इस तरह से शुरू हुई थी अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट, मिल रही है भारी छूट

  •  कालेजदुनिया.कॉम
  •  जून 29, 2018   15:20
  • Like
इस तरह से शुरू हुई थी अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट, मिल रही है भारी छूट

भारत में, जो कि है दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश, पिछले कुछ सालों से इसकी अर्थव्यवस्था में भारी बदलाव आया है। इसका ई-कॉमर्स सेक्टर कोई अपवाद नहीं है और लगातार वैश्विक दिग्गजों के रडार पर है।

फ्लिपकार्ट 2007 में सचिन बंसल और बिन्नी बंसल द्वारा स्थापित एक ऑनलाइन इंटरनेट वाणिज्य कंपनी है। इसका मुख्यालय बंगलौर, भारत में है। कंपनी सिंगापुर में पंजीकृत है, और सिंगापुर स्थित होल्डिंग कंपनी के स्वामित्व में है। अमेज़ॅन की तरह, फ्लिपकार्ट ने शुरुआत में पुस्तकों में परिचालन शुरू किया और बाद में अन्य उत्पादों में प्रवेश किया। हालांकि, कंपनी सिंगापुर में पंजीकृत है, यह डब्ल्यूएस रिटेल नामक कंपनी के माध्यम से भारत में सामान बेचती है, क्योंकि विदेशी कंपनियों को भारत में बहु-ब्रांड ई-खुदरा बिक्री करने की अनुमति नहीं है। फ्लिपकार्ट ने डिजीफ्लिप और साइट्रॉन के नाम पर अपने उत्पादों को भी लॉन्च किया है। 

अमेज़ॅन एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन वाणिज्य कंपनी है जिसका मुख्यालय सिएटल, संयुक्त राज्य अमेरिका में है। इसने किताबों की बिक्री के साथ संचालन शुरू किया और बाद में इलेक्ट्रॉनिक बाजार में प्रवेश किया। अमेज़ॅन ने 2012 में अपने भारतीय परिचालन को शुरू किया। इसने अपना भारतीय परिचालन शुरू किया जंगली.कॉम के तहत , एक ऐसी वेबसाइट जिसने भारत में खुदरा विक्रेताओं को लाखों भारतीय खरीदारों के लिए अपने उत्पादों का विज्ञापन करने की अनुमति दी। हालांकि, फ्लिपकार्ट मोबाइल पर अपनी अधिकांश बिक्री पर केंद्रित है, अमेज़ॅन उत्पादों की बिक्री किताबों से लेकर डीवीडी, सीडी आदि तक है। अमेज़ॅन ने किंडल जैसे अपने उत्पादों को भी लॉन्च किया है। अमेज़ॅन हाल ही में ड्रोन विकसित करने के लिए निवेश के लिए खबरों में रहा है, जो कि उनके लिए वितरण करने में सहायक होंगे। दोनों कंपनियां एक-दूसरे को मुश्किल प्रतिस्पर्धा दे रही हैं। भारत के होमग्राउन ई-कॉमर्स प्लेयर फ्लिपकार्ट अब सबसे भरोसेमंद भारतीय ई-टेलिंग ब्रांड हैं लेकिन प्रतिद्वंद्वी अमेज़ॅन बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करता है, हाल के एक अध्ययन के मुताबिक। उपयोगकर्ता अनुभव में अमेज़ॅन ने फ्लिपकार्ट को मात दी जोकि 30 शहरों में 7,500 ऑनलाइन दुकानदारों के जवाबों के आधार पर किये गये सर्वेक्षण में पाया गया। फ्लिपकार्ट और अमेज़ॅन भारत में बाजार प्रभुत्व के लिए एक भयंकर युद्ध में प्रतिद्वंदिता कर रहे हैं। इसके अलावा, अमेज़ॅन कूपन कुछ उत्पादों पर भारी छूट प्रदान करते हैं जो फ्लिपकार्ट नहीं करता है।

फ्लिपकार्ट दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा वित्त पोषित निजी कंपनी है और एक ईर्ष्यापूर्ण ग्राहक आधार के साथ भारत का सबसे मूल्यवान इंटरनेट व्यवसाय भी। 

