विराट कोहली ने भारत की वर्तमान टीम में कभी हार नहीं मानने का भर दिया है जज्बा: हुसैन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 26, 2021   16:28
विराट कोहली ने भारत की वर्तमान टीम में कभी हार नहीं मानने का भर दिया है जज्बा: हुसैन

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा, ‘‘भारत अब सख्त टीम बन गयी है और मुझे लगता है कि यह चीज कोहली ने उसमें भरी। कोई गलती न करें, वे स्वदेश में बेहद मजबूत टीम है। ’’

लंदन। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का मानना है कि विराट कोहली ने भारत की वर्तमान टीम में कभी हार नहीं मानने का जज्बा भर दिया है तथा वह मैदान के अंदर या बाहर विपरीत परिस्थितियों से परेशान नहीं होती है। कप्तान कोहली और कुछ प्रमुख खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद भारत की अनुभवहीन टीम ने अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में अपनी दृढ़ता और संकल्प का शानदार नमूना पेश करके आस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछड़ने के बाद वापसी करके चार मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीती। हुसैन ने इंग्लैंड को पांच फरवरी से चेन्नई में शुरू होने वाली चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में कड़ी चुनौती के लिये तैयार रहने को कहा है। 

इसे भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर का टेस्ट रिकार्ड तोड़ने की क्षमता रखते हैं जो रूट: ज्योफ्री बॉयकॉट 

उन्होंने ‘स्काई स्पोर्ट्स’ से कहा, ‘‘कोई भी टीम जो आस्ट्रेलिया में 36 रन पर आउट होने के कारण 0-1 से पिछड़ गयी हो, जिसने पितृत्व अवकाश के कारण कोहली को गंवा दिया हो, जिसका गेंदबाजी आक्रमण पंगु बन गया हो और वह तब भी वह मैदान के अंदर और बाहर खास जज्बा दिखाकर वापसी करती है तो आप उसे दबाव में नहीं ला सकते हो।’’ हुसैन ने कहा, ‘‘भारत अब सख्त टीम बन गयी है और मुझे लगता है कि यह चीज कोहली ने उसमें भरी। कोई गलती न करें, वे स्वदेश में बेहद मजबूत टीम है। ’’  श्रीलंका पर 2-0 की जीत से इंग्लैंड की टीम उत्साह से भरी है लेकिन हुसैन ने कहा कि मेहमान टीम को पहले टेस्ट के लिये अपनी सर्वश्रेष्ठ एकादश का चयन करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: SLvENG: जो रूट ने जड़ा कॅरियर का 19वां टेस्ट शतक 

हुसैन ने इससे पहले जॉनी बेयरस्टॉ को शुरुआती दो टेस्ट मैचों के लिये नहीं चुनने पर कड़ी आपत्ति दर्ज की थी। हुसैन ने कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा संकेत है कि उन्होंने आगे की मुश्किल चुनौती से पहले यह श्रृंखला जीती। एशेज, भारत के खिलाफ स्वदेश और विदेश, न्यूजीलैंड में श्रृंखलाएं आसान नहीं होती लेकिन वह आत्मविश्वास और जीत की लय के साथ भारत के खिलाफ श्रृंखला खेलने जा रहा है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं भारत में पैदा हुआ और मैंने हमेशा भारत बनाम इंग्लैंड को सर्वश्रेष्ठ श्रृंखलाओं में से एक माना। मैं बस इतना ही कहूंगा कि अपने सर्वश्रेष्ठ 13 से 15 खिलाड़ियों के साथ चेन्नई में उतरें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।