कोरोना से उबरने के बाद भी कमजोरी महसूस कर रहे हैं KKR खिलाड़ी वरुण चक्रवर्ती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 22, 2021   14:24
कोरोना से उबरने के बाद भी कमजोरी महसूस कर रहे हैं KKR खिलाड़ी वरुण चक्रवर्ती

केकेआर के स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने कहा कि अब भी कमजोरी महसूस कर रहा हूं।चक्रवर्ती इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में पहले खिलाड़ी थे जिन्हें कोविड—19 के लिये पॉजिटिव पाया गया था।

चेन्नई। कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के स्पिनर वरुण चक्रवर्ती कोविड—19 से उबरने के बाद अब भी कड़े अभ्यास के लिये फिट नहीं हैं क्योंकि वह काफी कमजोरी महसूस कर रहे हैं। चक्रवर्ती इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में पहले खिलाड़ी थे जिन्हें कोविड—19 के लिये पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद विभिन्न फ्रेंचाइजी टीमों में भी कुछ मामले सामने आ गये थे जिसके बाद इस लीग को स्थगित कर दिया गया था। चक्रवर्ती 11 मई को इस बीमारी से उबर गये थे और अभी वह चेन्नई स्थि​त अपने आवास पर फिटनेस हासिल कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: मैच रेफरी से भिड़े पुर्तगाल के स्टार फुटबॉलर नानी, दो मैच के लिये हुए निलंबित

इस 29 वर्षीय खि​लाड़ी ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, मैं अब अच्छा हूं और घर पर ही ठीक हो रहा हूं। कोविड—19 के बाद की परेशानियों के कारण मैं अभी अभ्यास नहीं कर पा रहा हूं। मुझे हालांकि खांसी या बुखार नहीं है लेकिन कमजोरी है। उन्होंने कहा, गंध और स्वाद का अनुभव कभी कभार होता है लेकिन मुझे जल्द ही अभ्यास शुरू करने की उम्मीद है। चक्रवर्ती को इस खतरनाक वायरस के प्रभावों के बारे में पता है और इसलिए उनकी सभी खिलाड़ियों को सलाह है कि वे अभ्यास शुरू करने से पहले वे कम से कम दो सप्ताह का विश्राम जरूर करें। उन्होंने कहा, मैंने जो कुछ सीखा है उसे मैं कोविड—19 से उबर रहे अन्य खिलाड़ियों और लोगों को बताना चाहूंगा कि वे परीक्षण नेगेटिव आने के बाद कम से कम दो सप्ताह तक पूर्ण विश्राम करें। चक्रवर्ती ने कहा, इसके साथ ही परीक्षण नेगेटिव आने के बाद भी मेरी सलाह है कि मास्क जरूर पहनकर रखें ताकि आपके आसपास के लोग सुरक्षित रहें। भारत कोविड—19 की दूसरी लहर के कारण अप्रत्याशित स्वास्थ्य संकट से जूझ रहा है और इस वायरस के लिये पॉजिटिव पाये गये किसी भी व्यक्ति के लिये यह मानसिक द्वंद्व भी है।

इसे भी पढ़ें: स्पेनिश लीग फुटबॉल टूर्नामेंट का आखिरी मैच नहीं खेल पाएंगे एडेन हेजार्ड, मेस्सी भी बाहर

चक्रवर्ती ने कहा, कोविड—19 से संक्रमित होने के बाद सबसे कड़ी चुनौती अपने दिमाग को विचलित होने से बचाना और जो कुछ हो रहा है उससे ध्यान हटाना था, क्योंकि आप अपने परिवार और टीम के साथियों से दूर अलग थलग रहते हो। मैंने स्वयं को व्यस्त रखने और शांतचितता के लिये ओशो की पुस्तकें पढ़ी। चक्रवर्ती को एक मई को लक्षणों का अहसास हुआ था जबकि वह अभ्यास सत्र के दौरान बहुत जल्दी थकान महसूस कर रहे थे। उन्होंने कहा, यह सब कैसे शुरू हुआ। मैं एक मई को असहज महसूस कर रहा था। मैं बहुत थका हुआ महसूस कर रहा था।खांसी नहीं थी लेकिन हल्का बुखार था और इसलिए मैंने अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लिया। चक्रवर्ती ने कहा, मैंने तुरंत ही टीम प्रबंधन को सूचित किया और उन्हें तुरंत ही आरटी पीसीआर परीक्षण की व्यवस्था की। मैं केकेआर के अपने साथियों से तुरंत ही अलग थलग कर दिया गया। इसके बाद मुझे पता चला कि मेरा परीक्षण पॉजिटिव आया है। उन्होंने कहा, इसके बाद मैं स्वयं को लेकर ही नहीं बल्कि देश में जो कुछ हो रहा था उसको लेकर भी चिंतित हो गया। यहां तक कि मेरे परिवार के कुछ सदस्य भी कोविड—19 से प्रभावि​त थे। यह आसान नहीं था लेकिन पेशेवर होने के नाते हमें अपने काम के लिये सर्वश्रेष्ठ तरीके ढूंढने पड़ते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।