पिछले साल से अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट के बीच प्रतिद्वंद्विता और तेज हो चुकी है। वित्त पोषण से लेकर भव्य शॉपिंग तक, दोनों ई-कॉमर्स प्रतिद्वंदी एक-दूसरे से आगे निकलने और निकालने के लिए प्रयासरत हैं। पिछले कुछ सालों में, अमेरिका स्थित अमेज़ॅन ने देश के तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स बाजार में तेजी से कदम उठाए, और फ्लिपकार्ट को उसके नंबर एक स्थान से विस्थापित करने के करीब आ गया है। हालांकि, शीर्ष स्लॉट को पकड़ने की लड़ाई अभी भी अमेज़ॅन के लिए कुछ समय  तक के लिये दूर हो सकती है। पिछले कुछ तिमाहियों में, अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट दोनों ही बराबर संख्या में वस्तुओं को बेच रहे थे लेकिन अमेरिकी ई-कॉमर्स प्रमुख का फ्लिपकार्ट के मूल्य मान पर पीछे रहना जारी है। 

त्यौहार के मौसम की शुरुआत के साथ, फ्लिपकार्ट और अमेज़ॅन के ग्राहकों के लिए छूट की बारिश हो रही है क्योंकि ये दोनों अच्छे सौदों के साथ खरीदारों को लुभाने और बाजार हिस्सेदारी हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। विश्लेषकों ने कहा कि दोनों फर्मों ने परिधान, इलेक्ट्रॉनिक्स और घरेलू सामानों के साथ-साथ रसद पर ग्राहकों के लिए सर्वोत्तम सौदों को लाने के लिए भारी निवेश किया है ताकि ग्राहक के अनुभव को प्रभावित न किया जा सके। अपने 'बिग बिलियन डेज़' प्रस्ताव के हिस्से के रूप में फ्लिपकार्ट ने कहा कि उसने बिक्री के पहले दिन के 10 घंटे के भीतर 10 लाख उत्पादों को बेचा। तीसरे दिन को दावा किया गया कि उसने 10 घंटे में आधे मिलियन मोबाइल फोन बेचे थे। 

दूसरी ओर, अमेज़ॅन ने देर रात के ऑर्डर्स के लिये अगली सुबह तक डेलीवरी के साथ-साथ पांच दिनों के लिए रोजाना एक किलो सोना जीतने का मौका दिया। इसने दावा किया कि सभी शीर्ष सामान लाइव होने के 30 मिनट से भी कम समय में बिक चुके थे। 


मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स- मुख्य युद्ध का मैदान 

यदि आप एक नया स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं, तो आप अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट दोनों पर लॉग इन करना चाहेंगे। अमेज़ॅन खरीदारों को गहरे मूल्य की कमी के साथ कई स्मार्टफोन मिलेंगे जैसे; नए लॉन्च नोकिया 6.1 सहित जिसपर 10,000 रुपये छूट तक की पेशकश है। 

मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स हमेशा अमेज़ॅन के घर से बढ़ने वाले प्रतियोगी फ्लिपकार्ट के लिए एक बड़ा ध्यान केंद्रित करते हैं। बेंगलुरु स्थित कंपनी जो अपने मालिकों को बदलने के बीच में है, ने मोबाइलफोन, लैपटॉप, एयर कंडीशनर, कैमरे आदि पर अच्छी डील दी हैं। इसके अलावा सैमसंग के कई उत्पादों पर सबसे कम कीमतें पेश की गयी हैं। सैमसंग ऑन नेक्स्ट की कीमत 17,900 रुपये से घटकर 10,900 रुपये हो गई है, और सैमसंग जे 3 प्रो सिर्फ 6490 रुपये में उपलब्ध है। आप इसे अमेजन इंडिया,अमेजन इंडिया कूपन के जरिए भी खरीद सकते हैं। जिससे आपको डिस्काउंट भी मिल जाएगा।

ग्राहकों के लिए एक किफायती खरीदारी अनुभव बनाने के अलावा, फ्लिपकार्ट भी आसान और आकर्षक भुगतान समाधान प्रदान कर रहा है। इनमें एचडीएफसी बैंक डेबिट और क्रेडिट कार्ड के साथ-साथ कोई लागत ईएमआई  नहीं विकल्प पर 10% तत्काल छूट शामिल है।


