कलात्मकता को बनाएं कमाई का जरिया, बनें कार्टून आर्टिस्ट

By वरूण क्वात्रा | Publish Date: Jan 16 2019 2:26PM
कलात्मकता को बनाएं कमाई का जरिया, बनें कार्टून आर्टिस्ट
Image Source: Google

एक कार्टूनिस्ट के लिए अवसरों की कोई कमी नहीं है। एक कार्टून आर्टिस्ट न्यूज टीवी चैनलों से लेकर अखबारों, मैगजीन, कार्टून मैगजीन, ऑनलाइन वेबसाइट में काम की तलाश कर सकते हैं। ऐसी जगहों पर कार्टूनिस्ट को अच्छी सैलरी पर जॉब पर रखा जाता है।

आज के समय में बहुत से लोग ऐसे है, जो अपनी रचनात्मकता को ही अपनी सफलता का आधार बनाना चाहते है। लीक से हटकर कलात्मक को पंख बनाकर सफलताओं के आसमान पर विचरण करने की चाह रखने वाले लोगों के लिए आज संभावनाओं की कोई कमी नहीं है। अगर आप भी ऐसे आर्टिस्ट है, जो चित्रों के जरिए अपने मन की बात रख सकते हैं या फिर किसी घटना को बेहद रोचक तरीके से पेश करने की क्षमता रखते हैं तो बतौर कार्टून आर्टिस्ट अपना कॅरियर शुरू कर सकते हैं। 



 
कार्यक्षेत्र
एक कार्टून आर्टिस्ट का मुख्य काम किसी भी घटना या विचार को व्यंग्य या हास्यापद तरीके से पेश करना होता है। वह अपनी कला का सहारा लेते हुए गंभीर से गंभीर मुद्दों व सामाजिक परिदृश्यों व कुरीतियों पर बेहद रोचक तरीके से कुठाराघात करते हैं। वह इस बात का बेहद ख्याल रखते हैं कि उनके द्वारा बनाए गए कार्टून से किसी भी भावनाएं आहत न हों और वह अपनी बात को भी बेहद सरल तरीके से सबके सामने रख पाएं। वहीं बच्चों के लिए कार्टून बनाने के लिए किसी एक नए काल्पनिक कार्टून किरदार को जन्म देना भी कार्टूनिस्ट का ही काम होता है।
 
स्किल्स


चूंकि एक कार्टूनिस्ट के पास अपनी बातों को बयां करने के लिए शब्द नहीं होते और वह चित्रों के जरिए ही अपनी बात रखता है, इसलिए उसमें प्रेजेंस ऑफ माइंड, क्रिएटिविटी होने के साथ−साथ बेहतरीन चित्रकारी का गुण भी होना चाहिए। साथ ही उनमें इस बात की समझ भी होनी चाहिए कि वह किस प्रकार अपने कार्टून के जरिए जनमानस को प्रभावित करें। इतना ही नहीं, अगर आप किसी अखबार या न्यूज चैनल के साथ जुड़कर काम करना चाहते हैं तो आपको देश−विदेश में घट रही घटनाओं पर बारीक नजर रखनी चाहिए ताकि उसे आधार बनाकर एक बेहतरीन कार्टून पेश किया जा सके।
 



योग्यता
वैसे तो इस क्षेत्र में कॅरियर बनाने के लिए किसी फार्मल डिग्री की आवश्यकता नहीं होती, आपकी कलात्मकता ही सफलता के द्वार खोलती है। लेकिन फिर भी अपनी कला को निखारने के लिए व कार्टून बनाने की बारीकियों को समझने के लिए 12वीं के बाद डाइंग व इलस्टेशन में कोर्स किया जा सकता है। वैसे आजकल बहुत से संस्थान कार्टूनिस्ट बनने के लिए ऑनलाइन व डिप्लोमा कोर्स मुहैया कराते हैं।

संभावनाएं
एक कार्टूनिस्ट के लिए अवसरों की कोई कमी नहीं है। एक कार्टून आर्टिस्ट न्यूज टीवी चैनलों से लेकर अखबारों, मैगजीन, कार्टून मैगजीन, ऑनलाइन वेबसाइट में काम की तलाश कर सकते हैं। ऐसी जगहों पर कार्टूनिस्ट को अच्छी सैलरी पर जॉब पर रखा जाता है। इसके अतिरिक्त अगर आप किसी के साथ बंधकर काम नहीं करना चाहते तो बतौर फ्रीलासंर भी अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। वहीं एक कार्टून आर्टिस्ट ऐसी प्रॉडक्शन कंपनी के साथ जुड़कर भी काम कर सकता है जो बच्चों के लिए कार्टून सीरिज बनाती हो। इसके अतिरिक्त विभिन्न एड कंपनियों, बुक पब्लिशर्स, डिजाइन स्टूडियो, गेम कंपनी, ग्रीटिंग कार्ड कंपनी आदि में भी अच्छे कार्टून आर्टिस्ट की हमेशा ही जरूरत रहती है।
 

आमदनी
इस क्षेत्र में आमदनी की कोई सीमा नहीं है। अगर आपके द्वारा बनाए गए कार्टून लोगों को अच्छे लगते हैं तो आप प्रति कार्टून अपने हिसाब से चार्ज कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त बच्चों के लिए बनाए गए कार्टून अगर हिट हो जाते हैं तो महीने की कमाई भी लाखों में हो सकती है।
 
प्रमुख संस्थान
आईआईएमसी, नई दिल्ली
जे जे स्कूल ऑफ आर्टस, मुंबई
दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्टस, नई दिल्ली
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कार्टूनिस्ट, बेंगलुरू
इंडियन कार्टून गैलरी, बेंगलुरू 
नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ फिल्म एंड फाइन आर्टस, कोलकाता
नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ डिजाइन, गुजरात
एरीना एनिमेशन, पुणे
 
वरूण क्वात्रा

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Video