सीतारमण ने बैंकों से अनुसूचित जाति श्रेणी में खाली पड़े पदों को भरने को कहा

sitharaman img
प्रतिरूप फोटो
ANI
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से अनुसूचित जाति श्रेणी में पहले के खाली पड़े (बैकलॉग) पदों को समयबद्ध तरीके से भरने और सभी योजनाओं में उनका दायरा बढ़ाने को कहा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से अनुसूचित जाति श्रेणी में पहले के खाली पड़े (बैकलॉग) पदों को समयबद्ध तरीके से भरने और सभी योजनाओं में उनका दायरा बढ़ाने को कहा। सीतारमण ने अनुसूचित जाति के कल्याण और उत्थान के उद्देश्य से विभिन्न सरकारी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा बैठक में बैंकों से ‘आउटसोर्स’ की जा रही खासकर सफाई कर्मचारी जैसी नौकरियों के लिये एक अक्टूबर से उचित डिजिटल रिकॉर्ड बनाने का आग्रह किया।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि उन्होंने अनुसूचित जाति समुदाय से संबंधित सभी लंबित शिकायतों का निपटान भी करने का निर्देश दिया। वित्तीय सेवा विभाग (डीएफएस) के दो अक्टूबर से विशेष अभियान के तहत उन मुद्दों का भी समाधान किया जा सकता है। उन्होंने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों की समीक्षा बैठक में बैंक प्रमुखों से क्षमता निर्माण और उद्यमशीलता विकास पर भी गौर करने को कहा।

बैंकों और वित्तीय संस्थानों के कुल कार्यबल में अनुसूचित जाति की हिस्सेदारी करीब 18 प्रतिशत है। सीतारमण ने बैंकों को निर्देश दिया कि वे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) को साल में दो बार अनुसूचित जाति से संबंधित कर्ज और नियुक्तियों को बारे में जानकारी दे। वित्त मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में एनसीएससी के अध्यक्ष और सदस्यों, वित्त राज्यमंत्री, वित्तीय सेवा सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़