फर्नीचर

फर्नीचर एक और श्रेणी है जिसमें बड़ी छूट है। अमेज़ॅन पर सबसे आकर्षक विकल्प में से एक एकल सीट रेकलाइनर पर 52% छूट है जो इसे उपभोक्ताओं के लिए 15,232 रुपये में उपलब्ध कराता है। इसके अतिरिक्त, आईसीआईसीआई बैंक कार्डधारकों को एक ही सौदे पर 10% छूट मिलती है।

फ्लिपकार्ट ने अपने 'परफेक्ट होम बाय फ्लिपकार्ट' श्रेणी के तहत फर्नीचर पर 50% तक की भारी छूट प्रस्तुत की है।


छोटी श्रेणियां, बड़ी बचत 

अमेज़ॅन की फैशन एक और बड़ी श्रेणी है जिसपर अमेज़ॅन ने 50-80% तक की भारी छूट की पेशकश की है। अमेज़ॅन पर अन्य ऑफ़र में दैनिक आवश्यकता की चीज़ों पर 60% छूट शामिल है।

बजट वाले खरीदारों के लिए चीजों को आसान बनाने के लिये फ्लिपकार्ट ने उत्पादों को चुनकर इन्हें तीन भागों में बांट रखा है, जिसमें 696 रुपये की कम कीमत से शुरु होकर 292 रुपये तक की छूट शामिल है।

निष्कर्ष :- 

फ्लिपकार्ट अमेज़ॅन आने तक भारत में शीर्ष पर था, और अब अमेज़ॅन तथा फ्लिपकार्ट की एक कठिन लड़ाई है और लोकप्रियता और बिक्री के मामले में भारत में बहुत तेज दर से बढ़ रहा है। ये दोनों कंपनियां गुणवत्ता और सेवा पर अच्छी हैं लेकिन कुल मिलाकर अमेज़ॅन में प्रत्येक विभाग में थोड़ी बढ़त है।

साभार कालेजदुनिया.कॉम







साल 2021 में सरकारी नौकरियों की भरमार, जानिये पूरी जानकारी

  •  जे. पी. शुक्ला
  •  जनवरी 15, 2021   17:57
  • Like
साल 2021 में सरकारी नौकरियों की भरमार, जानिये पूरी जानकारी

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां, जैसे- रेलवे, यूपीएससी, भारतीय सेना, नौसेना, वायु सेना, एसएससी, और बैंक जैसे विभिन्न केंद्र सरकार के संगठन विभिन्न भर्ती अधिसूचना जारी कर रहे हैं, जिनके सक्रिय पदों की जानकारी नीचे दी गई लिस्ट से जाँच करके उनके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

सरकारी नौकरियां भारत में सबसे सुरक्षित और भरोसेमंद नौकरियां हैं। जॉब सिक्योरिटी, हैंडसम सैलरी और एक्साइटिंग करियर और ग्रोथ के अवसरों के कारण सरकार की नौकरियों में भारी मांग है। हर साल भारत के प्रतिष्ठित सार्वजनिक क्षेत्र के संगठन, जैसे- भेल, आईओसीएल, एयर इंडिया में अप्रेंटिस, जूनियर इंजीनियर, जूनियर सहायक के उम्मीदवारों की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी करते हैं। इन भर्ती प्रक्रिया के लिए लाखों उम्मीदवार भाग लेते हैं।

इसे भी पढ़ें: जांबाज वन अधिकारी बनें और करें देश सेवा

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां, जैसे- रेलवे, यूपीएससी, भारतीय सेना, नौसेना, वायु सेना, एसएससी, और बैंक जैसे विभिन्न केंद्र सरकार के संगठन विभिन्न भर्ती अधिसूचना जारी कर रहे हैं, जिनके सक्रिय पदों की जानकारी नीचे दी गई  लिस्ट से जाँच करके उनके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

CISF भर्ती 2021: केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल में 690 सहायक उप निरीक्षक रिक्तियों के लिए ऑनलाइन नौकरियां दी गयी हैं। इसमें विभिन्न पदों के लिए cisf.gov.in पर जाकर आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। पात्रता मानदंड, आवेदन शुल्क, चयन प्रक्रिया और अन्य जानकारी इस प्रकार हैं।

