टेक महिंद्रा का महिंद्रा यूनिवर्सिटी के साथ समझौता ज्ञापन

CP Gurnani, Managing Director and CEO, Tech Mahindra
Instagram
टेक महिंद्रा और महिंद्रा यूनिवर्सिटी ने एक नई मेकर्स लैब बनाने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। हैदराबाद स्थित महिंद्रा यूनिवर्सिटी में बनने वाली नई प्रयोगशाला 11वीं मेकर्स लैब होगी। क्वांटम कंप्यूटिंग, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और मेटावर्स के क्षेत्र में शोध एवं विकास के लिए एक नई मेकर्स लैब होगी।

नयी दिल्ली। टेक महिंद्रा और महिंद्रा यूनिवर्सिटी ने क्वांटम कंप्यूटिंग, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और मेटावर्स के क्षेत्र में शोध एवं विकास के लिए एक नई मेकर्स लैब बनाने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में सक्रिय टेक महिंद्रा के दुनिया भर में पहले से ही 10 मेकर्स लैब हैं। हैदराबाद स्थित महिंद्रा यूनिवर्सिटी में बनने वाली नई प्रयोगशाला उसकी 11वीं मेकर्स लैब होगी।

टेक महिंद्रा के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सी पी गुरनानी ने पीटीआई-से कहा कि उद्योग इस समय क्लाउड कंप्यूटिंग, डेटा सेंटर एवं 5जी तकनीक के आने से बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। इसकी वजह से डेटा विस्फोट जैसी स्थिति पैदा हो रही है जिसमें मेकर्स लैब की जरूरत बढ़ जाती है।

महिंद्रा यूनिवर्सिटी के कुलपति याजुलू मेडूरी ने कहा कि इस समझौता ज्ञापन के जरिये उद्योग एवं अकादमिक जगत के बीच तालमेल बिठाने की कोशिश की गई है।

इससे यूनिवर्सिटी के शिक्षक एवं छात्र उद्योग की जरूरतों के अनुरूप नए समाधान तैयार करने में मदद देंगे। इस मौके पर टेक महिंद्रा की मेकर्स लैब इकाई के वैश्विक प्रमुख निखिल मल्होत्रा ने कहा कि क्वांटम कंप्यूटिंग में इस समय काफी तीव्र गतिविधियां चल रही हैं और इस साझेदारी से क्वांटन प्रौद्योगिकी की दिशा में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़