ऑस्ट्रेलियाई संसद में FTA के पास होने पर पीयूष गोयल बोले- यह ऑस्ट्रेलिया और भारत के लिए ऐतिहासिक क्षण

Piyush Goyal
ANI
अंकित सिंह । Nov 22, 2022 4:04PM
पीयूष गोयल ने इसे ऐतिहासिक क्षण बताया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि यह ऑस्ट्रेलिया और भारत के लिए एक ऐतिहासिक क्षण है, आज इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को हासिल करने के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्रियों को बधाई देना चाहता हूं। ये विश्व मंच पर साझा हितों वाले 2 लोकतंत्र हैं।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच द्विपक्षीय रिश्ते लगातार मजबूती के साथ आगे बढ़ रहे हैं। इन सबके बीच ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर एक बड़ा ऐलान किया है। दरअसल, ऑस्ट्रेलियाई संसद ने भारत-ऑस्ट्रेलिया मुक्त व्यापार समझौता को पारित कर दिया है। इसी बात की जानकारी आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीस ने ट्वीट कर दी है। उन्होंने कहा कि भारत के साथ हमारा मुक्त व्यापार समझौता संसद में पारित हो गया है। बताया जा रहा है कि अब दोनों देश आपसी सहमति से इस बात का फैसला करेंगे कि यह समझौता कब से लागू किया जाए। भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते को लागू करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई संसद की मंजूरी की पहले ही आवश्यकता थी जिसे अब मंजूरी मिल गई है। 

इसे भी पढ़ें: ‘भारत-अमेरिका सीईओ फोरम’ ने द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों को और मजबूत बनाने पर की चर्चा

ऑस्ट्रेलिया के पीएम ने यह भी कहा कि भारत के साथ नए व्यापार समझौते हमारे मौजूदा व्यापार और आर्थिक संबंधों को मजबूत करेंगे। उन्होंने कहा कि ये नए समझौते व्यापार विविधीकरण और ऑस्ट्रेलियाई व्यापार और ऑस्ट्रेलियाई परिवारों के लिए महान परिणामों के लिए नए अवसर पैदा करेंगे। इस खबर के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का भी बयान आया है। पीयूष गोयल ने इसे ऐतिहासिक क्षण बताया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि यह ऑस्ट्रेलिया और भारत के लिए एक ऐतिहासिक क्षण है, आज इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को हासिल करने के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्रियों को बधाई देना चाहता हूं। ये विश्व मंच पर साझा हितों वाले 2 लोकतंत्र हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय रसोइयों और योग प्रशिक्षकों के लिए वीजा के साथ-साथ आश्वासित है कि भारत से ऑस्ट्रेलिया जाने वाले प्रत्येक बच्चे को वहां रोजगार का अवसर दिया जाएगा। स्टेम ग्रेजुएट,डॉक्टरेट को ऑस्ट्रेलिया में 4 साल का वर्क वीजा और पोस्टग्रेजुएट को 3 साल का वर्क वीजा मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: गोयल ने कहा कि हर कैंपस स्टार्टअप्स के लिए इनक्यूबेटर बने, इनोवेशन को बढ़ावा देने की जरूरत है

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि सबसे ज्यादा फायदा आईटी सेक्टर को हुआ है। आईटी उद्योग ने हमारे उद्योग के साथ साझा किया है कि यदि यह कर समाप्त हो जाता है, जिसे अब ऑस्ट्रेलियाई संसद द्वारा अनुमोदित किया गया है, तो वे ऑस्ट्रेलिया के साथ अपने व्यापार में भारी उछाल देख सकते हैं। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में पहली बार, वे 5 साल की अवधि के भीतर 100 प्रतिशत टैरिफ लाइन और 113 लाइनें दे रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम यह देखने के अवसरों की तलाश कर रहे हैं कि कैसे भारतीय व्यवसाय ऑस्ट्रेलिया में एक बड़ा बाजार हिस्सा प्राप्त कर सकते हैं। भारत में सस्ता कच्चा माल आने से हमारे उद्योग को मदद मिलेगी। इससे हमें नौकरियां, काम के अवसर और स्टार्ट-अप जोड़ने में मदद मिलेगी। 

अन्य न्यूज़