सीआईएसएफ भर्ती 2021 में सहायक उप निरीक्षक की वैकेंसी :

पद का नाम: सहायक उप निरीक्षक

पदों की संख्या: 690 

योग्यता: ग्रेजुएट          

जॉब लोकेशन: भारत में कहीं भी

अंतिम तिथि: 5 फरवरी 2021

यूपीएससी भर्ती 2021: नेशनल डिफेन्स अकादमी और नौसेना अकादमी परीक्षा के लिए भर्ती अधिसूचना upsc.gov.in पर जारी की गई है। 400 रिक्त पदों का विवरण इस प्रकार है।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और नौसेना अकादमी परीक्षा 

पदों की संख्या: 400 

योग्यता: 12 वीं पास

नौकरी का स्थान: आल इंडिया

अंतिम तिथि: 19 जनवरी 2021

एसबीआई भर्ती 2021: बैंकिंग क्षेत्र में कई आगामी पदों के लिए आवेदन करने वाले फ्रेशर्स और अनुभवी उम्मीदवार ऑफ़लाइन / ऑनलाइन आवेदन पत्र के लिए आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर उपलब्ध 552 स्पेशलिस्ट कैडर ऑफिस जॉब के रिक्त पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

स्पेशलिस्ट कैडर ऑफिस: 452 रिक्तियां

योग्यता: डिग्री, पीजी

जॉब लोकेशन: भारत में कहीं भी

बीओबी भर्ती 2021: 41 सुरक्षा अधिकारी, फायर ऑफिसर, हेड एनालिस्ट, इनोवेशन ऑफिसर रिक्तियों के लिए ऑनलाइन आवेदन Bankofbaroda.co.in पर कर सकते हैं।  पात्रता मानदंड और अन्य जानकारी का विवरण नीचे दिया गया है।

पद का नाम: सुरक्षा अधिकारी, अग्निशमन अधिकारी

पदों की संख्या: 32 रिक्तियां

योग्यता: ग्रेजुएट

नौकरी का स्थान: सम्पूर्ण भारत

भारतीय सेना भर्ती 2021: जिन उम्मीदवारों ने अपनी  10 वीं, 12 वीं कक्षा, आईटीआई, डिप्लोमा, स्नातक या मास्टर डिग्री पूरी की है, वे वर्तमान भारतीय सेना 2021 के लिए आवेदन पत्र भर सकते हैं। www.joinindianarmy.nic.in. पर जाकर 2021-02-13 या उससे पहले आवेदन करें।

इसके अलावा भारतीय सेना 2020 एनसीसी स्पेशल एंट्री स्कीम 49 वीं कोर्स (अप्रैल 2021) के लिए भर्ती अधिसूचना www.joinindianarmy.nic.in पर जारी की गई है। नीचे दिए गए 55 रिक्तियों के सभी विवरणों की जांच करें और 2021-01-28 पर या उससे पहले आवेदन करें।

रिक्तियां: 55

योग्यता: डिग्री

नौकरी का स्थान: आल इंडिया 

अंतिम तिथि: 28 जनवरी 2021

इसके अलावा आप भारतीय सेना में सोल्जर के लिए 2021-01-23  या उससे पहले आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: वेडिंग इंडस्ट्री के इन पांच क्षेत्र में बनायें शानदार कॅरियर

सेंट्रल रेलवे भर्ती 2021: 258 जूनियर क्लर्क, सीनियर क्लर्क, सीनियर रेजिडेंट के रिक्त पदों के लिए cr.indianrailways.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। पात्रता मानदंड, आवेदन शुल्क, चयन प्रक्रिया और अन्य जानकारी जैसे सभी भर्ती विवरण नीचे दिए गए हैं।

