पिछले साढ़े चार महीनों में 22 बार कोरोना जांच करायी: सौरव गांगुली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   18:46
पिछले साढ़े चार महीनों में 22 बार कोरोना जांच करायी: सौरव गांगुली

बोर्ड अध्यक्ष ने राष्ट्रीय टीम के बहुप्रतिक्षित आस्ट्रेलियाई दौरे के बारे में भी बात की जिसने सिडनी में मंगलवार को अपना पृथकवास पूरा कर लिया है। भारत दौरे की शुरूआत 27 नवंबर को सिडनी क्रिकेट मैदान में पहले वनडे के साथ करेगा।

मुंबई। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने मंगलवार को खुलासा किया कि महामारी के बीच अपनी पेशेवर प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिये उन्होंने पिछले साढ़े चार महीनों में लगभग 22 कोविड-19 जांच करायी हैं। गांगुली मध्य सितंबर से नवंबर के शुरू में संयुक्त अरब अमीरात में इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन में व्यस्त थे। गांगुली ने एक वर्चुअल मीडिया कांफ्रेंस में ‘लिविंगार्ड एजी’ के ब्रांड दूत के तौर पर कहा, ‘‘मैं आपको बताऊं कि पिछले साढ़े चार महीनों में मैंने 22 बार कोविड-19 जांच करायी है और एक बार भी पॉजिटिव नहीं आया। मेरे आस पास के लोग कोविड-19 पॉजिटिव मिले थे, इसलिये शायद मुझे कोविड-19 परीक्षण कराने पड़े।’’ 

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन तेंदुलकर ने भारतीय तेज गेंदबाजों को दी इस तकनीक को इस्तेमाल करने की सलाह

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने वृद्ध माता पिता के साथ रहता हूं और मैंने दुबई की यात्रा की। शुरू में मैं काफी चिंतित था, खुद के लिये नहीं, बल्कि समुदाय के लिये, आप किसी को संक्रमित नहीं करना चाहते।’’ बोर्ड अध्यक्ष ने राष्ट्रीय टीम के बहुप्रतिक्षित आस्ट्रेलियाई दौरे के बारे में भी बात की जिसने सिडनी में मंगलवार को अपना पृथकवास पूरा कर लिया है। भारत दौरे की शुरूआत 27 नवंबर को सिडनी क्रिकेट मैदान में पहले वनडे के साथ करेगा। बीसीसीआई प्रमुख ने कहा, ‘‘खिलाड़ी फिट हैं और ठीक हैं, साथ ही आस्ट्रेलिया में कोविड-19 मामलों की संख्या भी ज्यादा नहीं है, जहां सीमायें भी कुछ समय के लिये बंद कर दी गयी थीं। फिर भी वे अंतरराष्ट्रीय यात्रा को लेकर काफी ज्यादा सख्त हैं, आपको 14 दिन के कड़े पृथकवास में रहना पड़ता है इसलिये लड़के अब मैदान पर उतरने के लिये तैयार हैं। ’’ गांगुली ने साथ ही कहा कि उन्हें गर्व है कि उनकी बीसीसीआई टीम ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का सफल आयोजन किया और उन्हें उम्मीद है कि अगले सत्र में इसका आयोजन भारत में ही होगा। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण आईपीएल का आयोजन इस साल यूएई में कराया गया। उन्होंने कहा, ‘‘ ‘बायो-बबल’ में करीब 400 लोग थे, सभी के सुरक्षित और स्वस्थ रहने के लिये ढाई महीनों के अंदर 30-40 हजार परीक्षण कराये गये।’’ 

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्ट में नहीं खेल पायेंगे रोहित और इशांत, जानिए वजह

उन्होंने कहा, ‘‘यह भारत का टूर्नामेंट है। लोग आईपीएल की सफलता के बारे में बात करते, मैंने उन सभी को कहा कि यह देखने के लिये आपको भारत में होना चाहिए कि भारत के लिये आईपीएल क्या है। ’’ देश में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट की बहाली की बात करते हुए गांगुली ने कहा, ‘‘हमारा घरेलू सत्र बहुत जल्द शुरू होगा। इंग्लैंड चार टेस्ट मैचों, तीन वनडे और पांच टी20 के लिये भारत का दौरा कर रहा है। द्विपक्षीय श्रृंखला का आयोजन करना आसान होता है क्योंकि लोगों की संख्या कम होती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब यह आठ टीमों, नौ टीमों और 10 टीमों के बीच होता है तो यह और अधिक मुश्किल हो जाता है। हमें परिस्थितियों का आकलन करना होता है क्योंकि काफी लोग दूसरी ‘वेव’ के बारे में बात रहे हैं।’’ गांगुली ने कहा, ‘‘मैंने सुना कि मुंबई और दिल्ली में संख्या बढ़ी है, इसलिये हमें थोड़ा सतर्क रहना होगा और सुनिश्चित करना होगा कि सबकुछ क्रम में रहे, इसलिये हम इस पर नजर रखेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।