धोनी से तुलना किए जाने पर पंत ने कहा, 'खुद का बनाना चाहता हूँ नाम'

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   11:47
  • Like
धोनी से तुलना किए जाने पर पंत ने कहा, 'खुद का बनाना चाहता हूँ नाम'

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत धोनी से तुलना करने पर शानदान महसूस कर रहे है। पंत ने कहा कि, उन्होंने कहा, ‘‘यह शानदार है लेकिन मैं नहीं चाहता कि मेरी किसी से तुलना की जाए। मैं भारतीय क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं क्योंकि किसी युवा खिलाड़ी की किसी दिग्गज से तुलना करना सही नहीं है। ’’

नयी दिल्ली। भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी से तुलना से खुश हैं लेकिन उन्होंने गुरुवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला में अहम भूमिका निभाने के बाद वह खेल में अपनी अलग पहचान बनाना चाहते हैं। पंत की अक्सर दो बार के विश्व विजेता कप्तान धोनी से तुलना की जाती रही है। धोनी ने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। ब्रिसबेन में चौथे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में नाबाद 89 रन की मैच विजेता पारी खेलने वाले पंत ने ऑस्ट्रेलिया से यहां पहुंचने के बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘जब आपकी तुलना धोनी जैसे खिलाड़ी से की जाती है तो बहुत अच्छा लगता है और आप मेरी तुलना उनसे करते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

उन्होंने कहा, ‘‘यह शानदार है लेकिन मैं नहीं चाहता कि मेरी किसी से तुलना की जाए। मैं भारतीय क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं क्योंकि किसी युवा खिलाड़ी की किसी दिग्गज से तुलना करना सही नहीं है। ’’ सिडनी में ड्रा टेस्ट मैच में 97 रन बनाने वाले पंत अभी इस जीत का आनंद लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने आस्ट्रेलिया में श्रृंखला में जिस तरह से खेल दिखाया उससे पूरी टीम बहुत खुश है। ’’ भारत ने एडीलेड में पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में अपने न्यूनतम स्कोर 36 रन पर आउट होने के बाद शानदार वापसी की और चार मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीतकर बोर्डर-गावस्कर ट्राफी अपने पास बरकरार रखी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीती T20 सीरीज, आखिरी मुकाबले में सात विकेट से दी मात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 7, 2021   11:14
  • Like
न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीती T20 सीरीज, आखिरी मुकाबले में सात विकेट से दी मात

आस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला 3-2 से जीती। लेग स्पिनर सोढ़ी ने 24 रन देकर तीन विकेट लिये और इस तरह से श्रृंखला में 10 विकेट हासिल किये।

वेलिंगटन। ईश सोढ़ी की शानदार गेंदबाजी और मार्टिन गुप्टिल की 71 रन की तेजतर्रार पारी की मदद से न्यूजीलैंड ने रविवार को यहां पांचवें और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला 3-2 से जीती। लेग स्पिनर सोढ़ी ने 24 रन देकर तीन विकेट लिये और इस तरह से श्रृंखला में 10 विकेट हासिल किये। उनकी शानदार गेंदबाजी से न्यूजीलैंड ने आस्ट्रेलिया को आठ विकेट पर 142 रन ही बनाने दिये। न्यूजीलैंड ने 27 गेंद शेष रहते हुए तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर दिया। गुप्टिल और डेवोन कॉनवे (28 गेंदों पर 36) ने पहले विकेट के लिये 11.5 ओवरों में 106 रन जोड़े। बाद में ग्लेन फिलिप्स ने 16 गेंदों पर नाबाद 34 रन की तेजतर्रार पारी खेली। गुप्टिल ने 46 गेंदें खेली तथा सात चौके और चार छक्के लगाये। सोढ़ी को आस्ट्रैलियाई पारी के दौरान बायें हाथ के स्पिनर मिशेल सैंटनर का अच्छा सहयोग मिला। उन्होंने नयी गेंद संभाली और चार ओवर में केवल 21 रन दिये।

इसे भी पढ़ें: आरोन फिंच ने खेली रिकॉर्ड पारी, ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 50 रन से हराया

न्यूजीलैंड ने कामचलाऊ स्पिनर मार्क चैपमैन का भी उपयोग किया जिन्होंने दो ओवर में नौ रन देकर एक विकेट लिया। एक अन्य कामचलाऊ स्पिनर ग्लेन फिलिप्स ने दो ओवर में 21 रन दिये। इस तरह से न्यूजीलैंड की तरफ से स्पिनरों ने 12 ओवर किये। कीवी टीम की तरफ से पहली बार टी20 अंतरराष्ट्रीय में स्पिनरों ने इतने अधिक ओवर किये। बाकी आठ ओवर टिम साउदी (38 रन देकर दो) और ट्रेंट बोल्ट (26 रन देकर दो) ने किये। आस्ट्रेलिया की तरफ से मैथ्यू वेड ने 44, कप्तान आरोन फिंच ने 36 और मार्कोस स्टोइनिस ने 26 रन बनाये।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




