भारत वित्तीय धोखाधड़ी रोकने के लिये चीन में तैनात करेगा सीमा शुल्क खुफिया अधिकारी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 17 2019 4:00PM
भारत वित्तीय धोखाधड़ी रोकने के लिये चीन में तैनात करेगा सीमा शुल्क खुफिया अधिकारी
Image Source: Google

बीजिंग स्थिति भारतीय दूतावास तथा गुआनझाऊ में भारतीय महावाणिज्य दूतावास में सीमाशुल्क विभाग के विदेशी आसूचना नेटवर्क (सीओआईएन) के दो पद सृजित किये गये हैं।

नयी दिल्ली। भारत कालाधन पर अंकुश लगाने, व्यापार आधारित मनी लांड्रिंग तथा अन्य वित्तीय धोखाधड़ी पर अंकुश लगाने के लिये चीन में खुफिया सीमा-शुल्क अधिकारियों को तैनात करेगा। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। बीजिंग स्थिति भारतीय दूतावास तथा गुआनझाऊ में भारतीय महावाणिज्य दूतावास में सीमाशुल्क विभाग के विदेशी आसूचना नेटवर्क (सीओआईएन) के दो पद सृजित किये गये हैं। वित्त मंत्रालय ने इसके लिए अधिकारियों के चयन की प्रक्रिया शुरू की है।अधिकारियों ने कहा कि राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने चीन से व्यापार आधारित मनी लांड्रिंग तथा अन्य वित्तीय धोखाधड़ी रोकने के लिये यह कदम उठाया है। डीआरआई सीमा शुल्क धोखाधड़ी तथा तस्करी रोकने की प्रमुख एजेंसी है।

भाजपा को जिताए

उसने कहा कि सीओआईएन अधिकाररी को आम तौर पर अपनी तैनाती वाली जगह से प्राप्त खुफिया जानकारी या सूचना देने की जवाबदेही होती है ताकि भारतीय खुफिया एजेंसियां व्यापार संबंधित धोखाधड़ी को मदद मिले। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘सीओआईएन अधिकारी भारतीय एजेंसियों के साथ खुफिया जानकारी साझा कर व्यापारी आधारित मनी लांड्रिंग, काला धन तथा कर चोरी रोकने में अहम भूमिका निभाते हैं। चूंकि भारत और चीन के बीच उल्लेखनीय मात्रा में आयात और निर्यात किया जाता है, ऐसे में चीन में खुफिया नेटवर्क का विस्तार जरूरी है।’’ पूर्व में सीमा शुल्क अधिकारियों ने चीन को की जाने वाली और वहां से होने वाली तस्करी के बारे में जानकारी दी है। तस्करी रोकने के लिये सीओआईएन अधिकारी फिलहाल नेपाल, सिंगापुर, ब्रसेल्स, अमेरिका तथा ब्रिटेन समेत कई देशों में तैनात हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video