जेट के घरेलू पायलटों ने SBI को लिखा पत्र, बकाया वेतन भुगतान की मांग की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2019   17:11
जेट के घरेलू पायलटों ने SBI को लिखा पत्र, बकाया वेतन भुगतान की मांग की

कंपनी में चल रही उठा-पटक के बीच जेट एयरवेज के संस्थापक और चेयरमैन नरेश गोयल तथा निदेशक मंडल में शामिल उनकी पत्नी अनीता गोयल ने पद से हटने का निर्णय किया।

मुंबई। जेट एयरवेज के घरेलू पायलटों के निकाय नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने बकाया वेतन भुगतान को लेकर भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार को पत्र लिखा है और उनसे मिलने का समय मांगा है। एसबीआई की अगुवाई में कर्जदाताओं के समूह द्वारा नरेश गोयल की कंपनी के अधिग्रहण के एक दिन बाद एनएजी ने यह मांग रखी है। गिल्ड ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि अगर उनके बकाये वेतन का भुगतान तथा कंपनी को पटरी पर लाने की रूपरेखा 31 मार्च तक उपलब्ध नहीं करायी जाती है तो उसके 1,100 सदस्य एक अप्रैल से उड़ान रोक देंगे।

इसे भी पढ़ें: जेट एयरवेज संकट- नरेश गोयल ने छोड़ा पद, पत्‍नी अनिता भी बोर्ड से बाहर

कंपनी में चल रही उठा-पटक के बीच जेट एयरवेज के संस्थापक और चेयरमैन नरेश गोयल तथा निदेशक मंडल में शामिल उनकी पत्नी अनीता गोयल ने पद से हटने का निर्णय किया। साथ ही उनकी हिस्सेदारी मौजूदा 50.1 प्रतिशत से घटकर 25.5 प्रतिशत पर आ गयी। इस बदलाव के साथ एतिहाद की हिस्सेदारी भी घटकर 12 प्रतिशत पर आ गयी है। जेट एयरवेज के निदेशक मंडल से उसे अपने सदस्य को भी हटाना पड़ा है।

इसे भी पढ़ें: जेट एयरवेज ने किराया नहीं चुका पाने के चलते चार और विमान खड़े किए

समझौते के तहत एसबीआई की अगुवाई में बैंक तत्काल 1,500 करोड़ रुपये की पूंजी एयरलाइंस में डालेंगे तथा 9,700 करोड़ रुपये के कर्ज को इक्विटी में तब्दील करेंगे। नई पूंजी के साथ कंपनी में बैंकों की हिस्सेदारी 50.1 प्रतिशत पर आ गयी है। एनएजी के महासचिव तेज सूद ने कुमार को भेजे ई-मेल में कहा, ‘‘हम आपसे हमें तथा इंजीनियरों को हो रही मुश्किलों को दूर करने का आग्रह करते हैं। इसके लिये जेट का नया प्रबंधन यह सुनिश्चित करे कि लंबित वेतन भुगतान में और विलम्ब न हो।’’ उन्होंने जेट को पटरी पर लाने के लिये एसबीआई को धन्यवाद दिया और उनसे मुलाकात का समय मांगा। गिल्ड जेट में कार्यरत 1,600 पायलटों में से 1,100 पायलटों का प्रतिनिधत्व करता है।सूद ने नये प्रबंधन को एयरलाइन को पटरी पर लाने के लिये हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।