मैंने ऐसा क्या कह दिया जो मुझे गद्दार ठहराया जा रहा है: नसीरुद्दीन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 21, 2018   15:15
मैंने ऐसा क्या कह दिया जो मुझे गद्दार ठहराया जा रहा है: नसीरुद्दीन

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें नसीरुद्दीन ने कहा, ‘‘कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है।

 अजमेर। अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने देश में असहिष्णुता संबंधी अपने कथित बयान का बचाव करते हुए शुक्रवार को यहां कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा जिसके लिए उन्हें गद्दार ठहराया जाए। नसीर ने कहा कि उन्होंने तो बस अपने मुल्क के बारे में बात करते हुए अपनी चिंता जाहिर की है। यहां एक स्कूल के कार्यक्रम में भाग लेने आए नसीर से जब उनके इस बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘यह बात तो एक चिंतित भारतवासी की हैसियत से मैं पहले भी कह चुका हूं। मुझे नहीं मालूम कि इस बार मैंने ऐसा क्या कह दिया कि मुझे गद्दार ठहराया जा रहा है। अजीब बात है।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें नसीरुद्दीन ने कहा, ‘‘कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है। ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलाद के बारे में सोचकर फिक्र होती है।’’ नसीर ने इससे पहले क्रिकेटर विराट कोहली को घमंडी कहकर भी विवाद खड़ा कर दिया था।

यह भी पढ़ें: नसीरुद्दीन शाह को देश में लगता है डर, कहा- इंसान से ज्यादा गाय किमती

नसीर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘फिर आप यह भी कह सकते हैं कि विराट कोहली की आलोचना करने के लिए मुझे आस्ट्रेलियाई टीम ने कहा था। तो अगर उनको आलोचना करने का हक है तो मुझे भी है ना। मैं अपने मुल्क, जो मेरा अपना घर है जिसे मैं प्यार करता हूं मैं उसके बारे में बात कह रहा हूं फिक्र जाहिर कर रहा हूं।’’ नसीर को यहां एक साहित्य सम्मेलन में भी भाग लेना था। लेकिन भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने वहां विरोध प्रदर्शन किया। एक कार्यकर्ता ने सम्मेलन स्थल के बाहर नसीर के पोस्टर पर स्याही फेंकी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।