क्या दूसरे टेस्ट में श्रीलंका को मात दे पाएगी इंग्लैंड? टीम में किए जा सकते है बदलाव

joe root
श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड की निगाहें जीत पर होगी।चैम्पियनशिप का फाइनल जून में खेला जायेगा और इसकी दौड़ में बने रहने के लिये इंग्लैंड को श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में जीत की जरूरत होगी और साथ ही भारत के दौरे पर उसे वहां श्रृंखला भी जीतनी होगी।

गॉल। इंग्लैंड को श्रीलंका में एक और टेस्ट श्रृंखला जीतने के लिये केवल एक ड्रा की जरूरत है लेकिन जो रूट की अगुआई वाली टीम शुक्रवार को शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट में इसके बजाय नतीजा हासिल करने के बारे में सोच रही होगी। इंग्लैंड की टीम आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) टेस्ट चैम्पियनशिप तालिका में भारत, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बाद चौथे स्थान पर है। चैम्पियनशिप का फाइनल जून में खेला जायेगा और इसकी दौड़ में बने रहने के लिये इंग्लैंड को श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में जीत की जरूरत होगी और साथ ही भारत के दौरे पर उसे वहां श्रृंखला भी जीतनी होगी। इंग्लैंड ने 2007 के बाद से श्रीलंका में कोई श्रृंखला नहीं गंवायी है और स्पिन गेंदबाजी का बखूबी सामना कर सफलता हासिल की है।

इसे भी पढ़ें: धोनी से तुलना किए जाने पर पंत ने कहा, 'खुद का बनाना चाहता हूँ नाम'

पहले टेस्ट में रूट का दबदबा रहा जिन्होंने पहली पारी में दोहरा शतक जमाया और 228 रन की पारी खेली जिससे इंग्लैंड ने श्रीलंका को सात विकेट से हरा दिया। श्रीलंकाई टीम पहले दिन पहली पारी में 135 रन पर सिमट गयी थी। लेकिन दूसरी पारी में रूट एक रन पर रन आउट हो गये थे जिससे टीम ने छोटे से लक्ष्य का पीछा करते हुए 14 रन पर तीन विकेट खो दिये थे। अब कप्तान अपने 99वें टेस्ट में इस चीज को ठीक करने का लक्ष्य बनाये होंगे। इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज डॉमिनिक सिबले और जाक क्राउले भी दोनों पारियों में 10 रन से कम के स्कोर पर आउट हो गये। लेकिन रूट ने अपने सलामी बल्लेबाजों का समर्थन किया है। डेनियल लारेंस ने पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अपना टेस्ट पदार्पण किया और पहली पारी में 73 रन बनाने के बाद वह दूसरी पारी में संयमित दिखे और जॉनी बेयरस्टो के साथ 62 रन की भागीदारी करते हुए उन्होंने 21 रन जोड़े और टीम को जीत दिलायी। इंग्लैंड के पास कुछ विकल्प हैं और वह कुछ रोटेशन कर सकता है विशेषकर तेज गेंदबाजों के साथ क्योंकि उसे भारत के आगामी दौरे पर चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलनी है। जिमी एंडरसन शुरूआती टेस्ट में नहीं खेल पाये थे लेकिन वह दूसरे टेस्ट में वापसी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

स्टुअर्ट ब्राड ने पहला टेस्ट खेला था पर उन्हें आराम दिया जा सकता है। इंग्लैंड की टीम ओली स्टोन की जगह मार्क वुड को उतार सकती है जबकि क्रिस वोक्स और सैम कुरेन के बीच आलराउंडर स्थान के लिये प्रतिस्पर्धा हो सकती है। श्रीलंका के मैच के लिये बदलाव करने की उम्मीद है। मेजबान ने श्रृंखला 22 खिलाड़ियों के बायो-बबल से शुरू की थी लेकिन पांच खिलाड़ियों को घर भेज दिया गया था। तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल और शीर्ष क्रम के बल्लेबाज ओशाडा फर्नांडो की चोटों से उबरने के बाद वापसी की उम्मीद है। लकमल वानिंदु हसारंगा और फर्नांडो कुसाल मेंडिस की जगह टीम में आयेंगे। अगर श्रीलंका आल राउंडर दासुन शनाका को बाहर करने का फैसला करता है तो स्पिन गेंदबाजी आलराउंडर रमेश मेंडिंस पदार्पण कर सकते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़