सेंट्रल रेलवे भर्ती 2021 में सीनियर रेजिडेंट की रिक्तियां

पद का नाम: सीनियर रेजिडेंट

पदों की संख्या: 7 रिक्तियां

योग्यता: पीजी डिग्री, एमडी, एमएस, डीएनबी

नौकरी का स्थान: मुंबई, महाराष्ट्र - भारत

सेंट्रल रेलवे भर्ती 2021 में जूनियर क्लर्क, सीनियर क्लर्क की रिक्तियां

पद का नाम: जूनियर क्लर्क, सीनियर क्लर्क

पदों की संख्या: 251 रिक्तियों

योग्यता: 12 वीं, डिग्री

नौकरी का स्थान: मुंबई, महाराष्ट्र- भारत

अंतिम तिथि: 19 जनवरी 2021

SSC CGL भर्ती 2021: कर्मचारी चयन आयोग विभिन्न मंत्रालयों / विभागों / संगठनों में 6506 समूह 'बी' और समूह 'सी' पदों को भरने के लिए संयुक्त स्नातक स्तर की परीक्षा, 2021 कंडक्ट करता है। सहायक लेखा परीक्षा अधिकारी / सहायक लेखा अधिकारी के पद के लिए चयनित उम्मीदवार को इस भर्ती के माध्यम से भरे जाने वाले रिक्त पदों की संख्या के आधार पर पूरे भारत में फैले 6506 कार्यालयों को आवंटित किया जाएगा। इस एसएससी सीजीएल भर्ती के लिए नीचे दिए गए सीधे लिंक का उपयोग करके आवेदन करें।

आयोग का नाम: आयोग कर्मचारी चयन (SSC) 

परीक्षा का नाम: SSC संयुक्त स्नातक स्तर की परीक्षा 2021

रिक्तियों की संख्या: 6506 पोस्ट

पद का नाम: सहायक अनुभाग अधिकारी, सहायक प्रवर्तन अधिकारी, JSO, उप निरीक्षक 

अंतिम तिथि: 31 जनवरी 2021 तक 

आवेदन मोड: ऑनलाइन

नौकरी करने का स्थान: पूरे भारत में 

आधिकारिक वेबसाइट:  www.ssc.nic.in या www.ssconline.nic.in

सरकारी नौकरी की परीक्षा की तैयारी के टिप्स

- परीक्षा के सिलेबस और कठिनाई स्तर की जांच करें

- विषयों को अलग-अलग करें

- स्ट्रांग टॉपिक्स पहले करें

- पिछले साल के प्रश्न पत्र का अध्ययन करें

- मॉक टेस्ट का अभ्यास करें

- कमजोर विषयों की ओर ज्यादा ध्यान दें 

- परीक्षा कक्ष में सकारात्मक और आश्वस्त रहें और पूरे प्रश्न पत्र को ध्यान से देखें

- पहले आसान सवालों को हल करें और फिर मुश्किलों की तरफ बढ़ें

- इसके बाद, कठिन प्रश्नों पर जाएं और आपको जो सही और सटीक लगता है, उनका प्रयास पहले करें। नकारात्मक अंकन होने पर उन प्रश्नों को छोड़ दें जिनके बारे में आप अनिश्चित हैं।

अगर आप इन स्मार्ट रणनीतियों को अपनाते हैं तो इनमें से किसी भी सरकारी परीक्षा को पास करना संभव है। हालांकि, सर्वोत्तम परिणामों के लिए कड़ी मेहनत, रणनीतिक योजना और समय प्रबंधन की आवश्यकता होती है।

- जे. पी. शुक्ला







जांबाज वन अधिकारी बनें और करें देश सेवा

  •  मिथिलेश कुमार सिंह
  •  जनवरी 13, 2021   19:17
  • Like
जांबाज वन अधिकारी बनें और करें देश सेवा

आईएएस यानी, इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज और आईपीएस यानी, इंडियन पुलिस सर्विसेज बहुधा प्रयोग में लाई जाती हैं और लोग इसके बारे में काफी कुछ जानते हैं, जबकि आईएफएस के बारे में कम लोग ही जानते हैं।

आईएफएस, यानी इंडियन फॉरेस्ट सर्विसेज। जिस प्रकार से आईएएस और आईपीएस नामक भारतीय सेवाएं होती हैं, ठीक उसी प्रकार आईएफएस भी इसी रैंक की सेवा होती है।

