भारत का कच्चा इस्पात उत्पादन जनवरी में गिरकर 92 लाख टन पर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2019   16:52
भारत का कच्चा इस्पात उत्पादन जनवरी में गिरकर 92 लाख टन पर

यह एक साल पहले की इसी अवधि की तुलना में करीब एक प्रतिशत है। चीन सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है। चीन ने जनवरी 2019 में 7.50 करोड़ टन कच्चा इस्पात का उत्पादन किया। यह जनवरी 2018 के 7.18 करोड़ टन से करीब 4.3 प्रतिशत अधिक है।

नयी दिल्ली। भारत का कच्चा इस्पात उत्पादन जनवरी 2019 के दौरान करीब दो प्रतिशत गिरकर 91.80 लाख टन रह गया।विश्व इस्पात संगठन ने यह जानकारी दी। जनवरी 2018 में देश का कच्चा इस्पात उत्पादन 93.54 लाख टन था। विश्व इस्पात संगठन ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि वैश्विक कच्चा इस्पात उत्पादन जनवरी 2019 में 14.67 करोड़ टन रहा।

इसे भी पढ़ें: चंद्रबाबू नायडू का आरोप, आंध्र प्रदेश को लेकर राज धर्म का पालन नहीं कर रहे हैं मोदी

यह एक साल पहले की इसी अवधि की तुलना में करीब एक प्रतिशत है। चीन सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है। चीन ने जनवरी 2019 में 7.50 करोड़ टन कच्चा इस्पात का उत्पादन किया। यह जनवरी 2018 के 7.18 करोड़ टन से करीब 4.3 प्रतिशत अधिक है।

इसे भी पढ़ें: विशेष राज्य के दर्जे की मांग को लेकर एक दिन के अनशन पर बैठे चन्द्रबाबू नायडू

चीन के बाद करीब 92 लाख टन कच्चे इस्पात का उत्पादन किया। इसके बाद जापान (81 लाख टन) और दक्षिण कोरिया (62 लाख टन) का उत्पादन किया। अमेरिका ने जनवरी 2019 में 76 लाख टन कच्चे इस्पात का उत्पादन किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

बिज़नेस

झरोखे से...