न्यूजीलैंड को भारत ने 73 रनों से हराया, रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने 3-0 से जीती अपनी पहली सीरीज

न्यूजीलैंड को भारत ने 73 रनों से हराया, रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने 3-0 से जीती अपनी पहली सीरीज

न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी टी २० सीरीज में भारत को लगातार तीसरी जीत हासिल हुई हैं। तीसरी जीत के साथ ही भारत ने रोहित शर्मा बीकी कप्तानी में अपनी पहली सीरीज जीत ली है।

 न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी टी २० सीरीज में भारत को लगातार तीसरी जीत हासिल हुई हैं। तीसरी जीत के साथ ही भारत ने रोहित शर्मा बीकी कप्तानी में अपनी पहली सीरीज जीत ली है। कोलकाता के ईडन गार्डन स्टेडियम में भारत 73 रनो से मैच जीता। अक्षर पटेल ने पवार प्ले में तीन विकेट चटके और न्यूजीलैंड की पूरी टीम को 111 रनो पर आउट कर दिया।

इसे भी पढ़ें: स्वयंभू बाबा के मठ से बरामद हुआ गांजा, जानिए क्या है पूरा मामला

कप्तान रोहित शर्मा से मिली धमाकेदार शुरुआत और निचले क्रम के बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान से भारत ने मिशेल सैंटनर के झटकों के बावजूद न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को यहां सात विकेट पर 184 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। रोहित ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया तथा 31 गेंदों पर पांच चौकों और तीन छक्कों की मदद से 56 रन बनाये और इशान किशन (21 गेंदों पर 29 रन) के साथ पावरप्ले में 69 रन जोड़े लेकिन सैंटनर (27 रन देकर तीन) ने इसके बाद न्यूजीलैंड को वापसी दिलायी।

ऐसे में श्रेयस अय्यर (20 गेंदों पर 25 रन) और वेंकटेश अय्यर (15 गेंदों पर 20 रन) की 36 रन की साझेदारी तथा हर्षल पटेल (11 गेंदों पर 18 रन) और दीपक चाहर (आठ गेंदों पर नाबाद 21 रन) ने टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाया। भारतीय पुछल्ले बल्लेबाजों ने अंतिम पांच ओवरों में 50 रन जुटाये। रोहित ने अपने पसंदीदा मैदान पर बल्लेबाजी के लिये अनुकूल पिच पर ट्रेंट बोल्ट (31 रन देकर एक) के पहले ओवर में ही दो चौके जड़कर अपने इरादे जतला दिये थे। मुंबई इंडियन्स के अपने इस साथी के अगले ओवर में उन्होंने गेंद छह रन के लिये भेजी और फिर लॉकी फर्गुसन (45 रन देकर एक) का स्वागत छक्के से किया और इसी गेंदबाज पर अपने टी20 अंतरराष्ट्रीय करियर का 150वां छक्का लगाया।

केएल राहुल की जगह अंतिम एकादश में लिये इशान ने इस बीच एडम मिल्ने (47 रन देकर एक) को निशाने पर रखा जिससे भारत पावरप्ले में मजबूत स्कोर तक पहुंचा, लेकिन इसके बाद स्पिनरों ने गेंद संभाली और भारतीय पारी का रुख पलट दिया। सैंटनर ने गेंद संभालते ही तीन विकेट लेकर न्यूजीलैंड को वापसी दिलायी। उन्होंने को इशान को विकेट के पीछे कैच कराने के बाद नये बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (शून्य) को ड्राइव करने के लिये ललचाकर कैच देने के लिये मजबूर किया। उनके अगले ओवर में ऋषभ पंत (चार) गेंद हवा में लहराकर पवेलियन लौटे जिससे स्कोर तीन विकेट पर 83 रन हो गया। इस बीच चार ओवर तक गेंद सीमा रेखा तक नहीं पहुंची।

रोहित ने सैंटनर के तीसरे ओवर में थर्डमैन पर चौका लगाकर टी20 अंतरराष्ट्रीय में 26वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने इस प्रारूप में 30वीं बार 50 रन से अधिक का स्कोर बनाया और इस प्रकार विराट कोहली (29) का रिकार्ड तोड़ा। लेग स्पिनर ईश सोढ़ी (31 रन देकर एक) ने हालांकि इसके तुरंत बाद अपनी ही गेंद पर उनका एक हाथ से शानदार कैच लिया। भारत को इस स्थिति से उबारने का जिम्मा दो अय्यर पर था। वेंकटेश ने सोढ़ी पर मिडविकेट क्षेत्र में लंबा छक्का लगाया, लेकिन बोल्ट ने उन्हें धीमी गेंद के जाल में फंसाकर लांग ऑन पर कैच करा दिया। श्रेयस ने मिल्ने के अगले ओवर में यही गलती की। अब दो पटेल क्रीज पर थे। हर्षल पटेल (11 गेंदों पर 18) ने फर्गुसन पर छक्का लगाया लेकिन इसी ओवर में हिटविकेट हो गये। दीपक चाहर दोहरे अंक में पहुंचने वाले अन्य बल्लेबाज थे। उन्होंने मिल्ने के आखिर ओवर में मिल्ने पर दो चौके लगाने के अलावा 95 मीटर लंबा छक्का भी लगाया। अक्षर पटेल दो रन बनाकर नाबाद रहे।