बॉलीवुड ने वीना मलिक के रूप में सांप को दूध पिलाया, PAK में उड़ा रही है IAF पायलट का मजाक

बॉलीवुड ने वीना मलिक के रूप में सांप को दूध पिलाया, PAK में उड़ा रही है IAF पायलट का मजाक

कहते है तमीज सिखाई नहीं जाती अगर आपके पास अक्ल हैं तो आप तमीज अपने आप सीख जाओगे... सही कहा हैं शायद पाकिस्तानी एक्ट्रेस वीना मलिक के पास न ही अक्ल है और न ही तमीज।

 कहते ही कि सांप को दूध पिलाओ गे तो वो कभी न कभी डसेगा ही, कुछ इसी तरह के हैं कुछ पकिस्तानी कलाकार। गाना गाया इंडिया में, पैसा कमाया इंडिया में, एक्टिंग की इंडिया में, शौहरत कमाई इंडिया में.. लेकिन जब इंडिया पर संकट आया तो भीगी बिल्ली की तरह कहीं छुपकर बैठ गये। खैर ये तो वो कलाकार हैं जिनसे कुछ उम्मीद नहीं की जा सकती क्योंकि इनके नाम से पाकिस्तान जो जुड़ा हैं। जो हमेशा पीठ पर वार करता हैं। इन भीगी बिल्ली बने कलाकारों में एक मौहतरा भी शामिल है जो बेहद ही बदतमीज हैं। इन मैडम की तालीम ने उनको एहसान लेना नहीं सिखाया.. एहसान तो दूर की बात हैं बोलने की तमीज तक नहीं सिखाई हैं। 

इसे भी पढ़ें: PAK ‘खुले दिल’ से पुलवामा हमले पर भारत के डॉजियर का आकलन करेगा

कहते है तमीज सिखाई नहीं जाती अगर आपके पास अक्ल हैं तो आप तमीज अपने आप सीख जाओगे... सही कहा हैं शायद पाकिस्तानी एक्ट्रेस वीना मलिक के पास न ही अक्ल है और न ही तमीज। ये बात इस तरह साबित हो गई जब वीना मलिक ने एक ट्वीट किया... ये ट्वीट पाकिस्तान की तरफ से पकड़े गये भारत के एयरफोर्स के पायलट को लेकर था। वीना मलिक ने पायलट का मजाक उड़ाते हुए लिखा कि - हैली मेरे सभी बॉलीवुड के दोस्तों को, हमसे पंगा मत लेना।' वीना मलिक ने दूसरा ट्वीट करते हुए कहा की अभिनंदन की फोटो साझा करते हुए वीना ने लिखा- 'अभी अभी तो आए हो... अच्छी मेहमान नवाजी होगी आपकी।'

इस ट्वीट के बाद साबित हो गया कि वीना मलिक जैसे कलाकारों को भारत ने पनाह देकर आस्तीन के सांप को दूध पिलाया हैं। इस सांप को जैसे ही मौका मिला वैसे ही डसने आ गया। वीना मलिक ने साल 2012 में बॉलीवुड डेब्यू फिल्म गली गली में चोर के आइटम सांग से किया था जिसके बाद भारतीय सिनेमा से उन्हें पहचान मिली। वरना पाकिस्तान में उनकी केवल कंदील बलोच जैसी ही पहचान थी।

खैर एहसान फरामोशों का कुछ नहीं किया जा सकता। वीना मलिक का करारा जबाव देते हुए स्वरा भास्कर ने लिखा- 'वीना जी, आप पर और आपकी बीमार मानसिकता पर शर्म आती है। हमारा ऑफिसर एक नायक है। जो बहादुर, अनुग्रह और सम्मानजक है। कम से कम आपके अंदर उस मेजर की तरह नहीं जो विंग कमांडर अभिनंदन से सवाल कर रहे हैं। साथ ही उन पाकिस्तानियों की तरह जो शांति चाहते हैं।'