हालांकि आईएएस यानी, इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज और आईपीएस यानी, इंडियन पुलिस सर्विसेज बहुधा प्रयोग में लाई जाती हैं और लोग इसके बारे में काफी कुछ जानते हैं, जबकि आईएफएस के बारे में कम लोग ही जानते हैं।

इसे भी पढ़ें: वेडिंग इंडस्ट्री के इन पांच क्षेत्र में बनायें शानदार कॅरियर

अगर आप भी आईपीएस अधिकारी बनना चाहते हैं तो उसके कार्यों को आप अवश्य समझ लें। इनका मुख्य कार्य वनों की सुरक्षा करना होता है। जिस प्रकार से वनों में अवैध वृक्षों की कटाई की जाती है और वनों में तमाम प्राणियों को अवैध रूप से मार डाला जाता है, और उसकी तस्करी की जाती है, उसकी सुरक्षा के लिए वन सेवा अधिकारी नियुक्त होते हैं।

जिस प्रकार आईएएस, आईपीएस के लिए यूपीएससी यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन एग्जाम आयोजित करता है, आईएफएस के लिए भी आपको ऐसा ही एग्जाम देना पड़ता है। इसके लिए आपको मैथ, फिजिक्स, केमिस्ट्री या फिर जीव विज्ञान, पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन अथवा इंजीनियरिंग इत्यादि किसी एक स्ट्रीम से ग्रेजुएशन होना आवश्यक है। 

अगर इसके लिए एज की बात करें तो 21 साल से लेकर 32 साल के बीच में आप अप्लाई कर सकते हैं। वहीं अनुसूचित जाति और जनजातियों के लिए इंडियन गवर्नमेंट द्वारा उम्र में संबंधित छूट दी जाती है।

आप आईएफएस के एग्जाम को आसान ना समझें, बल्कि यह भी आईएएस और आईपीएस की तरह ही कठिन एग्जाम होता है। इसके लिए भी आपको पहले प्री, यानी प्रारंभिक परीक्षा देनी पड़ती है, फिर मेंस, अर्थात मुख्य परीक्षा होती है और तत्पश्चात इंटरव्यू देने के बाद आप इसके लिए सिलेक्ट होते हैं।

इसे भी पढ़ें: नौकरी के साक्षात्कार के लिए खुद को कैसे करें तैयार, यह रहे कुछ टिप्स

तैयारी का पैटर्न भी कमोबेश सिमिलर ही होता है, किंतु आईएफएस के सिलेबस में एग्रीकल्चर, पशुपालन, केमिस्ट्री, मैथ और स्टैटिसटिक्स के साथ-साथ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंडियन हिस्ट्री, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, पॉलीटिकल साइंस, फिजिक्स, साइकोलॉजी, सार्वजनिक प्रशासन, प्राणी विज्ञान इत्यादि से संबंधित प्रश्न कवर किये जाते हैं।

अगर आप इन एक्जाम्स में सिलेक्ट हो जाते हैं तो आपको नियुक्ति दी जाती है। पदों की बात करें तो इसमें सहायक वन संरक्षक, जिला वन संरक्षक, वन संरक्षक प्रमुख, वन संरक्षक जैसे पद सम्मिलित हैं। इसके अलावा सबसे सीनियर पदों में प्रधान वन संरक्षक एवं वन महा निरीक्षक की रैंक होती है। जाहिर तौर पर शुरुआत में जिम्मेदारियां कम होती हैं, किंतु बाद में यह जिम्मेदारियां धीरे-धीरे बढ़ती ही चली जाती हैं और आपको उस अनुरूप कार्य करना पड़ता है।

भारत भर में मौजूद तमाम नेशनल पार्क और जहां पर अभ्यारण इत्यादि बनाए गए हैं, वहां पर इन ऑफिसर्स की तैनाती होती है।

सच कहा जाए तो इस जॉब में वही लोग बेहतरीन ढंग से कार्य कर सकते हैं, जो अपनी जॉब को प्यार करते हैं। वन्यजीवों के अलावा तमाम आदिवासियों से भी इन लोगों का सामना होता है और अगर एक आईएफएस ऑफिसर के पास पेशेंस और करेज नहीं है, तो उसका काम करना बड़ा मुश्किल होता है।

