International Millet Year: PM ने कहा देश अनाज वर्ष के जश्न को आगे बढ़ाएगा, पौष्टिक अनाज की खेती एवं सेवन को देंगे बढ़ावा

PM on Millet
प्रतिरूप फोटो
ANI
प्रधानमंत्री ने इटली की राजधानी रोम में आयोजित अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष-2023 के उद्घाटन समारोह में भेजे गए अपने संदेश में यह बात कही। कृषि राज्य मंत्री शोभा करंदलाजे की अगुवाई में भारत का एक प्रतिनिधिमंडल भी इस समारोह में मौजूद रहा। करंदलाजे ने उद्घाटन समारोह के लिए भेजे गए प्रधानमंत्री मोदी के संदेश को सुनाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज (मिलेट) वर्ष 2023 के जश्न को आगे बढ़ाएगा और पौष्टिक अनाज की खेती एवं सेवन को बढ़ावा देने के लिए अभियान चलाएगा। आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने इटली की राजधानी रोम में आयोजित अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष-2023 के उद्घाटन समारोह में भेजे गए अपने संदेश में यह बात कही। कृषि राज्य मंत्री शोभा करंदलाजे की अगुवाई में भारत का एक प्रतिनिधिमंडल भी इस समारोह में मौजूद रहा। करंदलाजे ने उद्घाटन समारोह के लिए भेजे गए प्रधानमंत्री मोदी के संदेश को सुनाया।

बयान के मुताबिक, मोदी ने कहा कि भारत अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष 2023 के जश्न को दुनिया भर में ले जाएगा और पौष्टिक अनाजों की खेती एवं उनके सेवन को बढ़ावा देने के लिए अभियान चलाएगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की सराहना की। उन्होंने मोटे अनाज को प्रोत्साहन देने के लिए मोटा अनाज वर्ष के आयोजन का भारत का प्रस्ताव स्वीकार करने के लिए विश्व समुदाय को धन्यवाद भी दिया।

इसे भी पढ़ें: Stock Market Updates: आज के Top 5 Shares जिन पर होगी निवेशकों की नजर

मोदी ने अपने संदेश में कहा, मोटे अनाज को उपभोक्ता, उत्पादक एवं जलवायु के लिए अच्छा माना जाता है। ये पौष्टिक होने के साथ कम पानी वाली सिंचाई से भी उगाए जा सकते हैं। इस अवसर पर करंदलाजे ने अपने भाषण में कहा कि एक टिकाऊ भविष्य बनाने के लिए देशों को मिलकर काम करने की जरूरत है और इसमें मोटे अनाज की भूमिका अहम होगी। उन्होंने कहा कि मोटा अनाज वर्ष का आयोजन भारत को खाद्य एवं पौष्टिक सुरक्षा की तरफ ले जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़