रवि शास्त्री पाकिस्तान से प्रभावित, भारतीय टीम ने हमारी सभी अच्छी रणनीति अपनाई: रमिज़ राजा

रवि शास्त्री पाकिस्तान से प्रभावित, भारतीय टीम ने हमारी सभी अच्छी रणनीति अपनाई: रमिज़ राजा

रमीज राजा ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान क्रिकेट की हर अच्छी नीतियों को अपनाया है। यही कारण है कि आज वह एक अच्छी टीम के रूप में उभर रही है।

अक्टूबर में शुरू होने वाले टी20 विश्वकप को दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसक उत्सुकता से इंतजार कर रहे हैं। इस विश्व कप में भारत और पाकिस्तान की टीमें भी आपस में मिलेंगी। भारत और पाकिस्तान की यह भिड़ंत काफी सालों के बाद होगी। विश्व कप के मैचों में पाकिस्तान के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी रहा है। खेल के सभी प्रारूपों में भारत ने फिलहाल पाकिस्तान पर एक तरफा बढ़त हासिल की हुई है। इन सबके बीच हाल में है पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए अध्यक्ष बने रमीज राजा ने बड़ा बयान दिया है। रमीज राजा ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान क्रिकेट की हर अच्छी नीतियों को अपनाया है। यही कारण है कि आज वह एक अच्छी टीम के रूप में उभर रही है।

इसे भी पढ़ें: OIC ने कहा- जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने का फैसला वापस ले भारत

एक निजी चैनल से बातचीत में रमीज राजा ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री को लेकर भी बयान दिया। रमीज राजा ने कहा कि रवि शास्त्री हमेशा से पाकिस्तान क्रिकेट के प्रशंसक रहे हैं और यही कारण है कि भारतीय क्रिकेट ने पाकिस्तान के अच्छे रणनीतियों को अपनाया। अपने बयान में रमीज राजा ने कहा कि हाल में ही भारत ने पाकिस्तान टीम के सभी अच्छी नीतियों को अपनाया है और ऐसा होना ही था क्योंकि भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री हमेशा पाकिस्तान से प्रभावित है। उन्होंने कहा कि हम बहुत परिश्रमी और समर्पित खिलाड़ी थे। हम ऐसे खिलाड़ियों को लेते थे जो टीम के लिए 100% देना चाहता था और वो खिलाड़ी हार मानने वाला नहीं होता था।

इसे भी पढ़ें: कश्मीर मुद्दा गर्माने अमेरिका पहुँचे पाकिस्तानी नेता शहरयार अफरीदी को पूरा नंगा करके की गयी पूछताछ

पीसीबी अध्यक्ष ने भारतीय क्रिकेटरों की भी तारीफ की और कहा कि वे अपने तरीकों पर लगातार काम करते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को भारत के बराबर होने के लिए अगले तीन-चार वर्षों में बहुत सी चीजों पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि हमने इसीलिए अपना मॉडल बदला है। कौशल पर बहुत काम कर रहे हैं। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में काफी सुधार हुआ है। उसके लिए हमने अलग-अलग बिंदुओं को जोड़ा है। हमें अगले तीन-चार सालों में बहुत सी चीजों पर काम करना होगा।