इसे भी पढ़ें: फॉरेन लैंग्वेज सीखकर ऐसे बनाएं अपना कॅरियर, यहाँ से करें कोर्स

हालांकि इसके लिए आवश्यक ट्रेनिंग जरूर दी जाती है। अगर आप प्री, मेंस और इंटरव्यू में सिलेक्ट हो जाते हैं, तो उसके बाद आपको शुरुआती प्रशिक्षण के लिए लाल बहादुर शास्त्री अकादमी में भेजा जाता है,  जहां पर तमाम सब्जेक्ट की गहन जानकारी आपको दी जाती है।

उसके बाद आपको इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी, जो देहरादून में स्थित है, वहां पर भेजा जाता है। वहां पर आपको वन प्रबंधन, मृदा संरक्षण, आदिवासी कल्याण, वन्यजीव प्रबंधन सर्वेक्षण करने तथा दूसरे ऑन जॉब ट्रेनिंग दी जाती है। इसके बाद आप कहीं तैनाती के काबिल हो पाते हैं।

सैलरी की बात करें तो स्टैण्डर्ड सेलरी स्ट्रक्चर होता है। सामान्यतः इनकी सैलरी ₹15600 से लेकर ₹40000 तक होती है। उन्हें प्रत्येक माह ग्रेड पे के तौर पर ₹5400 भी मिलते हैं। वेतन आयोगों की सिफारिशों के आधार पर इनकी सेलरी बढती रहती है। हालाँकि, इनको सैलरी के अलावा और बहुत सारी सुविधाएं भी प्राप्त होती हैं, साथ ही साथ इन्हें समाज में बहुत सम्मान भी मिलता है।

- मिथिलेश कुमार सिंह







वेडिंग इंडस्ट्री के इन पांच क्षेत्र में बनायें शानदार कॅरियर

  •  जे. पी. शुक्ला
  •  जनवरी 9, 2021   11:40
  • Like
वेडिंग इंडस्ट्री के इन पांच क्षेत्र में बनायें शानदार कॅरियर

वेन्यू से लेकर मेनू तय करने तक, यह सारा काम वेडिंग प्लानर के अधिपत्य में आता है। संक्षेप में कहें तो आप एक थीम बनाने, सजाने, विक्रेताओं से समय समय पर कोआर्डिनेट करने, एक कैटरर खोजने और संगीत की योजना बनाने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

भारत में शादी के समारोहों को आजकल विस्तृत मामलों के लिए जाना जाता है, जो अक्सर कई दिनों तक चलते हैं और इस दौरान सैकड़ों मेहमान शामिल हो सकते हैं। अधिकांश अन्य उद्योगों की तरह, भारत में शादी का व्यवसाय महामारी-प्रेरित तालाबंदी से प्रभावित हो गया था, लेकिन यह उद्योग अब धीरे-धीरे सुधार के संकेत दे रहा है और अभी भी काफी लोग इस क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाने के लिए गंभीर दिखाई दे रहे हैं।

विशिष्टता के लिए बढ़ते शौक के साथ, जैसे-जैसे लोग शादियों पर अधिक से अधिक खर्च कर रहे हैं, शादियाँ अपने आप में एक बड़ा उद्योग बनती जा रही हैं। और अगर शादियों जैसा इवेंट आपको रोमांचित करता है, तो  काम करने के लिए यह एक आकर्षक जगह है। इवेंट प्लानिंग से लेकर वॉर्डरोब स्टाइलिंग तक, आपके लिए बहुत सारे विकल्प खुले हैं, जिनमें से कुछ के बारे में हम इस लेख में बात कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: आईओसीएल (IOCL) में कई पदों पर रिक्तियां, 15 जनवरी अंतिम डेट

इस बड़े भारतीय शादी उद्योग में प्रवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए यहाँ कुछ कैरियर भूमिका विकल्प दिए जा रहे हैं।

1. वेडिंग प्लानिंग

वेन्यू से लेकर मेनू तय करने तक, यह सारा काम वेडिंग प्लानर के अधिपत्य में आता है। संक्षेप में कहें तो आप एक थीम बनाने, सजाने, विक्रेताओं से समय समय पर कोआर्डिनेट करने, एक कैटरर खोजने और संगीत की योजना बनाने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