इंग्लैंड के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद बोले कोहली, हमारी बेंच स्ट्रेंग्थ काफी मजबूत, बदलाव के दौर में मिलेगी मदद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 6, 2021   19:28
  • Like
इंग्लैंड के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद बोले कोहली, हमारी बेंच स्ट्रेंग्थ काफी मजबूत, बदलाव के दौर में मिलेगी मदद

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि चेन्नई (दूसरे टेस्ट) में वापसी ने मुझे सबसे अधिक प्रसन्न किया। पहले टेस्ट में हम अच्छा नहीं खेले और इंग्लैंड ने हमें पछाड़ दिया। उस मैच में टॉस ने अहम भूमिका निभाई और गेंदबाज अपना दमखम नहीं दिखा सके।

अहमदाबाद। भारतीय क्रिकेट टीम की प्रतिभावान और मजबूत बेंच स्ट्रेंथ से कप्तान विराट कोहली इस बात को लेकर काफी आश्वस्त है कि अगले कुछ वर्षों में जब टीम बदलाव के दौर से गुजरेगी तो उसके लिए परिस्थितियां ज्यादा मुश्किल नहीं होगी। वाशिंगटन सुंदर, मोहम्मद सिराज और ऋषभ पंत जैसे कई युवा खिलाड़ियों के उदय से भारत ने देश और विदेश दोनों जगहों पर शानदार प्रदर्शन किया है। भारतीय टीम ने शनिवार को इंग्लैंड को चौथे और अंतिम टेस्ट में पारी और 25 रन से करारी शिकस्त देते हुए श्रृंखला 3-1 से अपने नाम की। श्रृंखला का यह नतीजा तब आया जब टीम पहले टेस्ट में बुरी तरह 227 रन से हार गयी थी। 

इसे भी पढ़ें: टीम इंडिया ने 3-1 से जीती सीरीज, इंग्लैंड को पारी और 25 रनों से दी मात 

कोहली ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ चेन्नई (दूसरे टेस्ट) में वापसी ने मुझे सबसे अधिक प्रसन्न किया। पहले टेस्ट में हम अच्छा नहीं खेले और इंग्लैंड ने हमें पछाड़ दिया। उस मैच में टॉस ने अहम भूमिका निभाई और गेंदबाज अपना दमखम नहीं दिखा सके। इसके बाद हम अधिक लगन के साथ मैदान पर उतरे और बेहतर गेंदबाजी की। ऐसे में यह वापसी बेहद शानदार रही।’’ कोहली ने कहा, ‘‘ हमारी बेंच स्ट्रेंथ बेहद मजबूत है और यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत है। जब टीम में बदलाव का दौर आयेगा तो इसके प्रदर्शन के स्तर मेंगिरावट नहीं होगी। इस मैच में ऋषभ और वाशी (सुंदर) की साझेदारी नेनिर्णायक मोड़ में पहुंचाया।’’ दूसरे और तीसरे टेस्ट में जीत हासिल करने के बाद, भारत ने चौथे टेस्ट मैच को भी तीन दिनों के भीतर जीता।

कोहली ने कहा, ‘‘हमें चेन्नई में पहले मैच के बाद अपनी भाव-भंगिमा (बॉडी लैंग्वेज) को सही किया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हर टीम बेहतरीन है और घरेलू मैदान पर भी उन्हें हराने के लिए हमें कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। लय और पैनापन को को जारी रखना सबसे महत्वपूर्ण है और यही हमारी टीम की पहचान है।’’ सलामी बल्लेबालरोहित शर्मा ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 161 रन बनाए और कप्तान ने कहा कि इस शतकीय पारी और अश्विन के 32 विकेट ने श्रृंखला के रूख को बदल दिया। उन्होंने कहा, ‘‘ चेन्नई (दूसरे टेस्ट) में रोहित की पारी ने श्रृंखला का रूख बदल दिया और अश्विन पिछले कुछ वर्षों से हमारे सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी रहे है। इस श्रृंखला में ये दोनों हमारे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे। अश्विन ने इस श्रृंखला में 32 विकेट लेने के साथ शतकीय पारी भी खेली। वह मैन ऑफ द सीरिज बनने के साथ टीम के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में पहुंचने को लेकर काफी उत्साहित दिखे। 

इसे भी पढ़ें: बेन स्टोक्स अपशब्द बोल रहा था, विराट भाई ने अच्छे से संभाला: मोहम्मद सिराज ने सुनाई दास्तां 

