्कि कानूनी लड़ाई है।भाजपा नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अब फिल्म के कथित फर्जीवाड़े के लिए फिल्म की टीम को कानूनी नोटिस भेजा है। आगामी फिल्म की टीम में अक्षय कुमार, जैकलीन फर्नांडीज और नुसरत भरुचा शामिल हैं, और इन सभी को फिल्म  में तथ्यों को 'विकृत' करने के लिए कानूनी नोटिस मिला है। सुब्रमण्यम स्वामी ने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने अक्षय और आठ अन्य को 'बौद्धिक संपदा अधिकार' सिखाने के लिए नोटिस भेजा है।

इसे भी पढ़ें: नाबालिग को जिंदा जलाना पशुता, दुमका की घटना पर बोले ओवैसी- मामले की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट बनाई जाए

अक्षय कुमार और राम सेतु टीम ने दिया कानूनी नोटिस

सुब्रमण्यम स्वामी ने 28 अगस्त को कानूनी नोटिस भेजा और हिंदी सिनेमा पर तथ्यों को गलत तरीके से पेश करने की आदत का आरोप लगाया। राजनेता ने ट्वीट किया, "मुंबई सिनेमा तथ्यों को गलत तरीके से इस्तेमाल करने की बुरी आदत है। इसलिए उन्हें बौद्धिक संपदा अधिकार सिखाने के लिए, मैंने सत्य सभरवाल एड के माध्यम से सिने अभिनेता अक्षय कुमार को कानूनी नोटिस जारी किया है। 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल बनाम भाजपा: मनीष सिसोदिया के बैंक लॉकर की CBI कर रही तलाशी

कानूनी नोटिस में क्या कहा गया?

एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, अधिवक्ता सत्य सबरवाल ने अपने कानूनी नोटिस में कहा, "मेरे मुवक्किल ने 2007 में, राम सेतु के संरक्षण के लिए सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष सफलतापूर्वक तर्क दिया था और सरकार के सेतुसमुद्रम-शिप चैनल प्रोजेक्ट का विरोध किया था। भारत सरकार जिसने राम सेतु (हिंदुओं द्वारा पवित्र माना जाने वाला स्थल) को तोड़ने की परिकल्पना की थी, 31 अगस्त, 2007 को सर्वोच्च न्यायालय ने राम सेतु को ध्वस्त करने या क्षतिग्रस्त करने की किसी भी योजना के खिलाफ स्थगन आदेश पारित करने की कृपा की थी। यह इस आधार पर था कि आस्था और पूजा एक संवैधानिक अनिवार्यता है।

नोटिस में आगे लिखा गया है, "मेरे मुवक्किल की जानकारी में आया है कि राम सेतु नामक एक फिल्म को फिल्माया गया है और 24 अगस्त को रिलीज होने वाली है। अदालत की कार्यवाही पिछली सरकारों द्वारा ध्वस्त किए जा रहे राम सेतु को बचाने का एक अभिन्न अंग है।  याचिका में यह भी मांग की गई है कि राम सेतु से संबंधित स्क्रिप्ट/फ्रेम को सुब्रमण्यम स्वामी के साथ साझा किया जाए ताकि भविष्य में तथ्यों के किसी भी मिथ्याकरण या गलत चित्रण को रोका जा सके।

राम सेतु के बारे में

राम सेतु का निर्देशन फिल्म निर्माता अभिषेक शर्मा ने किया है। अक्षय जैकलीन फर्नांडीज और नुसरत भरूचा के साथ नजर आएंगे। राम सेतु एक एक्शन-एडवेंचर ड्रामा है जो एक पुरातत्वविद् का अनुसरण करता है जो यह जांचता है कि राम सेतु एक मिथक है या वास्तविकता। यह फिल्म अक्षय की कंपनी केप ऑफ गुड फिल्म्स के साथ-साथ अमेजन प्राइम वीडियो, अबुदंतिया एंटरटेनमेंट और लाइका प्रोडक्शंस द्वारा सह-निर्मित है। यह इसी साल 24 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने की उम्मीद है।

अन्य न्यूज़