पीआर, कम्युनिकेशंस, इवेंट या बिज़नेस मैनेजमेंट में डिग्री या डिप्लोमा वेडिंग प्लानर बनने के इच्छुक लोगों के लिए एक एडेड एडवांटेज है। कुछ पदों के लिए हॉस्पिटैलिटी उद्योग में अनुभव की उम्मीद की जा सकती है। शुरूआती वेतन 20k रुपये से शुरू होते हैं और सिर्फ कुछ वर्षों के अनुभव के बाद यह एक लाख रुपये प्रति माह तक पहुंच सकता है।

इसे भी पढ़ें: फॉरेन लैंग्वेज सीखकर ऐसे बनाएं अपना कॅरियर, यहाँ से करें कोर्स

2. डिजिटल मार्केटिंग और सोशल मीडिया विशेषज्ञ

आज, ब्रांडों को एक मजबूत डिजिटल उपस्थिति की आवश्यकता होती है। चाहे वह जिफ और कॉमिक्स के माध्यम से एक प्रेम कहानी कैप्चर कर रहा हो या शादी की वेबसाइट पर सौंदर्य-फोटो शूट ले रहा हो, आज  सभी जोड़े सोशल मीडिया पर अपने विशेष क्षणों को साझा करने के बारे गंभीर और सतर्क रहते हैं। डिजिटल विपणक और सोशल मीडिया विशेषज्ञ इस व्यवसाय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग में विशेषज्ञता के साथ डिग्री इस उद्योग में आपके लिए एक प्रवेश द्वार हो सकता है। एक फ्रेशर सोशल मीडिया एग्जीक्यूटिव, कंटेंट मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव या एसईओ एनालिस्ट के रूप में शुरू कर सकता है, जो उच्च पदों की पेशकश करने वाले प्रबंधकीय पदों तक जाता है।

3. कैटरिंग

कैटरिंग एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होता है इस पूरे आयोजन का, जिसमें आप खाद्य विभाग के प्रभारी हैं। मेनू को चुनने से लेकर उसे परोसने तक, यह सब आपके नियंत्रण में होता है। आपको टेबल सेटिंग्स और अतिरिक्त स्टाफ प्रदान करना होगा जो सभी कोर्सेज को समय पर मेहमानों के सामने पेश करता है। कई कैटरर्स पेय और बार सेवा भी प्रदान करते हैं।

आपको कम से कम एक हाई-स्कूल की डिग्री और खाद्य-सेवा उद्योग में अनुभव की आवश्यकता होती है। 

इसे भी पढ़ें: जीएसटी के एक्सपर्ट बनना चाहते हैं, तो करें यह कोर्सेज

4. फैशन डिज़ाइनर और स्टाइलिस्ट

जैसा कि नाम से पता चलता है, आप ड्रेस विभाग के प्रमुख होते हैं। फैब्रिक से लेकर डिजाइन का चयन करने या इसमें फेरबदल करने तक, सब कुछ आपके निर्णय के मोहताज़ होते हैं। आपको कपल के साथ विभिन्न घटनाओं के लिए सही वेशभूषा को तय करने के लिए उनसे समय समय पर समन्वय बनाने की आवश्यकता होती है।

पेशेवर फैशन डिजाइनरों को  एक लाइसेंस परीक्षा उत्तीर्ण करने के साथ एक राज्य-अनुमोदित फैशन डिजाइनिंग कार्यक्रम से स्नातक की आवश्यकता होती है।

5. वेडिंग फोटोग्राफी 

आपका काम विभिन्न घटनाओं और समारोहों के दौरान विभिन्न क्षणों को अपने कैमरे में कैद करना होता है। प्री-वेडिंग शूट के लिए आपको शादी से पहले हायर भी किया जा सकता है। आपको तस्वीरों को क्लिक करना होगा, उन्हें संपादित करना होगा, उन्हें संकलित करना होगा और उन्हें क्लाइंट की आवश्यकतानुसार प्रस्तुत करना होगा।

फोटोग्राफर्स और वीडियोग्राफरों को शादियों की शूटिंग और एडिटिंग का कुछ साल का अनुभव होना चाहिए।

जे. पी. शुक्ला







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept