कामधेनु जीवनधारा ने महिलाओं व लड़कियों को निशुल्क सिलाई मशीन वितरित की

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 29 2019 5:25PM
कामधेनु जीवनधारा ने महिलाओं व लड़कियों को निशुल्क सिलाई मशीन वितरित की
Image Source: Google

''कामधेनु जीवनधारा'' शारीरिक रूप से चुनौतियों का सामना कर रहे लोगों को भी सहयोग देती है। समाज के दिव्यांग जनों के लिए कई कल्याणकारी कार्यक्रम चलाए जाते हैं।

 गुरुग्राम। फुल−स्केल वन स्टॉप बिल्डिंग मैटेरियल सॉल्यूशंस कंपनी कामधेनु लिमिटेड की कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व शाखा कामधेनु जीवनधारा ने वंचित तबके की महिलाओं व लड़कियों को सिलाई मशीनें वितरित कीं। इन महिलाओं व लड़कियों ने कामधेनु जीवनधारा द्वारा चलाए गए 'टेलरिंग ट्रेनिंग प्रोग्राम' को सफलतापूर्वक पूरा किया, यह प्रशिक्षण कार्यक्रम उन्हें आर्थिक तौर पर स्वावलंबी व आत्म−निर्भर बनने में मदद करेगा। कामधेनू लिमिटेड के सीएमडी सतीश कुमार अग्रवाल तथा कामधेनु जीवनधारा की चेयरपर्सन राधा अग्रवाल ने गुरुग्राम स्थित कंपनी के टेलरिंग ट्रेनिंग सेंटर में हुए एक समारोह में ये सिलाई मशीनें महिलाओं व लड़कियों को भेंट की।

 
इस समारोह में राधा अग्रवाल ने कहा, ''समावेशी और न्यायसंगत आर्थिक वृद्धि के लिए महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण आवश्यक है। हमें गर्व है की कामधेनु जीवनधारा के जरिए जरूरतमंद महिलाओं के लिए निशुल्क कौशल विकास कार्यक्रम आयोजित करते हैं और उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव लाते हैं। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को पूरा कर चुकी महिलाओं व लड़कियों के चेहरे पर मुस्कुराहट देख कर अत्यंत आनंद होता है, अब वे अपने जीवन की एक नई पारी शुरु करने के लिए तैयार हैं। हमें आशा है की कामधेनु लिमिटेड के सहयोग से कामधेनू जीवनधारा आगामी वर्षों में समाज के वंचित तबके की सेवा करती रहेगी।''
इस अवसर पर सतीश कुमार अग्रवाल ने कहा, ''कामधेनू में हमारा सदैव विश्वास रहा है की यह व्यापार का दायित्व होता है की वह समाज को लौटाए। समाज को सहयोग देने का हमारा प्रयास 'कामधेनु जीवनधारा' के आकार में सामने आया है। अपने मूल्यों पर कायम रहते हुए हमने हमेशा कोशिश की है अत्यंत सावधानी से अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी निभाएं ताकी हम जो सर्वश्रेष्ठ कर सकते हैं वह करें। दूरदर्शी चेयरपर्सन राधा अग्रवाल के मार्गदर्शन में कामधेनु जीवनधारा वंचित वर्ग की महिलाओं और बच्चों के उत्थान पर ध्यान केन्द्रति करती है। ये बच्चे आगे चल कर इस प्रतिस्पर्धा भरी दुनिया का सामना कर सकें इसके लिए उन्हें कंप्यूटर शिक्षा भी दी जाती है। इस दिशा में की गई कोशिशों का लक्ष्य एक बड़ा ध्येय हासिल करना है और वो है बाल मजदूरी को खत्म करना। 
'कामधेनु जीवनधारा' शारीरिक रूप से चुनौतियों का सामना कर रहे लोगों को भी सहयोग देती है। समाज के दिव्यांग जनों के लिए कई कल्याणकारी कार्यक्रम चलाए जाते हैं। उन्हें कृत्रिम अंग, व्हील चेयर, वॉकर, पोलियो कैलिपर व अन्य बॉडी−एड उपकरण प्रदान किए जाते हैं। मरीजों व उनके परिवारों को दवाएं और परामर्श बिल्कुल मुफ्त दिए जाते हैं। कामधेनु जीवनधारा विभिन्न एनजीओ और अन्य स्वायत्त निकायों के साथ जुड़ कर भिन्न−भिन्न तरीकों से दिव्यांगों को मदद मुहैया कराती है। इसने हाल ही में रोटरी क्लब भिवाड़ी को ऐम्बुलेंस दान की है ताकी भिवाड़ी शहर में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने में मदद हो सके।
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप