यूके की ग्लोबल ट्रेड फाइनेंस प्रोवाइडर PrimaDollar भारत में हुई लॉन्च

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2019   18:23
यूके की ग्लोबल ट्रेड फाइनेंस प्रोवाइडर PrimaDollar भारत में हुई लॉन्च

अंतरराष्ट्रीय खरीदार चाहते हैं कि निर्यातक पहले शिपमेंट रवाना करें और बाद में भुगतान प्राप्त करें। अक्सर वे 60, 90, 120 या 150 दिन का क्रेडिट लेते हैं। प्राइमाडॉलर निर्यातक के लिए कैशफ्लो के अंतर को खत्म करता है। निर्यातक को अग्रिम भुगतान करता है।

दिल्ली। प्राइमाडॉलर ने पायलट चरण की सफलता के बाद भारत में अधिकृत तौर पर अपने ऑपरेशन शुरू कर दिए हैं। प्राइमाडॉलर की स्थापना 2015 में सीईओ टिम निकोल और निवेशकों के एक अंतरराष्ट्रीय समूह ने की थी। पहले ही 30 से अधिक देशों में ग्राहकों के साथ, प्राइमाडॉलर दुनिया भर के आयातकों और निर्यातकों को यूके में अपने मुख्यालय और पूरे दक्षिण और पूर्वी एशिया में कार्यालयों के नेटवर्क से किफायती ट्रेड फाइनेंस उपलब्ध करता है। प्राइमाडॉलर अब भारत में मिड / लार्ज-कैप कंपनियों के लिए अपने अनूठे उत्पाद को मुख्य धारा का विकल्प बना रही है और उसने मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और बैंगलोर में कार्यालय खोले हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेजन और फ्लिपकार्ट के खिलाफ 700 शहरों में हुआ धरना प्रदर्शन! लाखों व्यापारी हुए शामिल

प्राइमाडॉलर ने बिना कोलेटरल के 4 प्रतिवर्ष तक की न्यूनतम दर से ट्रेड फाइनेंस की पेशकश कर बाजार का ध्यान खींचा है और काफी कम समय में बहुत अच्छा प्रतिसाद हासिल किया है। स्थानीय बैंकिंग प्रणाली में उपलब्ध तरलता की मात्रा में कमी जैसी चुनौतियों का सामना कर रहे भारतीय निर्यातकों को कम लागत और कोलेटरल-फ्री ट्रेड फाइनेंस की सख्त आवश्यकता थी। अंतरराष्ट्रीय खरीदार चाहते हैं कि निर्यातक पहले शिपमेंट रवाना करें और बाद में भुगतान प्राप्त करें। अक्सर वे 60, 90, 120 या 150 दिन का क्रेडिट लेते हैं। प्राइमाडॉलर निर्यातक के लिए कैशफ्लो के अंतर को खत्म करता है। निर्यातक को अग्रिम भुगतान करता है। 

इसे भी पढ़ें: इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक में होगा विलय, सरकार से मिली मंजूरी

"ट्रांजेक्शनल ट्रेड फाइनेंस" में अग्रणी कंपनी के रूप में प्राइमाडॉलर अब बैंकों और लॉजिस्टिक्स प्लेटफार्मों के साथ अपने बिजनेस मॉडल में ट्रेड फाइनेंस के इस नए रूप को उनके बिजनेस मॉडल से जोड़ने के लिए भागीदारी शुरू कर रहा है- यह निर्यातकों को अपने कंटेनर भेजते ही फइनेंस लेने की अनुमति देता है और उन्हें स्थानीय बैंक को कार्यशील पूंजी की व्यवस्था के लिए अलग से कॉल नहीं करना पड़ता।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।