अश्विन ने कहा, ‘‘ यह तथ्य कि हम डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए क्वालीफाई कर चुके है, बहुत महत्वपूर्ण है। ऑस्ट्रेलिया में दमदार प्रदर्शन के बाद भी चेन्नईमें पहले टेस्ट की हार के बाद टीम में निराशा का माहौल था। श्रृंखला में जब भी हमारे लिए परिस्थिति चुनौतीपूर्ण होती थी तब कोई ना कोई खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन करता था। अश्विन ने ऋषभ पंत की भी सराहना करते हुए कहा कि इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज की खेल के दिग्गजों से तुलना करना अनुचित है। उन्होंने कहा, ‘‘ पिछले साल ऋषभ को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है, दिग्गज खिलाड़ियों से उसकी तुलना करना सही नहीं होगा। उसने इस श्रृंखला में जिस तरह से बल्लेबाजी की वह शानदार है।’’

उन्होंने वामहस्त स्पिनर अक्षर पटेल की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ अक्षर टीम मेंजड्डू (रविन्द्र जडेजा) की जगह पर आया था। वह सभी प्रशंसा का हकदार है और अपनी पहली श्रृंखला खेल रहे किसी खिलाड़ी के तौर पर पह काफी सटीक था।’’ इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने माना ने भारत ने उनकी टीम को हर विभाग में पछाड़ दिया। उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे लिये पहला मैच सकारात्मक रहा। हम पिछले तीन मैचोंमें भारत की बराबरी नहीं कर सके और हमें इस अनुभव और इस श्रृंखला से सीखने और बेहतर बनने की आवश्यकता है।’’

इसे भी पढ़ें: टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने लगवाया कोविड-19 का टीका, शेयर की तस्वीर 

उन्होने कहा, ‘‘ कई ऐसे महत्वपूर्ण मोड़ थे जिसे भारत भुनाने में सफल रहा और हम ऐसा नहीं कर सके। वाशिंगटन और ऋषभ ने ऐसे समय शानदार बल्लेबाजी की जब मैच पर हमारी पकड़ मजबूत हो गयी थी। हम बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे और भारत ने हमें पछाड़ दिया।’’ रूट ने इंग्लैंड की ‘रोटेशन नीति’ का भी बचाव किया और कहा कि खिलाड़ियों को आराम देना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, ‘‘ यह वास्तव में महत्वपूर्ण है कि हमें अपने खिलाड़ियों को विश्राम करने का मौका मिले।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




अप्रैल की इस तारीख से शुरू होगा IPL, फाइनल की भी तारीख हुई अनाउंस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 6, 2021   18:03
  • Like
अप्रैल की इस तारीख से शुरू होगा IPL, फाइनल की भी तारीख हुई अनाउंस

बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, ‘‘ हमने अनंतिम रूप से निर्णय लिया है कि आईपीएल नौ अप्रैल से शुरू होगा और 30 मई को समाप्त होगा।’’ सत्र ने बताया, ‘‘ अगले सप्ताह संचालन समिति की बैठक के दौरान तारीखों और स्थानों को औपचारिक मंजूरी मिल जाएगी।’’

नयी दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र का आगाज इंग्लैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की श्रृंखला के खत्म होने के 12 दिनों बाद नौ अप्रैल से होगा। यह जानकारी भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक सूत्र ने शनिवार को दी। इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला का तीसरा और आखिरी मैच पुणे में 28 मार्च को खेला जाएगा। इस लोकप्रिय टी20 लीग की अवधि भारत के अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए तय की गयी है। बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, ‘‘ हमने अनंतिम रूप से निर्णय लिया है कि आईपीएल नौ अप्रैल से शुरू होगा और 30 मई को समाप्त होगा।’’ सत्र ने बताया, ‘‘ अगले सप्ताह संचालन समिति की बैठक के दौरान तारीखों और स्थानों को औपचारिक मंजूरी मिल जाएगी।’’

इसे भी पढ़ें: विश्व कप की तैयारियों में जुटी भारतीय महिला टीम, 12 महीनें बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दिखाएंगी दम

कोविड-19 महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए बीसीसीआई ने मौजूदा परिस्थितियों में आईपीएल मैचों को पांच शहरों चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, दिल्ली और अहमदाबाद में आयोजित करने का निर्णय लिया है। मुंबई शहर को मैचों की मेजबानी के लिए मंजूरी लेनी होगी क्योंकि महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़े है। चेन्नई और कोलकाता को मैचों का आवंटन अगले कुछ सप्ताहों में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। आईपीएल के पिछले 2020 सत्र को यूएई में बायो बबल में आयोजित किया गया था जिसे मुंबई इंडियन्स ने जीता था। भारतीय टीम के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल्स के लिए क्वालीफाई करने के कारण इस साल भारत में जून में प्रस्तावित एशिया कप को रद्द कर दिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept